भारत

वायु प्रदूषण से बढ़ सकता है हड्डी टूटने का ख़तरा: अध्ययन

द लैनसेट प्लैनेटरी हेल्थ पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में पाया गया कि स्वच्छ वायु के कई लाभों में, हड्डियों की मजबूती एवं उन्हें टूटने से बचाना भी शामिल है.

New Delhi: A woman wears an anti-pollution mask as smog covers the capital's skyline on Wednesday. Yesterday the air quality hit severe levels in New Delhi. PTI Photo by Shahbaz Khan(PTI11_8_2017_000013A)

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

न्यूयॉर्क: वायु प्रदूषण के बढ़ने से शरीर में खनिज की मात्रा कम होने के कारण हड्डियों के टूटने का खतरा बढ़ सकता है. एक प्रमुख अध्ययन में यह दावा किया गया है.

द लैनसेट प्लैनेटरी हेल्थ पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन में पहली बार अस्पताल में उन समुदायों के लोगों के हड्डियां टूटने के मामलों के बारे में जानकारी दी गई है, जहां पार्टिक्यूलेट मैटर उच्च स्तर पर हैं, जो कि वायु प्रदूषण का उच्च घटक है.

शोधकर्ता ने कहा कि कम आय वाले समुदायों में हड्डियां टूटने का खतरा सबसे अधिक है. अमेरिका में कोलंबिया विविद्यालय के मेलमैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ की एंड्रिया बेक्केरली ने कहा, हमारे अध्ययन में पाया गया कि स्वच्छ वायु के कई लाभों में, हड्डियों की मजबूती एवं उन्हें टूटने से बचाना भी शामिल है.

उन्होंने कहा कि दशकों से किए जा रहे अध्ययनों में पाया गया है कि हृदय और सांस रोग से लेकर कैंसर और खराब अनुभूतियों सहित कई मामलों में वायु प्रदूषण स्वास्थ्य के लिए खतरा है और अब यह (ऑस्टियोपोरोसिस) हड्डियों संबंधी रोग का भी मुख्य कारण बनकर उभर रहा है.