भारत

नोएडा प्राधिकरण के कार्यालय के सामने धरना दे रहे 600 किसानों के ख़िलाफ़ प्राथमिकी दर्ज

81 गांव के किसान अधिग्रहित जमीन की बढ़ी हुई दर से मुआवज़ा देने सहित विभिन्न मांगों को लेकर पिछले 93 दिनों से नोएडा प्राधिकरण कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्होंने विरोध में कार्यालय के सभी द्वारों पर मवेशी बांध दिए हैं.

नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ किसानों का धरना 90 दिनों से अधिक समय से चल रहा है. (फाइल फोटो: पीटीआई)

नोएडा: अपनी विभिन्न मांगों को लेकर नोएडा विकास प्राधिकरण कार्यालय के सामने प्रदर्शन कर रहे 600 किसानों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई की गई है, जिनमें से 41 को नामजद किया गया है. पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी.

नोएडा सेक्टर- 20 थाना के प्रभारी निरीक्षक मुनीष प्रताप सिंह चौहान ने बताया कि नोएडा प्राधिकरण के सहायक प्रबंधक रामचंदर ने शिकायत दर्ज कराई है कि 30 नवंबर को किसान नेता सुखबीर खलीफा, उदल सिंह, महेश, सुधीर चौहान, अंकित, ओमवीर, बिजेंदर, अतुल, सुरेंद्र, राजेंद्र, विपुल,सतपाल, अरविंद, गौरव यादव, राहुल, सागर, प्रेमचंद्र, सोनू, तेजपाल, पूनम, बबली शर्मा, सविता, अलका, विनोद यादव, सुनील चौहान, अतुल, अमित भाटी सहित 41 नामजद तथा 600 अज्ञात लोगों ने नोएडा प्राधिकरण के कार्यालय का घेराव कर धरना प्रदर्शन किया तथा रास्ता अवरुद्ध किया.

उन्होंने बताया कि मामले में प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है.

गौरतलब है कि 81 गांव के किसान अधिग्रहित जमीन की बढ़ी हुई दर से मुआवजा देने सहित विभिन्न मांगों को लेकर गत 93 दिनों से सेक्टर-6 स्थित नोएडा विकास प्राधिकरण कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन कर रहे हैं.

उन्होंने विरोध में कार्यालय के सभी द्वारों पर मवेशी बांध दिए हैं. किसानों ने अतिरिक्त भूमि मुआवजे, भूमि विवाद के निपटारे सहित अन्य लाभों की मांग की है.

अमर उजाला के मुताबिक, बीते 29 नवंबर को किसानों ने नोएडा प्राधिकरण के गेट पर कब्जा कर मवेशी बांध दिए थे. किसानों ने किसी भी अधिकारी और कर्मचारी को कार्यालय में प्रवेश नहीं करने दिया.

प्राधिकरण अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि ‘थारे अंगणे में अब तै सिर्फ म्हारा ही काम है.’ जब तक किसानों की समस्याओं को दूर नहीं किया जाएगा. तब तक प्रतिदिन किसान इसी प्रकार अपना विरोध दर्ज कराएंगे.

बीते नवंबर महीने में उत्तर प्रदेश में भाजपा के नेता और गौतम बुद्ध नगर से सांसद डॉ. महेश शर्मा के आवास का घेराव करने तथा मुख्य मार्ग पर यातायात बाधित करने के आरोप में नोएडा के सेक्टर-20 थाने में करीब 600 किसानों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था.

इससे पूर्व बीते सितंबर महीने में भी नोएडा सेक्टर-20 तथा नोएडा सेक्टर- 39 में किसान परिषद के अध्यक्ष सुखबीर खलीफा तथा अन्य किसान नेताओं के खिलाफ विभिन्न धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की गई थी.