कोविड-19

बढ़ते कोविड-19 संक्रमण के बीच कांग्रेस ने पांच चुनावी राज्यों में बड़ी सभाएं और कार्यक्रम रद्द किए

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के मद्देनज़र कांग्रेस ने पांच चुनावी राज्यों में अगले 15 दिनों के लिए बड़ी जनसभा और कार्यक्रमों का आयोजन न करने की घोषणा की है.

बुधवार को यूपी के बदायूं में कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की एक सभा. (फोटो: यूपी कांग्रेस/फेसबुक पेज)

नई दिल्ली: कांग्रेस ने देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के मद्देनजर उत्तर प्रदेश समेत पांच चुनावी राज्यों में अगले 15 दिनों के लिए बड़ी जनसभाओं और कार्यक्रमों का आयोजन नहीं करने का फैसला किया है. पार्टी सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी है.

सूत्रों ने बताया कि सबसे पहले उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नेताओं से बातचीत करके निर्णय लिया गया कि राज्य में बड़ी चुनावी सभाओं, कार्यक्रमों और मैराथन का आयोजन नहीं किया जाएगा.

सूत्रों का यह भी कहना है कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने चुनावी राज्यों की अपनी इकाइयों से कहा है कि वे अपने यहां स्थिति की समीक्षा करें और फिर सभाओं तथा कार्यक्रमों के बारे में निर्णय लें.

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने हैं.

कांग्रेस के इस फैसले के बारे में पूछे जाने पर पार्टी प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने कहा कि भाजपा को भी कांग्रेस के सीख लेकर लोगों के हित में फैसला करना चाहिए.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘हमारे लिए लोगों का स्वास्थ्य और जान पहले है. चुनावी हार और जीत बाद में आती है. हम नहीं चाहते कि एक बार फिर से देश में कोरोना की दूसरी लहर जैसी स्थिति पैदा हो. हमारे लिए देश और देशवासी पहले हैं. हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा से कहेंगे कि वे भी कांग्रेस से सीखें और लोगों के हित में फैसला करें.’

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने चुनावी राज्यों की अपनी इकाइयों से कहा है कि वे अपने यहां स्थिति की समीक्षा करें और सभाओं तथा कार्यक्रमों को रोकने के बारे में निर्णय लें.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के आजमगढ़, वाराणसी, गाजियाबाद और अलीगढ़ में होने वाली लड़कियों की मैराथन दौड़ रद्द कर दी गई है.

कांग्रेस प्रवक्ता लल्लन कुमार ने कहा कि महासचिव प्रियंका गांधी के निर्देश पर पार्टी ने कोविड-19 की स्थिति में सुधार होने तक अपनी बड़ी चुनावी रैलियों को रद्द कर दिया है.

इस बीच, नोएडा में गुरुवार को होने वाली मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की रैली को भी रद्द कर दिया गया है, और इसके लिए कोई विशेष कारण नहीं बताया गया है. हालांकि, उनके करीबी सूत्रों ने कहा कि खराब मौसम इसका कारण हो सकता है.

कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने बताया कि पार्टी ने विधानसभा चुनाव से पहले जनता तक पहुंचने के लिए नुक्कड़ नाटक और घर-घर प्रचार के जरिए छोटी सभाओं में जाने का फैसला किया है.

विशेष रूप से उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख अजय कुमार लल्लू और उसके विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा ने हाल ही में मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्र को लिखा था, जिसमें कहा गया था कि राजनीतिक दलों को चौपा, नुक्कड़ नाटक और आभासी बैठकों जैसी छोटी बैठकें आयोजित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए.

उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया था कि सभी राजनीतिक दलों को मास्क वितरित करना चाहिए और अपने चुनावी कार्यक्रमों में भाग लेने वाले लोगों के बीच कोविड के उचित व्यवहार को सुनिश्चित करना चाहिए.

मतदाताओं को लुभाने के लिए कांग्रेस ने घोषणा की है कि वह आगामी उत्तर प्रदेश चुनावों में महिला उम्मीदवारों को 40 प्रतिशत टिकट देगी.

पार्टी ने महिलाओं के लिए घोषणापत्र ‘शक्ति विधान’ भी बनाया है और इसमें महिला सशक्तिकरण के लिए विभिन्न योजनाएं शामिल हैं.

कोरोना वायरस के मामलों में लगातार वृद्धि के मद्देनजर उत्तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार को रात के कर्फ्यू को दो घंटे के लिए बढ़ा दिया है और 14 जनवरी को मकर संक्रांति तक कक्षा 10 तक के सभी स्कूलों को बंद कर दिया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)