भारत

आरएसएस कार्यकर्ताओं के कथित बम हमले के ख़िलाफ़ माकपा ने बुलाया बंद

भाजपा की जनरक्षा यात्रा के बीच केरल में माकपा और कांग्रेस ने आरएसएस कार्यकर्ताओं पर लगाया हमले का आरोप, दोनों ने अलग अलग किया बंद का आह्वान. रिजिजू बोले, माकपा के विचार राष्ट्र विरोधी.

kerala CPI

भाजपा-आरएसएस के खिलाफ दिल्ली में माकपा का प्रदर्शन. फोटो: सीताराम येचुरी/ट्विटर

नई दिल्ली/तिरुवनंतपुरम: केरल में वामपंथ और दक्षिणपंथ के जारी खूनी राजनीतिक प्रतिस्पर्धा घटने की जगह बढ़ती दिख रही है. एक तरफ भाजपा का शीर्ष नेतृत्व दिल्ली से लेकर केरल तक जनरक्षा यात्रा आयोजित कर रहा है, लेकिन दूसरी तरफ माकपा के जुलूस पर संघ कार्यकर्ताओं ने देसी बम से हमला कर दिया. भाजपा के जनरक्षा यात्रा के विरोध में केरल में माकपा ने भी जुलूस निकाला और भाजपा व संघ पर झूठ बोलकर हिंसा और उन्माद फैलाने का आरोप लगाया.

इस बीच केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने सोमवार को कहा कि वाम पार्टी जिस तरह की राजनीतिक हिंसा में कथित तौर पर लिप्त है उसे लोकतंत्र में किसी भी तरह बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. उन्होंने माकपा पर राष्ट्र विरोधी विचारों को शरण देने का आरोप लगाया.

New Delhi: CPI (M) supporters during a protest at the BJP headquarters over the alleged RSS-BJP violence against its cadres and supporters in Kerala, in New Delhi on Monday. PTI Photo by Kamal Kishore (PTI10_9_2017_000050B)

भाजपा-आरएसएस के खिलाफ दिल्ली में भाजपा मुख्यालय के सामने माकपा का प्रदर्शन. ( फोटो: पीटीआई)

सोमवार को राजधानी दिल्ली में भाजपा कार्यकर्ताओं ने जनरक्षा यात्रा निकाली. दिल्ली पुलिस ने भाजपाई प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने के वाटर कैनन का इस्तेमाल किया. दूसरी तरफ माकपा कार्यालय पर माकपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया और आरएसएस भाजपा पर केरल में हिंसा फैलाने का आरोप लगाया. माकपा ने आरोप लगाया कि अब तक आरएसएस की तरफ 191 वाम कार्यकर्ता मारे जा चुके हैं. आरएसएस पीड़ित नहीं है, बल्कि पीड़ित होने का झूठ फैला रहा है.

कन्नूर जिले में अपने कार्यकर्ताओं पर हुए हमलों के विरोध में सोमवार को सत्तारूढ़ माकपा और कांग्रेस ने अलग-अलग हड़ताल का आह्वान किया. दोनों दलों का आरोप है कि उनके कार्यकर्ताओं पर कथित तौर पर भाजपा और संघ कार्यकर्ताओं ने हमला किया.

New Delhi: Delhi BJP workers take out a mock funeral procession of the Kerala government during their Jan Raksha Yatra to protest against the alleged killing of RSS and BJP workers in the state, outside the CPOI(M) office, in New Delhi on Monday. PTI Photo by Kamal Singh (PTI10_9_2017_000084B)

भाजपा की जनरक्षा यात्रा के तहत भाजपा कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में प्रदर्शन किया और माकपा की शवयात्रा निकाली. (फोटो: पीटीआई)

माकपा ने रविवार शाम कथित तौर पर संघ के लोगों के समूह द्वारा अपने कार्यकर्ताओं पर हुए देसी बम हमले के विरोध में पन्नूर नगर पालिका इलाके में सुबह से शाम तक की हड़ताल का आह्वान किया.

पुलिस ने कहा कि माकपा कार्यकर्ताओं द्वारा काइवेल्लीकल में निकाले जा रहे जुलूस के दौरान हुए हमले में चार पुलिसकर्मियों समेत 14 लोगों को चोट आई थी.

वहीं कांग्रेस कादंबूर पंचायत में हड़ताल कर रही है, जहां पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर बनाए गए सांस्कृतिक केंद्र को रविवार रात कथित तौर पर भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा नुकसान पहुंचाया गया.

माकपा ने सोमवार को अपने कार्यकर्ताओं पर हुए देसी बम हमले के विरोध में पन्नूर नगर निकाय के तहत आने वाले इलाकों में हड़ताल की. आरोप है कि माकपा कार्यकर्ताओं पर हमला आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने किया.

पुलिस ने बताया कि रविवार शाम कैवेल्लीकल में माकपा कार्यकर्ताओं द्वारा निकाले जा रहे जुलूस पर कुछ देसी बम फेंके गए जिसमें चार पुलिसकर्मियों सहित 14 व्यक्ति जख्मी हो गए थे.

