भारत

इंदौर में हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब के वाणिज्यिक प्रतिष्ठान नहीं चलने देंगे: भाजपा विधायक

भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय ने पुलिस-प्रशासन को हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब के इंदौर स्थित वाणिज्यिक प्रतिष्ठान 48 घंटे के भीतर बंद कराने का अल्टीमेटम देते हुए कहा कि उन्होंने शहर में हबीब के प्रतिष्ठान नहीं चलने देने का संकल्प लिया है. वहीं, जयपुर की पूर्व महापौर एवं कांग्रेस नेता ज्योति खंडेलवाल ने महिला के बालों में थूकने के मामले में हबीब के ख़िलाफ़ शिकायत दर्ज कराई है.

जावेद हबीब सैलून. (फोटो: फेसबुक/ @jawedhabib1234 · Beauty Salon)

इंदौर/जयपुर/नई दिल्ली: पुलिस-प्रशासन को हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब के इंदौर स्थित वाणिज्यिक प्रतिष्ठान 48 घंटे के भीतर बंद कराने का अल्टीमेटम देते हुए स्थानीय भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय ने बीते शुक्रवार को कहा कि उन्होंने शहर में हबीब के प्रतिष्ठान नहीं चलने देने का संकल्प लिया है.

विजयवर्गीय ने हबीब के उस वीडियो के विरोध में यह बात कही, जिसमें वह उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में आयोजित एक कार्यशाला के दौरान एक महिला के बाल संवारते वक्त उसके बालों पर कथित रूप से थूकते नजर आ रहे हैं.

इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद विवाद मच गया और इसे लेकर जावेद हबीब के खिलाफ केस भी दर्ज कर लिया गया है.

विधायक ने ट्विटर पर वीडियो जारी कर कहा, ‘यह वीडियो पुलिस और प्रशासन के सभी जिम्मेदार अधिकारियों के लिए है. वे इंदौर में 48 घंटे के भीतर हबीब के सलून और प्रशिक्षण केंद्र बंद कराएं, वरना हम इनके संचालन के खिलाफ आंदोलन करेंगे.’

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक ने कहा कि वह हबीब द्वारा एक महिला के बाल संवारे जाने के दौरान उसके बालों पर थूकने के कृत्य का ‘दिल की गहराइयों से’ विरोध करते हैं. विजयवर्गीय ने कहा, ‘हमने संकल्प लिया है कि हम इंदौर में हबीब के वाणिज्यिक प्रतिष्ठान नहीं चलने देंगे.’

आकाश विजयवर्गीय, भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे हैं और नवंबर 2018 का पिछला विधानसभा चुनाव जीतकर पहली बार विधायक बने थे.

इस बीच, इंदौर के एक अन्य भाजपा नेता सुमित मिश्रा ने हबीब के थूकने वाले वीडियो पर तीखी आपत्ति जताते हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखा है.

मिश्रा ने कहा, ‘बड़ी हैरानी की बात है कि हबीब खुद को भाजपा का सदस्य बताता है. मैंने पत्र में नड्डा से मांग की है कि इस व्यक्ति को पार्टी से तत्काल बाहर निकाला जाए.’

वहीं, भाजपा विधायक के वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने जावेद हबीब के भाजपा में शामिल होने की 2019 की तस्वीर ट्वीट की करते हुए कहा कि सैलून तो बंद करना होगा, क्योंकि विधायक जी का गुस्सा खराब है.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘22 अप्रैल, 2019 को भाजपा में शामिल होने वाले मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब के इंदौर के सभी सेंटर को बंद कराने की धमकी भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के भाजपाई विधायक पुत्र आकाश विजयवर्गीय ने दी. सेंटर तो बंद करने पड़ेंगे ही क्योंकि विधायक जी का गुस्सा खराब है.’

जयपुर की पूर्व महापौर ने जावेद हबीब के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई

इधर उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में केस दर्ज होने के बाद राजस्थान के जयपुर शहर की पूर्व महापौर एवं कांग्रेस नेता ज्योति खंडेलवाल ने महिला के बालों में थूकने के मामले में शुक्रवार को हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

खंडेलवाल ने कहा, ‘यह उस व्यक्ति की विकृत मानसिकता को दर्शाता है, जिसने अपने कृत्य के माध्यम से महिलाओं का अपमान किया. वह सेलिब्रिटी हैं और इस कृत्य के लिए उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. हमने प्राथमिकी दर्ज करने के लिए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है.’

मालूम हो उक्त वीडियो में हबीब एक महिला प्रतिभागी के बाल संवारते समय थूकते और यह कहते दिखाई देते हैं, ‘अगर पानी की कमी हो तो थूक का इस्तेमाल करें.’

शहर कोतवाली के थानाधिकारी ओमप्रकाश ने कहा, ‘हमें शिकायत मिली है कि हेयर स्टाइलिस्ट ने महिला के बालों में थूका. हालांकि घटना उत्तर प्रदेश की है, लेकिन हमने जांच शुरू कर दी है.’

मालूम हो इस मामले में उत्तर प्रदेश पुलिस ने बड़ौत शहर की निवासी पूजा गुप्ता की शिकायत पर मुजफ्फरनगर के मंसूरपुर पुलिस थाने में एक प्राथमिकी दर्ज की गई है.

शिकायत के अनुसार, कार्यशाला के दौरान हबीब ने पूजा गुप्ता के बालों पर थूका था. हबीब पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 355 और महामारी रोग कानून, 1897 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

महिला आयोग ने जावेद हबीब को तलब किया

राष्ट्रीय महिला आयोग ने उस कथित वीडियो को लेकर हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब को आगामी 11 जनवरी को तलब किया है, जिसमें वह एक महिला के बाल पर थूकते हुए दिख रहे हैं.

महिला आयोग ने हबीब को भेजे सम्मन में कहा कि उसने घटना का गंभीरता से संज्ञान लिया है. आयोग ने कहा कि हबीब 11 जनवरी को दोपहर 12.30 बजे उसके समक्ष उपस्थित हों और स्पष्टीकरण दें.

महिला आयोग के मुताबिक, यह घटना केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी कोविड संबंधी दिशानिर्देशों का भी उल्लंघन है और ऐसे में लोगों के बीच थूकना दंडनीय अपराध भी है.

हालांकि, विवाद खड़ा होने के बाद हबीब ने माफी मांग ली.

उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा था, ‘कुछ शब्दों की वजह से लोग आहत हुए है. मैं कहना चाहता हूं कि ये पेशेवर कार्याशालाएं होती हैं और लंबे शो होते हैं, ऐसे में हमें लोगों के साथ थोड़ा हंसी-मजाक करना होता है. मैं क्या कह सकता हूं? अगर आप लोग आहत हुए हैं, तो मैं दिल से माफी मांगता हूं. कृपया मुझे माफ करें.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)