भारत

शादी के दिन शिक्षक दंपत्ति बर्ख़ास्त, स्कूल का दावा- रोमांस से छात्र प्रभावित होंगे

जम्मू कश्मीर: स्कूल अध्यक्ष ने कहा कि ये शिक्षक शादी से पहले रोमांटिक रिलेशनशिप में थे, जिसका छात्रों पर गलत असर पड़ता. अध्यापक ने कहा पक्ष रखने का मौका नहीं दिया गया.

Pahalgam Kashmir

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के पहलगाम जिले के एक निजी स्कूल में काम करने वाले एक युगल को स्कूल प्रबंधन ने उनकी शादी के दिन बर्खास्त कर दिया है. स्कूल प्रबंधन का दावा है कि उनका रोमांस छात्रों पर विपरीत असर डाल सकता है.

पहलगाम के त्राल शहर के रहने वाले तारीक भट और सुमाया बशीर पम्पोर मुस्लिम एजुकेशनल इंस्टीट्यूट की क्रमश: बालक एवं बालिका इकाई में कई सालों से काम कर रहे थे. उन्होंने आरोप लगाया कि 30 नवम्बर को स्कूल प्रबंधन ने उनकी सेवा को मनमाने तरीके से समाप्त कर दिया. इसी दिन उनकी शादी थी.

स्कूल के प्रधानाचार्य ने उनकी बर्खास्तगी पर टिप्पणी के लिए किए गए फोन कॉल्स का जवाब नहीं दिया, जबकि स्कूल के अध्यक्ष बशीर मसूदी ने कहा कि दोनों को सेवा से मुक्त कर दिया गया क्योंकि दोनों शादी से पहले से ही ‘रोमांटिक रिलेशनशिप’ में थे.

मसूदी ने समाचार एजेंसी भाषा से कहा, ‘वे रोमांस कर रहे थे और यह स्कूल के 2,000 विद्यार्थियों और वहां काम करने वाले स्टाफ के 200 सदस्यों के लिए अच्छा नहीं है. यह विद्यार्थियों पर विपरीत असर डाल सकता है.’

अन्य सवालों पर उन्होंने संवाददाता को स्कूल जाकर इस बारे में प्रधानाचार्य से बात करने को कहा.

वहीं भट का कहना है, ‘हमारी अरेंज मैरिज थी. कुछ महीने पहले हमारी मंगनी हुई थी और पूरा स्कूल प्रबंधन यह जानता था क्योंकि सुमाया ने मंगनी के बाद स्टाफ के सदस्यों को दावत दी थी.’

उन्होंने स्कूल प्रबंधन के रोमांटिक रिलेशनशिप के दावे पर सवाल करते हुए पूछा कि अगर यह मामला था तो उन्हें पक्ष रखने का मौका क्यों नहीं दिया गया.

भट ने कहा, ‘हम दोनों ने शादी के लिए एक महीने पहले छुट्टी के लिए आवेदन किया था और स्कूल प्रबंधन ने छुट्टी को मंजूरी दी थी. अगर रोमांटिक रिलेशनशिप में थे तो उन्हें यह तब पता चला जब हमने शादी की योजना बताई.’

दंपत्ति ने आरोप लगाया कि स्कूल प्रबंधन उनकी छवि खराब कर रहा है.