भारत

नाहरगढ़ फोर्ट पर लटकी लाश मिली, बगल में लिखा पद्मावती के विरोध में

पद्मावती का विरोध कर रहे राजपूत करणी सेना के नेता महिपाल मकराना ने अपने संगठन को अलग करते हुए कहा कि उनका विरोध करने का यह तरीका नहीं है.

शव के नजदीक चट्टानों पर पद्मावती के विरोध में लिखा पाया गया (फोटो: एएनआई ट्वीटर)

शव के नजदीक चट्टानों पर पद्मावती के विरोध में लिखा पाया गया (फोटो: एएनआई ट्वीटर)

नई दिल्ली: संजय लीला भंसाली की चर्चित फिल्म पद्मावती को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. देश भर में हो रहे विरोध के साथ राजस्थान के नाहरगढ़ फोर्ट पर एक युवक की लाश लटकी हुई मिली है और नजदीक के पत्थरों पर ‘पद्मावती का विरोध’ भी लिखा पाया गया है.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक नाहरगढ़ फोर्ट पर लटकी लाश के नजदीक पत्थरों पर ‘पद्मावती का विरोध’ लिखा पाया गया है. एक चट्टान पर लिखा है, ‘हम सिर्फ पुतले नहीं लटकाते पद्मावती.’ लाश के नजदीक एक अन्य पत्थर पर लिखा है, ‘पद्मावती का विरोध.’

समाचार एजेंसी के मुताबिक नाहरगढ़ किले पर लटकी लाश स्थानीय 40 वर्षीय चेतन सैनी की है. मौके पर पुलिस पहुंच कर जांच कर रही है.

नेटवर्क 18 की खबर के मुताबिक अब तक यह साफ़ नहीं हो पाया है कि यह आत्महत्या का मामला है या हत्या है. ब्रह्मपुरी पुलिस स्टेशन के अफसरों ने बताया कि मृत चेतन के जेब में आधार कार्ड बरामद हुआ है, जिससे उसी पहचान हो सकी है.

राजपूत करणी सेना की तरफ से पद्मावती के विरोध का नेतृत्व करने वाले महिपाल मकराना ने कहा कि उनके संगठन का किसी भी प्रकार से इस मामले से कोई लेना-देना नहीं है.

मकराना कहते हैं, ‘हम लोगों का विरोध करने का यह तरीका नहीं है और मैं लोगों से भी अपील करना चाहूंगा कि यह तरीका सही नहीं है.’

पद्मावती इस साल की सबसे विवादित फिल्मों में से एक है. फिल्म में दीपिका पादुकोण ने रानी पद्मावती का किरदार निभाया है, तो वहीं शाहिद कपूर राजा रतन सिंह रावल का किरदार अदा कर रहे हैं. फिल्म में अलाउद्दीन खिलजी का किरदार रणवीर सिंह कर रहे हैं.

करणी सेना और अन्य राजपूत संगठनों ने आरोप लगाया है कि फिल्म में इतिहास के साथ छेड़छाड़ की गई है और फिल्म में खिलजी और पद्मावती के बीच दृश्य भी फिल्माए गए हैं.

हालांकि फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली ने वीडियो जारी कर बताया है कि फिल्म में ऐसा कोई दृश्य नहीं है और राजपूत समुदाय का किसी भी प्रकार का अपमान नहीं किया गया है.

एनडीटीवी के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी के हरियाणा मीडिया प्रभारी सूरजपाल अमु ने दीपिका और भंसाली का सर कलम करने वाले को 10 करोड़ रुपये देने का एलान किया था.

विरोध को देखते हुए फिल्म के निर्माता वायकॉम 18 और निर्देशक संजय लीला भंसाली ने फिल्म की निर्धारित रिलीज़ की तारीख रद्द कर दी है. फिल्म एक दिसंबर को रिलीज़ होनी थी.