भारत

सेना में ‘सहायक’ व्यवस्था पर सवाल उठाने वाले सैनिक की मौत

पिछले दिनों सेना की सहायक व्यवस्था की आलोचना करते वीडियो में दिखाए गए सैनिक का शव बैरक से बरामद हुआ है.

ARMY-SAHAYAK-DEAD_1

रॉय मैथ्यू

 

भारतीय सेना में सहायक सिस्टम का विरोध करने वाले सैनिक रॉय मैथ्यू की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. पिछले दिनों एक न्यूज़ वेबसाइट द्वारा ब्रिटिश राज के समय से सेना में चली आ रही सहायक व्यवस्था पर आलोचना करता हुआ वीडियो दिखाया गया था, रॉय मैथ्यू इस वीडियो का हिस्सा थे.

मूल रूप से केरल के रहने वाले रॉय महाराष्ट्र में नासिक के देवलाली छावनी में एक कर्नल के सहायक के रूप में तैनात थे. उनका शव एक बैरक में छत से लटका मिला. सहायक प्रणाली की आलोचना करता यह वीडियो 24 फरवरी को सामने आया था, जिसके बाद से रॉय काफ़ी परेशान थे और अगले ही दिन यानी 25 तारीख से बिना किसी सूचना के गायब थे. पुलिस को उनके गायब होने की सूचना दे दी गई थी. गुरुवार सुबह उनका शव देवलाली छावनी के एक खाली पड़े बैरक में मिला. शव की अवस्था काफी खराब थी, जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि उनकी मौत लगभग तीन दिन पहले हो चुकी थी.

इस वीडियो में एक सहायक द्वारा अधिकारी के कुत्ते को घुमाते हुए दिखाया गया था, हालांकि वीडियो में इस सहायक का चेहरा छिपा दिया गया था पर मीडिया में आई रिपोर्टों के अनुसार मैथ्यू ने अपने अधिकारी को ‘सॉरी’ लिखकर भेजा था. कहा जा रहा है कि उन पर जांच हो रही थी, जिसके कारण वे दबाव में थे. पर सेना का कहना है कि वीडियो में कोई चेहरा नहीं दिखाया गया था इसलिए किसी व्यक्ति पर कोई जांच होने जैसी कोई बात ही नहीं थी. वैसे इस न्यूज़ वेबसाइट से यह वीडियो हटा दिया गया है.

एएनआई से बात करते हुए मैथ्यू की पत्नी फ़िनी रॉय ने बताया, ‘मेरी जब उनसे आख़िरी बार बात हुई तब वे रो रहे थे और उन्होंने कहा कि सभी टीवी चैनल मेरा वीडियो चला रहे हैं. मैं जानना चाहती हूं कि उनके साथ क्या हुआ.’ मैथ्यू के पिता भी यही बात दोहराते हैं, ‘न हमारे पास पैसा है न ही कोई राजनीतिक प्रभाव, हमारी मदद के लिए भी कोई नहीं है पर मैं जानना चाहता हूं कि उसके साथ क्या हुआ?’

सेना की ओर से दिए गए बयान में कहा गया है कि हो सकता है कि अपने वरिष्ठों की ग़लत छवि बनने और उनके बारे ग़लत संदेश प्रसारित होने के अपराधबोध से क्षुब्ध होकर रॉय ने इतना बड़ा कदम उठाया हो.

पुलिस का कहना है कि पोस्टमॉर्टम के बाद ही मौत की वजह पता लग सकेगी. वहीं सेना द्वारा भी मैथ्यू की मौत की जांच के आदेश दे दिए गए हैं.