भारत

अलवर: कथित तौर पर गाय ले जा रहे मुस्लिम व्यक्ति की हत्या

राजस्थान के अलवर ज़िले में ही अप्रैल में हरियाणा में डेयरी चलाने वाले पहलू ख़ान की भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी.

मृतक उमर मुहम्मद का आधार कार्ड. (फोटो साभार: CNN-News18)

मृतक उमर मुहम्मद का आधार कार्ड. (फोटो साभार: CNN-News18)

पहलू ख़ान की हत्या के सात महीने बाद राजस्थान के अलवर ज़िले में कथित गोरक्षकों ने गाय ले जा रहे कुछ मुस्लिम युवकों को रोककर पिटाई की और उनमें से एक की कथित तौर पर गोली मारकर हत्या कर दी.

न्यूज़ 18 की रिपोर्ट के अनुसार, घटना ज़िले के गोविंदगढ़ के पास फहाड़ी गांव के पास हुई. मृतक की पहचान उमर मुहम्मद के रूप में हुई है. रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से लिखा गया है कि उमर मुहम्मद दो अन्य लोगों के साथ हरियाणा के मेवात से राजस्थान के भरतपुर गाय ले जा रहे थे. रास्ते में उन्हें कथित गोरक्षकों ने घेर लिया और पिटाई की.

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, उमर के साथ के युवक की पहचान ताहिर ख़ान के रूप में हुई. दोनों पिकअप गाड़ी से गायों को भरतपुर ज़िले के घाटमिका गांव ले जा रहे थे.

इंडिया टुडे ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि ताहिर का इलाज हरियाणा के एक निजी अस्पताल में चल रहा है, जबकि उमर मुहम्मद का शव अलवर के राजीव गांधी अस्पताल में रखा गया है.

मृतक उमर और ताहिर मेव समाज से ताल्लुक रखते हैं. घटना की सूचना फैलते ही मेव समुदाय के लोग अस्पताल पहुंच गए और उन्होंने आरोप लगाया है कि हिंदूवादी संगठन ने पुलिस के साथ मिलकर दोनों मुस्लिम युवकों की पिटाई की और एक को गोली भी मार दी.

समुदाय ने घटना की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है. मामले की अभी रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई है.

बता दें कि इसी साल अप्रैल महीने की एक तारीख़ को हरियाणा के रहने वाले पहलू ख़ान की भी हत्या कथित गोरक्षकों ने पीट-पीट कर कर दी थी. मरने से पहले पहलू ख़ान ने पुलिस को छह नाम बताए थे. हालांकि राजस्थान पुलिस ने जांच में उन सभी लोगों को क्लीनचिट दे दी है.

अलवर में पिछले महीने ही भीड़ ने एक मुस्लिम व्यक्ति की 51 गायों को छीन कर स्थानीय गोशाला में दान कर दिया था. शिकायत करने के बाद ज़िलाधिकारी ने आदेश दिया कि गाय उस व्यक्ति को लौटा दी जाए.