भारत

कांग्रेस ने ब्लूटूथ के ज़रिये ईवीएम में छेड़छाड़ की शिकायत की, चुनाव आयोग ने दिए जांच के आदेश

गुजरात विधानसभा चुनाव: ब्लूटूथ से कनेक्ट होने की शिकायत पर चुनाव आयोग के इंजीनियर ने कहा कि आप अपने डिवाइस का जो भी नाम रखेंगे वह आपको मोबाइल की स्क्रीन पर दिखेगा.

EVM Reuters 1

(फाइल फोटो: रॉयटर्स)

अहमदाबाद: गुजरात में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अर्जुन मोढवाडिया ने शनिवार को पोरबंदर के एक मुस्लिम बहुल इलाके के तीन मतदान केंद्रों पर ईवीएम से संभावित छेड़छाड़ की शिकायत की और कहा कि कुछ मशीनें ब्लूटूथ के ज़रिये बाहरी उपकरणों से जुड़ी पाई गई हैं.

इस बीच, चुनाव आयोग ने कहा कि कांग्रेस नेता की शिकायत पर जांच शुरू कर दी गई है. पोरबंदर से कांग्रेस उम्मीदवार मोढवाडिया ने कहा, ‘हमने पाया कि मुस्लिम बहुल इलाके मेमनवाड़ा के तीन मतदान केंद्रों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनें ब्लूटूथ के ज़रिये बाहरी उपकरणों से जुड़ी हुई हैं. जब भी किसी मोबाइल फोन का ब्लूटूथ ऑन किया जाता है तो ईसीओ 105 नाम का एक उपकरण उपलब्ध दिखाई देता है.’

उन्होंने आरोप लगाया कि इसका साफ मतलब है कि ब्लूटूथ के ज़रिये उपकरण का इस्तेमाल कर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों से छेड़छाड़ की जा सकती है.

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘ईवीएम में लगी चिप ब्लूटूथ के ज़रिये प्रोग्राम करने लायक लगती हैं और यह छेड़छाड़ की आशंका पैदा करती है. वोटिंग प्रणाली बाहरी उपकरणों से ऐसे जुड़ाव से मुक्त होनी चाहिए.’

मोढवाडिया ने कहा कि उन्होंने जिला निर्वाचन अधिकारी के पास इस मामले की शिकायत दर्ज कराई है. निर्वाचन अधिकारी ने मतदान केंद्र का दौरा किया और इन सब चीजों का मुआयना किया.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने भी इस संबंध में तुरंत कदम उठाने का अनुरोध किया है. पटेल ने ट्वीट किया, ‘कई मतदान केंद्रों पर ईवीएम में गड़बड़ी होने की खबरें आई हैं. निर्वाचन आयोग से तुरंत जरूरी कदम उठाने का आग्रह करता हूं.’

मुख्य चुनाव अधिकारी सीईओ बीबी स्वैन ने कहा कि मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं और कलेक्टर एवं चुनाव आयोग के पर्यवेक्षक को मौके पर भेजा गया है.

स्वैन ने कहा, हमें ब्लूटूथ के ज़रिये ईवीएम से जुड़ाव की बाबत शिकायत प्राप्त हुई. चुनाव आयोग के साथ मामले पर चर्चा करने के बाद हमने कलेक्टर और आयोग के पर्यवेक्षक को सबसे वरिष्ठ इंजीनियर के साथ मौके पर भेजा है. शिकायतकर्ता की मौजूदगी में जांच की जा रही है.

वहीं, ब्लूटूथ से कनेक्ट होने की शिकायत पर चुनाव आयोग के इंजीनियर ने कहा कि आप अपने डिवाइस का जो भी नाम रखेंगे वह आपको मोबाइल की स्क्रीन पर दिखेगा.

बहरहाल, भाजपा ने कहा कि मोढवाडिया की ओर से की गई शिकायत दिखाती है कि विपक्षी कांग्रेस कोई बहाना तलाश रही है, क्योंकि वह जानती है कि चुनावों में उसे करारी शिकस्त मिलने वाली है.

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, कांग्रेस के सदस्य कह रहे हैं कि ईवीएम में गड़बड़ी है. चुनाव आयोग को इस पर जवाब देना चाहिए. लेकिन हम कह सकते हैं कि नतीजे आने से पहले ही कांग्रेस बहाने तलाशने में जुट गई है, क्योंकि उसे चुनावों में अपनी हार दिखाई देने लगी है. वे ईवीएम के पीछे छिपने की कोशिश कर रहे हैं.

सूरत व अन्य केंद्रों में ईवीएम में आई तकनीकी खामियां

निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने बताया कि सूरत और कुछ अन्य केंद्रों में ईवीएम में तकनीकी खामियों की खबरें आई थीं हालांकि मशीनों को बदलने के बाद चुनाव प्रक्रिया फिर से शुरू कर दी गई.

गुजरात के लिए मुख्य निर्वाचन अधिकारी बीबी स्वैन ने कहा, ‘हमें कुछ जगहों से ईवीएम में खराबी की शिकायतें मिलीं और ऐसी सभी मशीनों को बदल दिया गया.’

ईवीएम की कार्यप्रणाली से जुड़े सवालों का चुनाव आयोग को जवाब देना चाहिए: उमर

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने चुनाव आयोग से कहा कि वह ईवीएम की विश्वसनीयता पर उठ रहे सवालों का जवाब दे. अब्दुल्ला ने ट्विटर पर लिखा, ‘ईवीएम से जुड़ी साजिश की बातों को मैं बेहद संशय की नजर से देखता रहा हूं लेकिन ईवीएम और उनके गलत न होने पर मेरा अटूट विश्वास अब दरकने लगा है.’

पूर्व मुख्यमंत्री गुजरात में कुछ मतदान केंद्रों पर ईवीएम मशीनों में गड़बड़ी की शिकायतों के संदर्भ में यह बातें कर रहे थे. उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि चुनाव आयोग कदम उठायेगा और मतदान मशीनों की विश्वसनीयता को लेकर उससे पूछे जा रहे सवालों का जवाब देगा.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)