दुनिया

मैं प्रेस की आज़ादी नहीं, फर्ज़ी मीडिया के ख़िलाफ़ हूं: ट्रंप

बीते शुक्रवार को सीएनएन, बीबीसी, न्यूयॉर्क टाइम्स, बज़फीड और द डेली मेल समेत उन मीडिया संस्थानों को प्रेस कांफ्रेंस से बाहर रखा गया जो अमेरिकी राष्ट्रपति के प्रति आलोचनात्मक रवैया रखते हैं.

trump

(फाइल फोटो: रॉयटर्स)

शनिवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वह केवल ‘फर्ज़ी ख़बरों’ के खिलाफ हैं, लेकिन प्रेस की आज़ादी के खिलाफ नहीं.

ट्रंप ने यहां कंसर्वेटिव पॉलिटिकल एक्शन कांफ्रेंस में कहा, ‘मैं मीडिया के खिलाफ नहीं हूं. मैं प्रेस के विरुद्ध नहीं हूं. मैं अगर खराब खबरों के लायक हूं तो उनका भी बुरा नहीं मानता. और मैं आपको बता दूं कि अच्छी खबरें मुझे पसंद हैं, लेकिन मुझे बहुत अच्छी खबरें पढ़ने को मिलती नहीं हैं. लेकिन मैं फर्जी खबरों, मीडिया या प्रेस के खिलाफ हूं.’

उन्होंने कहा, ‘मैं उन लोगों के खिलाफ हूं जो खबरें गढ़ते हैं और स्रोत भी तैयार करते हैं. जब तक वे किसी व्यक्ति का नाम नहीं लेते, उन्हें स्रोत का इस्तेमाल करने की इजाज़त नहीं होनी चाहिए. नाम सार्वजनिक कीजिए.’ वह अपने राष्ट्रपति चुनाव के अभियान के दौरान के मीडिया कवरेज के संदर्भ में गुस्सा जाहिर कर रहे थे.

इससे पहले ह्वाइट हाउस ने शुक्रवार को ऑफ-कैमरा डेली ब्रीफिंग में कई अमेरिकी मीडिया संस्थानों को नहीं बुलाया. जिन प्रमुख संस्थानों को बैन किया था उनमें सीएनएन, बीबीसी, न्यूयॉर्क टाइम्स, एलए टाइम्स, न्यूयॉर्क डेली न्यूज़, बज़फीड, द हिल और द डेली मेल शामिल हैं. ये वही मीडिया संस्थान हैं जिनका ट्रंप को लेकर आलोचनात्क नज़रिया रहा है.

कांफ्रेंस में ब्रेटबार्ट न्यूज़, वन अमेरिका न्यूज़ नेटवर्क, द वॉशिंगटन टाइम्स, ऑल न्यूज़ ऑर्गेनाइजेशन, एबीसी, सीबीएस, एनबीसी, फॉक्स समाचार, रॉयटर्स और ब्लूमबर्ग को बुलाया गया था.

यह न्यूज ब्रीफिंग अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रेस सचिव सीन स्पाइसर ने बुलाई थी. इस मुद्दे पर स्पाइसर ने कहा,‘हम मीडिया के प्रति जवाबदेह हैं और चाहते हैं कि उन्हें उनके सवालों का जवाब मिले. लेकिन मुझे ये नहीं लगता कि हर रोज हर सवाल का जवाब दिया जाना चाहिए.’

न्यूयॉर्क टाइम्स के कार्यकारी संपादक डीन बैक्वेट ने एक बयान में कहा कि ह्वाइट हाउस में इस तरह कुछ भी कभी पहले नहीं हुआ है. अलग-अलग पार्टियों के कई प्रशासनों को कवर करने का हमारा लंबा इतिहास रहा है.

शनिवार सुबह अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने ट्वीट में लिखा,‘द फ़ेक न्यूज़ मीडिया (न्यूयॉर्क टाइम्स, एनबीसी, एबीसी, सीबीएस और सीएनएन) मेरा ही नहीं, अमेरिकी लोगों का दुश्मन है.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)