दुनिया

पाकिस्तानी समुद्री सुरक्षाकर्मियों की गोलीबारी में महाराष्ट्र के मछुआरे की मौत

गुजरात के अपतटीय क्षेत्र में अरब सागर में पाकिस्तानी समुद्री सुरक्षा एजेंसी के जवानों ने मछली पकड़ने वाली एक नौका पर गोली चला दी, जिसमें चालक दल के एक सदस्य की मौत हो गई और अन्य एक घायल हो गया. बताया गया है कि पाकिस्तान के साथ इस मुद्दे को राजनयिक स्तर पर उठाया जाएगा.

(प्रतीकात्मक फोटो, साभार: फ्लिकर/Mohit S/Flickr CC BY 2.0)

द्वारका (गुजरात): गुजरात के अपतटीय क्षेत्र में अरब सागर में पाकिस्तानी समुद्री सुरक्षा एजेंसी (पीएमएसए) के जवानों ने मछली पकड़ने वाली एक नौका पर गोली चला दी, जिसमें चालक दल के एक सदस्य की मौत हो गई और अन्य एक घायल हो गया.

पुलिस के एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि घटना अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा के पास शनिवार शाम करीब चार बजे हुई.

दिल्ली में आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भारत ने भारतीय नौका पर पीएमएसए द्वारा बिना उकसावे के गोली चलाने का गंभीरता से संज्ञान लिया है और पाकिस्तान के साथ इस मुद्दे को राजनयिक स्तर पर उठाया जाएगा.

देवभूमि द्वारका के पुलिस अधीक्षक सुनील जोशी ने कहा, ‘पीएमएसए जवानों ने शनिवार शाम को चालक दल के सदस्यों पर गोली चलाई, जिसमें महाराष्ट्र के ठाणे का रहने वाला एक मछुआरा मारा गया जो मछली पकड़ने वाली नौका ‘जलपरी’ पर सवार था.’

उन्होंने कहा कि नौका पर चालक दल के सात सदस्य सवार थे और इनमें से एक को गोलीबारी की घटना में मामूली चोट आई है. मृतक मछुआरे श्रीधर रमेश चामरे (32) का शव रविवार को ओखा बंदरगाह पर लाया गया तथा पोरबंदर नवी बंदर पुलिस प्राथमिकी दर्ज कर रही है.

जोशी ने कहा, ‘चामरे मछली पकड़ने वाली नौका ‘जलपरी’ पर सवार था, जो चालक दल के सात सदस्यों के साथ 25 अक्टूबर को ओखा से निकली थी. इनमें से पांच सदस्य गुजरात से और दो महाराष्ट्र से थे.’ उन्होंने कहा कि घटना की जांच चल रही है.

भारतीय तट रक्षक (आईसीजी) ने एक बयान में कहा, ‘इस समय पुलिस अधिकारी घटना की जांच कर रहे हैं और चालक दल के सदस्यों से संयुक्त पूछताछ की जा रही है. जांच में तथ्य सामने आने के बाद ही जानकारी साझा की जा सकती है.’

हालांकि, आईसीजी ने इस बात की पुष्टि की कि गोलीबारी हुई है, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और एक अन्य घायल हो गया.

नौका पर सवार छह लोगों को गिरफ्तार करने के पाकिस्तान के दावे के बारे में पूछने पर तटरक्षक ने कहा, ‘गिरफ्तारियों की पुष्टि नहीं हुई है.’

जोशी के अनुसार, नौका गुजरात के गिर सोमनाथ जिले में वेरावल में पंजीकृत थी.

इस बीच, चामरे की मृत्यु की खबर मिलने के बाद महाराष्ट्र के पालघर जिले में उनके पैतृक गांव वडराई में शोक की लहर फैल गई.

नौका के मालिक जयंतीभाई राठौड़ के अनुसार जिस समय चामरे को गोली लगी, उस समय वह नौका के कैबिन में थे.

जब कुछ मीडियाकर्मियों ने राठौड़ से संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि पाकिस्तान के कर्मियों की अंधाधुंध गोलीबारी में नौका का कैप्टन भी घायल हो गया. उन्होंने बताया कि चामरे का शव कुछ दिन में उनके गांव पहुंच सकता है.

भारतीय मछुआरे की मौत के सिलसिले में ‘पाकिस्तान नौवहन सुरक्षा एजेंसी’ (पीएमएसए) के 10 कर्मियों के खिलाफ हत्या और हत्या के प्रयास के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की है.