भारत

जो लोग भारत से प्यार नहीं करते हैं, उन्हें भारत छोड़ देना चाहिए: संघ नेता

संघ के नेता इंद्रेश कुमार ने कहा कि कांग्रेस ने नेहरू के नेतृत्व में आज़ादी नहीं विभाजन दिया. कांग्रेस ने देश को आज़ादी दिलाई इससे बड़ा कोई असत्य नहीं है.

(फोटो साभार: फेसबुक)

(फोटो साभार: फेसबुक)

जयपुर: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नेता इंद्रेश कुमार ने कहा कि राष्ट्रध्वज तिरंगे का अपमान करने वालों के लिए देश में एक सख्त कानून बनना चाहिए.

रविवार को सिटी पैलेस में कश्मीर एवं धारा 370 की प्रासंगिकता एवं राष्ट्र निर्माण में युवाओं की भूमिका विषय पर आयोजित प्रबुद्ध जनगोष्ठी में इंद्रेश ने कहा कि जो लोग भारत से प्यार नहीं करते हैं, उन्हें भारत छोड़ देना चाहिए.

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने आज़ादी नहीं दिलाई जो एक ऐतिहासिक सत्य है. आज़ादी के समय तत्कालीन प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने जिन दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए थे, वे विभाजन के दस्तावेज थे.

ब्रिटिश सरकार ने विभाजन के दस्तावेज पेश किए थे, न कि स्वतंत्रता के. कांग्रेस ने तत्कालीन प्रधानमंत्री नेहरू के नेतृत्व में आज़ादी नहीं विभाजन दिया. कांग्रेस ने देश को आज़ादी दिलाई इससे बड़ा कोई असत्य नहीं है.

संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य इंद्रेश कुमार ने कहा कि उस समय के राजनेताओं ने भी विभाजन को स्वतंत्रता बताया था.

उन्होंने कहा कि दुनिया के किसी भी देश के संविधान में धारा 370 जैसी अस्थायी धारा नहीं है. जम्मू कश्मीर को अलग संविधान, नागरिकता, झंडा देकर अलगाववाद का बीज बो दिया गया.

उन्होंने आरोप लगाया कि जवाहरलाल नेहरू ने देश का विभाजन किया जबकि सरदार पटेल ने देश को जोड़ा था. कश्मीर की स्वतंत्रता के लिए कश्मीर के लोगों को मुध्य धारा में लाने की आवश्यकता है, वहां आतंकवाद को खत्म कर युवाओं को शिक्षित करने की आवश्यकता है.

उन्होंने कहा कि चीन की भारत को एक छोटे युद्ध के लिए धमकी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि हम चीन को युद्ध से नहीं संवाद से जवाब देंगे. भारत ने कूटनीतिक रूप से इतना दबाव बनाया कि बिना युद्ध के चीन को डोकलाम से पीछे हटना पड़ा.

उन्होंने कहा कि भारत चीन का खाद्यान्न, औषधि और कच्चे माल का सबसे बडा आपूर्तिकर्ता है और यदि इनकी आपूर्ति को रोक दिया जाए तो पांच साल बाद चीनी लोगों पर इसका प्रभाव दिखाई देने लग जायेगा.

पाकिस्तान में बढ़ रहे आंतरिक सुरक्षा के मुद्दे पर इंद्रेश कुमार ने कहा कि यह पाकिस्तान को तय करना या तो उसे चीन निगल जाये या उसके टुकडे़ होकर भारत में शामिल हो जाए.

अयोध्या में राम मंदिर के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि मंदिर बनेगा और सम्पत्ति राम लला की है. बस इस पर उच्चतम न्यायालय का निर्णय आना बाकी है.

भारत देव निर्मित माना जाता है, जबकि अन्य देश मानव निर्मित है: इंद्रेश

जयपुर: राष्ट्रीय स्वयं सेवक के अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य इंद्रेश कुमार ने कहा कि भारत देव निर्मित माना जाता है, जबकि अन्य देश मानव निर्मित है. उन्होंने कहा कि भारत दुनिया की श्रेष्ठतम संस्कृति में से एक है.

चाणक्य गण समिति की ओर से आयोजित मनु प्रतिष्ठा समारोह को संबोधित करते हुए इंद्रेश कुमार ने कहा कि दुनिया में ऐसे ग्रंथ बहुत सारे है जिसमें सत्य मिलता नहीं है, ढूंढना पड़ता है. राम, कृष्ण,द्रौपदी, कौशल्या की कोई जाति नहीं थी.

प्राचीन काल में जाति शब्द था ही नहीं. महापुरूषों को जाति में बांटकर अपराध मत करो, पाप मत करो, हम सत्य को असत्य में नहीं बदल सकते है.

उन्होंने कहा कि प्राचीन काल में गुण कर्म और प्रवृत्ति से वर्गीकरण होता था, उस समय जातिवाचक शब्द और धर्म नहीं थे. धर्म कट्टरता का पर्याय नहीं है.

उन्होंने कहा कि विभाजित सोने की चिड़िया के नाम से प्रसिद्ध विश्व गुरू भारत में कानून, धर्म, आचार संहिता या आचरण का ग्रंथ बाबा साहब आंबेडकर ने लिखा था, जिसमें छुआछूत को कोई स्थान नहीं दिया गया.

कार्यक्रम में बीकानेर के महंत संवित सोमगिरी, समता आंदोलन के अध्यक्ष पाराशर नारायण शर्मा, राजस्थान पुलिस सेवा के अधिकारी लोकेश सोनवाल और अधिवक्ता वेदपाल शास्त्री ने भी अपने विचार रखे.