New Delhi: Police using water cannons to disperse the Delhi BJP workers during their Janaraksha Yatra to protest against the alleged attacks on the RSS-BJP workers in the state of Kerala, outside CPI(M) office in New Delhi on Monday. PTI Photo by Kamal Singh (PTI10_9_2017_000085B)

भाजपा की जनरक्षा यात्रा के दौरान दिल्ली में प्रदर्शन कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया. (फोटो: पीटीआई)

उन्होंने कहा कि घायलों में पन्नूर पुलिस के क्षेत्रीय निरीक्षक एमके सजीव, उपनिरीक्षक प्रकाशन और पुलिस कांस्टेबल श्रीजीत तथा शिबू शामिल थे. घायलों को थालास्सेरी कोऑपरेटिव अस्पताल तथा पन्नूर ताल्लुक अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

पुलिस ने कहा कि इस संबंध में भारतीय दंड संहिता की धारा 143, 147, 148, 332 और 506 (2) तथा सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान से बचाने संबंधी अधिनियम की धारा 31 (1) के अलावा विस्फोटक अधिनियम की धारा तीन और पांच के तहत मामले दर्ज किए गए हैं. हालांकि अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है और जांच जारी है.

केरल में कन्नूर राजनीतिक रूप से अस्थिर जिला है जहां माकपा और संघ के कार्यकर्ताओं के बीच झड़पों का इतिहास रहा है.

रविवार को समाचार एजेंसी भाषा ने खबर दी थी कि कैवेल्लीकल में माकपा कार्यकर्ताओं की रैली में कथित तौर पर आरएसएस कार्यकर्ताओं के हमले में वाम दल के पांच कार्यकर्ता और पुलिस के पांच जवान घायल हो गए थे. अगले दिन एजेंसी ने घायलों की संख्या 14 बताई है.

खबर के मुताबिक, आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने कथित रूप से वाम कार्यकर्ताओं पर देसी बम और पत्थर फेंके. पुलिस ने बताया कि बम भी फेंके गए लेकिन माकपा कार्यकर्ता और पुलिसकर्मी पथराव के कारण घायल हुए. माकपा ने आरोप लगाया है कि घटना के पीछे आरएसएस के कार्यकर्ताओं का हाथ है.

हमले के विरोध में माकपा ने सोमवार को इलाके में 12 घंटे के बंद का आह्वान किया. पुलिस ने बताया कि एहतियाती उपाय के तहत इलाके में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया.

‘माकपा के विचार राष्ट्र विरोधी’

केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजु ने सोमवार को कहा कि वाम पार्टी जिस तरह की राजनीतिक हिंसा में कथित तौर पर लिप्त है उसे लोकतंत्र में किसी भी तरह बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. उन्होंने माकपा पर राष्ट्र विरोधी विचारों को शरण देने का आरोप लगाया.

रिजिजू केरल में वाम दलों के अत्याचारों को उजागर करने के लिए जारी अभियान जनरक्षा यात्रा के दौरान दिल्ली में बोल रहे थे. इसमें केंद्रीय मंत्री वीके सिंह भी शामिल हुए.

अपने संबोधन में सिंह ने वाम दलों की कथित हत्या की राजनीति के बारे में लोगों को जागरूक बनाने की जरूरत पर जोर दिया. सिंह ने आरोप लगाया, केरल में वाम दलों द्वारा की जा रही राजनीतिक हत्याओं का एक ही जवाब है, वह है लोगों को जागरूक बनाना. वाम दल इन हत्याओं को अंजाम देकर लोगों को डराना धमकाना चाहते हैं लेकिन इन तिकड़मों से हम नहीं डरने वाले.

रिजिजू ने दावा किया कि केंद्र में यदि कांग्रेस की सरकार होती तो वह केरल में राष्ट्रपति शासन लगा चुकी होती लेकिन भाजपा वाम दलों से लोकतांत्रिक संसाधनों के जरिए लड़ रही है.

New Delhi: CPI (M) politburo member Brinda Karat addresses party workers during a protest at the BJP headquarters over alleged RSS-BJP violence against its cadres and supporters in Kerala, in New Delhi on Monday. PTI Photo by Kamal Kishore (PTI10_9_2017_000048b)

नई दिल्ली में भाजपा मुख्यालय के सामने माकपा के प्रदर्शन के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए माकपा नेता बृंदा करात. (फोटो: पीटीआई)

तिरुवनंतपुरम में माकपा ने आयोजित की जनसभा

केरल में भाजपा की जनाक्रोश यात्रा के जवाब में सत्तारूढ़ माकपा ने भगवा संगठन के कार्यकर्ताओं द्वारा अपने कैडर पर कथित हमले को रेखांकित करने के लिए सोमवार को जनसभा का आयोजन किया.

सचिवालय के सामने सभा का उद्घाटन करते हुए माकपा के राज्य सचिव के बालाकृष्णन ने भाजपा और आरएसएस पर हमला करते हुए उन पर राज्य में हिंसा करने का आरोप लगाया.

उन्होंने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के. राजशेखरन की अगुवाई में चल रही यात्रा को विफल करार दिया और आरएसएस पर देश में मुसलमानों को शांति से नहीं रहने देने का आरोप लगाया.

बालाकृष्णन ने लोगों से आरएसएस-भाजपा के सांप्रदायिक एजेंडे के खिलाफ लड़ने का अनुरोध किया. आरएसएस-भाजपा कार्यकर्ताओं के कथित हमले में मारे गए वाम पार्टी के कार्यकर्ताओं की तस्वीरों की एक प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया है. कुन्नूर में वाम पार्टी के कार्यकर्ताओं के परिवारों के सदस्यों ने धरने में हिस्सा लिया.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)