भारत

आठ नवंबर: भाजपा मनाएगी कालाधन विरोधी दिवस, विपक्ष मनाएगा काला दिवस

कांग्रेस ने कहा, जेटली अर्थव्यवस्था की गलत तस्वीर पेश कर देश को गुमराह कर रहे, कालाधन विरोधी दिवस मनाने की बजाय देश को आहत करने के लिए माफ़ी मांगें.

Arun Jaitley (2)

वित्त मंत्री अरुण जेटली और कांग्रेस नेता आनंद शर्मा. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर आठ नवंबर को सियासी घमासान छिड़ेगा. कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दलों ने इस दिन काला दिवस मनाने की घोषणा की है, जबकि सत्तारूढ़ भाजपा ने आठ नवंबर को कालाधन विरोधी दिवस मनाने की घोषणा की है.

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को कहा कि नोटबंदी को एक साल पूरा होने के मौके पर आगामी आठ नवंबर को भाजपा कालाधन विरोधी दिवस मनाएगी. जबकि विपक्ष ने उसी दिन काला दिवस बनाने का ऐलान किया है.

जेटली ने संवाददाताओं से कहा कि भाजपा के लिए यह प्राथमिकता वाला कार्यक्रम होगा और पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री इसमें शामिल होंगे. उन्होने कालेधन की समस्या से निपटने के लिए मोदी सरकार की ओर से उठाए गए कदमों का उल्लेख किया.

जेटली ने कहा, आठ नवंबर को कालाधन विरोधी दिवस मनाया जाएगा. भाजपा ने यह फैसला ऐसे समय किया है जब करीब 18 राजनीतिक दलों ने आठ नवंबर को काला दिवस मनाने की घोषणा की है.

सरकार के पास अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की योजना नहीं है

कांग्रेस ने बुधवार को केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली पर देश की अर्थव्यवस्था की स्थिति की गलत तस्वीर पेश कर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया और दावा किया कि सरकार के पास अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की योजना का अभाव है.

भाजपा द्वारा आठ नवंबर को कालाधन विरोधी दिवस मनाए जाने को लेकर सत्तारूढ़ दल पर प्रहार करते हुए कांग्रेस ने कहा कि इसके बजाय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश को आहत करने के लिए उससे माफी मांगनी चाहिए.

नोटबंदी के विरोध में विपक्ष आठ नवंबर को काला दिवस मनाएगा और ऐसा प्रतीत होता है कि भाजपा ने इसके जवाब में कालाधन विरोधी दिवस मनाने का निर्णय किया है.

जेटली को ऐसा नहीं बोलना चाहिए कि अंतरराष्ट्रीय एजेंसियां स्तब्ध रह जाएं

कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता आनंद शर्मा ने संवाददाताओं से कहा, अर्थव्यवस्था के बारे में जो कहा गया है वह सत्य नहीं है… यह कहना गलत है कि देश की अर्थव्यवस्था के मूलभूत कारक मजबूत हैं. वित्त मंत्री का भारत को दुनिया की सबसे तेजी से विकसित होने वाली अर्थव्यवस्था बताने का दावा गलत एवं तथ्यात्मक रूप से सही नहीं है.

शर्मा ने यह भी कहा कि मोदी सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को आहत किया है तथा नौकरियां जाने, किसानों, व्यापारियों, मजदूर वर्ग एवं आम आदमी की मुश्किलों के कारण यह आईसीयू में चली गई है.

उन्होंने कहा कि सरकार को अब अर्थव्यवस्था के बुरे हालात के बारे में महसूस हुआ है. स्थिति से अवगत होने के बाद उसने वित्तीय पैकज की घोषणा की.

शर्मा ने कहा, वित्त मंत्री को ऐसी बात नहीं कहनी चाहिए जिससे अंतरराष्ट्रीय एजेंसियां स्तब्ध हो जाएं. चीन की अर्थव्यवस्था भारत से बड़ी है. इसलिए भारत के वित्त मंत्री को अपने उन शब्दों को सोच विचार कर बोलना चाहिए जिनसे दुनिया को चुनौती मिलती हो.

लालू की आंदोलन छेड़ने की अपील

राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने कांग्रेस, वामदल और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी से नोटबंदी और जीएसटी की कथित विफलता के विरोध में आगामी आठ नवंबर को आंदोलन छेड़ने की अपील की है.

लालू ने नोटबंदी को विफल बताते हुए इसे लागू किए जाने के दिन आगामी आठ नवंबर को बिहार के सभी जिलों में इसके विरोध में एक रैली के आयोजन की घोषणा भी कर चुके हैं.

पटना स्थित अपने आवास पर मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए लालू ने कहा कि नोटबंदी के कारण सैकड़ों लोगों की मौत हो गई तथा अभी भी बहुत लोगों को दुर्गति झेलनी पड़ रही है. जीएसटी लागू किए जाने के कारण बाजार प्रभावित हुआ है और व्यापार चौपट हो गया है. महंगाई बढ़ गई है और चारों तरफ तबाही है.

