भारत

महाराष्ट्र: बलात्कार पीड़िता का आरोप, प्रतिष्ठा के नाम पर स्कूल ने निकाला

नाबालिग छात्रा के परिजनों ने आरोप लगाया है कि रिपोर्ट दर्ज करने के लिए पुलिस ने 50 हज़ार रुपये की रिश्वत की मांग की.

Crime against Women Aliza Bakht The Wire

इलस्ट्रेशन: अलिज़ा बख्त/द वायर

लातूर: एक नाबालिग स्कूल छात्रा ने आरोप लगाया है कि उसके साथ दुष्कर्म होने की वजह से उसे स्कूल से निकाला गया है. उसके मुताबिक स्कूल ने कहा कि इससे उनकी प्रतिष्ठा पर धब्बा लगेगा.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस 15 वर्षीय  लड़की का आरोप है कि 4 महीने पहले सेना के एक जवान ने उसे शादी का झांसा देकर उसके साथ बलात्कार किया.

पीड़िता ने बताया कि मामला सामने पर स्कूल ने उसे निकाल दिया. उनका कहना था कि अगर वो वहां पढ़ती हैं उससे स्कूल की प्रतिष्ठा खराब होगी. यह लड़की 11वीं की छात्रा है और अपनी आगे की पढ़ाई जारी रखना चाहती थी.

द एशियन एज की ख़बर के अनुसार पीड़िता के अंकल का आरोप है कि जब वह शिकायत दर्ज कराने पुलिस स्टेशन गए, तब पुलिस ने उनसे 50,000 रुपये रिश्वत की मांग की गई.

बाद में लातूर के एसपी शिवाजी राठौर के हस्तक्षेप के बाद मेडिकल जांच कराए जाने के बाद केस दर्ज किया गया.