भारत

उत्तर प्रदेश: भाजपा नेता ने दलित ग्राम रोज़गार सेवक से मारपीट की, मुक़दमा दर्ज

बलरामपुर ज़िले का मामला. पुलिस ने बताया कि सोशल मीडिया पर वायरल हुए दो वीडियो में से एक में दलित बिरादरी के ग्राम रोज़गार सेवक पवन कुमार को ग्राम प्रधान के प्रतिनिधि अजय कुमार उपाध्याय जातिसूचक अपशब्द कहते हुए मारने के लिए दौड़ते दिख रहे हैं. दूसरे वीडियो में पवन के चेहरे और आंख पर गंभीर चोट के निशान हैं और वे आपबीती सुनाते हुए इंसाफ़ मांग रहे हैं.

(फोटो साभार: यूट्यूब)

बलरामपुर: उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में भाजपा के एक नेता द्वारा एक दलित ग्राम रोजगार सेवक के मारपीट और गाली गलौज किए जाने का वीडियो वायरल होने के बाद मुकदमा दर्ज किया गया है.

ग्राम रोजगार सेवकों के संगठन ने इस मामले में आरोपी भाजपा नेता की जल्द गिरफ्तारी नहीं होने पर आंदोलन का ऐलान किया है.

पुलिस क्षेत्राधिकारी उदय राज ने रविवार को बताया कि सोशल मीडिया पर दो वीडियो वायरल हुए हैं. उनमें से एक में दलित बिरादरी के ग्राम रोजगार सेवक पवन कुमार को ग्राम प्रधान के प्रतिनिधि अजय कुमार उपाध्याय जातिसूचक अपशब्द कहते हुए मारने के लिए दौड़ते दिख रहे हैं.

दूसरे वीडियो में रोजगार सेवक के चेहरे और आंख पर गंभीर चोट के निशान हैं और वह आपबीती सुनाते हुए इंसाफ की मांग कर रहे हैं.

उपाध्याय भाजपा की मंडल इकाई का महामंत्री भी है. भाजपा जिला मीडिया प्रभारी देवेंद्र प्रताप सिंह ने इसकी पुष्टि की है.

पुलिस क्षेत्राधिकारी ने बताया कि यह घटना सादुल्लाह नगर थाना क्षेत्र के गोकुला बुजुर्ग गांव की बताई जा रही है और दोनों वीडियो 24 दिसंबर के हैं.

उनके मुताबिक इन वीडियो का संज्ञान लेते हुए भाजपा नेता उपाध्याय और उसके भाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है तथा मामले की जांच की जा रही है.

भाजपा जिला मीडिया प्रभारी देवेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि इस मामले को संज्ञान में लेकर गहराई से जांच कराई जाएगी तथा आरोप सही पाए गए तो मंडल महामंत्री के खिलाफ कठोर कार्यवाही होगी.

इस बीच, ग्राम रोजगार सेवक वेलफेयर एसोसिएशन ने इस घटना का कड़ा विरोध किया है. एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप द्विवेदी ने रविवार को बताया कि अगर मामले के आरोपियों को जल्द गिरफ्तार नहीं किया गया तो ग्राम रोजगार सेवक आंदोलन के लिए सड़कों पर उतरेंगे.