भारत

पीएम की आलोचना करने वाला सिपाही निलंबित, मंत्री के ख़िलाफ़ टिप्पणी करने पर मामला दर्ज

अहमदनगर पुलिस के मुताबिक, सिपाही कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री बालासाहब थोराट का अंगरक्षक है.

ahmadnagar

अहमदनगर/रायगढ़: व्हाट्सएप पोस्ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कथित तौर पर आलोचना करने के लिए एक सिपाही को निलंबित कर दिया गया है. घटना अहमदनगर की है. दूसरी ओर छत्तीसगढ़ के नगरीय प्रशासन और वाणिज्य कर मंत्री अमर अग्रवाल के खिलाफ एक वाट्सएप ग्रुप में आपत्तिजनक और अश्लील टिप्पणी करने के मामले में पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध मामला दर्ज किया है.

अहमदनगर पुलिस ने बताया कि सिपाही रमेश शिंदे कांग्रेस विधायक और पूर्व मंत्री बालासाहब थोराट का अंगरक्षक है. शिंदे ने हाल में एक व्हाट्सएप पोस्ट में मोदी की कथित तौर पर आलोचना की थी. उन्होंने कहा कि मामले को गंभीरता से लिया गया और जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

अहमदनगर के पुलिस अधीक्षक रंजनकुमार शर्मा ने कहा, जिला पुलिस साइबर प्रकोष्ठ की विस्तृत जांच के बाद शिंदे के खिलाफ कार्रवाई की गई.

दूसरे मामले में छत्तीसगढ़ के नगरीय प्रशासन और वाणिज्य कर मंत्री अमर अग्रवाल के खिलाफ एक व्हाट्सएप ग्रुप में आपािजनक और अश्लील टिप्पणी करने के मामले में पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध मामला दर्ज किया है.

रायगढ़ जिले के खरसिया क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी पुलिस अशोक वाडेगांवकर ने बताया कि 13 अक्टूबर को बोनस तिहार कार्यक्रम में खरसिया आए मंत्री अमर अग्रवाल के खिलाफ व्हाट्सएप ग्रुप खबर ग्रुप-आजतक में एक व्यक्ति ने आपत्तिजनक अश्लील टिप्पणी पोस्ट की थी.

वाडेगांवकर ने बताया कि खरसिया नगरपालिका ने 13 अक्टूबर को मंत्री अमर अग्रवाल के कार्यक्रम से पहले फुटपाथ पर दुकान लगाने वालों को हटा दिया था. दीपावली त्योहार के दौरान दुकानदारों को हटाने को लेकर एक युवक ने रात 12.44 बजे व्हाट्सएप ग्रुप में आपत्तिजनक और अश्लील टिप्पणी पोस्ट की थी.

इसकी शिकायत नगरपालिका के एल्डरमैन सतीश अग्रवाल और दीनदयाल अग्रवाल ने खरसिया के मुख्य नगरपालिका अधिकारी से की थी. खरसिया के मुख्य नगरपालिका अधिकारी प्रवीण सिंह गहलोत ने अज्ञात मोबाइल धारक के खिलाफ 14 अक्टूबर को खरसिया पुलिस से शिकायत कर कार्रवाई का आग्रह किया.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि खरसिया पुलिस ने सीएमओ की शिकायत पर रविवार शाम अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया और इसकी जांच शुरू कर दी है. अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.