उन्होंने कांग्रेस, वामदल और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी से नोटबंदी और जीएसटी की कथित विफलता के विरोध में आगामी 8 नवंबर को आंदोलन छेड़ने की अपील करते हुए कहा कि सभी दल अपने अपने राज्यों में रैली करें और जुलूस निकालें तथा धरने पर बैठकर विरोध प्रकट करें.

आप मनाएगी धोख़ा दिवस

आम आदमी पार्टी ने नोटबंदी को मोदी सरकार की नाकाम पहल बताते हुए इसकी घोषणा को एक साल पूरा होने पर आगामी आठ नवंबर को देशव्यापी प्रदर्शन करने का फैसला किया है.

आप के प्रवक्ता संजय सिंह ने बताया कि पार्टी कार्यकर्ता आठ नवंबर को धोखा दिवस के रूप में मनाएंगे और इस दिन पार्टी कार्यकर्ता मोदी सरकार द्वारा डुबोई गई अर्थव्यवस्था की अर्थी पूरे देश में निकालेंगे. सिंह ने कहा कि मोदी सरकार ने नोटबंदी के नाम पर देश की जनता के साथ बहुत बड़ा धोखा किया है. इससे देश की अर्थव्यवस्था को हुए भारी नुकसान के विरोध में आप कार्यकर्ता आठ नवंबर को धोखा दिवस के रूप में मनाते हुए देशव्यापी प्रदर्शन करेंगे.

उन्होंने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी लागू करने के बाद युवा बेरोजगार हो रहे हैं, किसान आत्महत्या कर रहे हैं, व्यापारी कंगाल हो रहा है और मजदूर भुखमरी की कगार पर पहुंच गया है. आप कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन कर मोदी सरकार के फैसलों के दुष्परिणामों से जनता को आगाह करेंगे.

नोटबंदी की सालगिरह पर वामदल करेंगे अलग प्रदर्शन

वामदल आगामी आठ नवंबर को नोटबंदी की पहली सालगिरह पर विपक्षी दलों की ओर से आयोजित काला दिवस से इतर अलग विरोध प्रदर्शन करेंगे. माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी लागू होने से अर्थव्यवस्था और जनसामान्य पर पड़े कुप्रभावों के विरोध में वामदल कांग्रेस की अगुवाई में विपक्षी दलों की ओर से आहूत हड़ताल में तो साथ होंगे लेकिन विरोध प्रदर्शन अलग करेंगे.

येचुरी ने स्पष्ट किया कि संप्रग सरकार के कार्यकाल में पेट्रोलियम पदार्थों की बढ़ती कीमतों के विरोध में भी वामदलों ने भाजपा द्वारा आहूत आंदोलन के दौरान हड़ताल में हिस्सेदारी करते हुए विरोध प्रदर्शन का आयोजन अलग किया था.

येचुरी ने कहा कि भाजपा समर्थित भारतीय मजदूर संघ को छोड़कर देश के सभी किसान, श्रमिक एवं कारोबारी संगठनों ने आगामी नौ से 11 नवंबर तक देशव्यापी आंदोलन आयोजित किया है.

येचुरी ने कहा कि नोटबंदी और जीएसटी से न सिर्फ देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है बल्कि आम आदमी की गुजर बसर भी इससे बुरी तरह प्रभावित हुई है. इसके अलावा उन्होंने मोदी सरकार पर रिजर्व बैंक और चुनाव आयोग सहित अन्य संवैधानिक संस्थाओं का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि सत्ता के दुरुपयोग से देश की सभी जांच एजेंसियां भी बुरी तरह प्रभावित हुई हैं.

येचुरी ने कहा कि एनआईए और सीबीआई राजनीतिक विद्वेष से भ्रष्टाचार के मामलों की जांच कर रही है. जबकि व्यापमं, जय शाह और सृजन घोटाला सहित तमाम मामलों में अब तक जांच शुरू तक नहीं हुई. उन्होंने इसे मोदी सरकार का तानाशाही पूर्ण रवैया बताते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश से लेकर राजस्थान और केरल तक सभी भाजपा शासित राज्यों में कानून व्यवस्था बदहाल है. वहीं गैर भाजपा शासित राज्यों में केंद्र सरकार द्वारा कानून व्यवस्था के नाम पर जांच एजेंसियों का जमकर दुरुपयोग किया जा रहा है.

द्रमुक मनाएगी काला दिवस

कांग्रेस के सहयोगी पार्टी द्रमुक ने कहा है कि वह नोटबंदी की सालगिरह आठ नवंबर को काला दिवस के रूप में मनाएगी और तमिलनाडु के सभी जिला मुख्यालयों में धरना प्रदर्शन करेगी.

द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन ने बयान जारी कर कहा है कि पार्टी कार्यकर्ता काली कमीज पहन कर आठ नवंबर को काला दिवस के रूप में मनाएंगे और धरना प्रदर्शन करेंगे.

 (समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)