भारत

पर्रिकर बोले केरल में दुष्टों का शासन, माकपा ने कहा पद से हटाया जाए

केरल में हड़ताल से जनजीवन प्रभावित, हिंसा की छिटपुट घटनाएं दर्ज, बिहार भाजपा ने जनरक्षा मार्च निकाला.

PTI10_16_2017_000132B

केरल में सोमवार को सचिवालय के बाहर प्रदर्शन करते विपक्षी दलों के कार्यकर्ता. फोटो: पीटीआई

तिरुवनंतपुरम/पटना: केरल में सत्तारूढ़ माकपा ने गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की उस टिप्पणी के लिए आलोचना की जिसमें उन्होंने दक्षिण के राज्य को दुष्टों द्वारा शासित बताया था. पार्टी ने इस टिप्पणी के लिए उन्हें उनके पद से हटाने की मांग भी की.

केरल माकपा के सचिव कोडियारी बालकृष्णन ने कहा कि आक्रामक टिप्पणी के लिए पर्रिकर को हटाया जाना चाहिए. भाजपा की जनरक्षा यात्रा के दौरान पर्रिकर ने सोमवार को कोल्लम में यह बयान दिया था. वाम शासन में कथित लाल आतंक का भंडाफोड़ करने के लिए यह यात्रा निकाली जा रही है.

पर्रिकर ने कहा था, गोवा और केरल में कई समानताएं हैं लेकिन एक बड़ा अंतर है कि गोवा में जहां भाजपा नीत सरकार है वहीं आपके यहां केरल में दुष्टों के शासन वाली सरकार है.

भाजपा के वरिष्ठ नेता और गोवा के मुख्यमंत्री ने कहा था कि केंद्र में उनकी पार्टी की सरकार देश को विकास के रास्ते पर आगे ले जाना चाहती है वहीं केरल के मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन भय का माहौल बना रहे हैं.

भाजपा की राष्ट्रीय सचिव सरोज पांड्या के बयान पर बालकृष्णन ने आरोप लगाए कि यह हिंसा का खुलेआम आह्वान है. सरोज ने कहा था कि केरल में अगर उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं की हत्या जारी रही तो हमलावरों के आंखें निकाल ली जाएंगी. उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ मामला दर्ज होना चाहिए.

नयी दिल्ली में उन्होंने संवाददाताओं से कहा, वे मार्क्सवादी कार्यकर्ताओं का बाल भी बांका नहीं कर सकते. बालकृष्णन और माकपा की राज्य इकाई के अन्य वरिष्ठ नेता पार्टी की केंद्रीय समिति की बैठक में हिस्सा लेने के लिए दिल्ली में हैं.

हड़ताल के दौरान हिंसा की घटनाएं

केरल में विपक्षी कांग्रेस द्वारा सोमवार को की गई दिन भर की हड़ताल ने राज्य में आम जनजीवन प्रभावित कर दिया. सार्वजनिक परिवहन सड़कों से नदारद रहा और कई स्थानों से हिंसा की छिटपुट घटनाएं दर्ज की गई.

पुलिस ने बताया कि केरल राज्य पथ परिवहन निगम की बसों पर पथराव की खबरें हैं. निगम की बहुत कम बसें सड़कें पर नजर आईं.

कायमकुलम में हड़ताल समर्थकों के पथराव में एक बस चालक घायल हो गया. त्रिशूर में वाहनों पर पथराव करने को लेकर पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में ले लिया. केंद्र की भाजपा नीत सरकार और माकपा नीत राज्य सरकार की कथित जन विरोधी नीतियों तथा पेट्रोल एवं डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ हड़ताल का आह्वान किया गया था.

यूडीएफ कार्यकर्ताओं के हड़ताल के दौरान हिंसा में संलिप्त रहने के आरोप को खारिज करते हुए विधानसभा के विपक्षी नेता रमेश चेन्नीतला ने कहा कि माकपा नीत एलडीएफ सरकार कुछ घटनाओं को बढ़ा चढ़ा कर पेश करने की कोशिश कर रही है.

बिहार भाजपा ने जनरक्षा मार्च निकाला

बिहार प्रदेश भाजपा ने केरल में अपनी पार्टी कार्यकर्ताओं पर हुए हमले के खिलाफ सोमवार को पटना में जन रक्षा मार्च निकाला. भाजपा का यह जनरक्षा मार्च पार्टी के प्रदेश कार्यालय से शुरू होकर गांधी मैदान पर समाप्त हुआ.

मार्च के समापन पर अपने संबोधन में बिहार प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नित्यानंद राय ने आरोप लगाया कि केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन के कार्यकाल में संघ और भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या के अधिकांश वारदात उनके गृह जिले में हुई है, जो साबित करता है कि शासन-सत्ता के निर्देशन व संरक्षण में वहां राजनीतिक हत्याओं का दौर चल रहा है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी और भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित भाई शाह के नेतृत्व में भाजपा कार्यकर्त्ता देशभर में भारत विजय अभियान पर चल पड़े हैं. हम लोकतंत्र में विश्वास रखते है, वरना जबाब देने में सक्षम हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

  • SANJEEV KUMAR

    ye bhediye aaj kal keral kyu ghoom rahe hain, kuchh samajh nahi aa raha hai. Some conspiracy is being cooked.