भारत

हार्दिक ने गुजरात में भाजपा पर बेईमानी और धनबल से चुनाव जीतने का आरोप लगाया

हार्दिक ने दावा किया, मतदान के दौरान कई जगह वाई-फाई नेटवर्क पकड़ा गया. कई स्थानों पर मतगणना से पहले ईवीएम की सील टूटी मिली.

हार्दिक पटेल. (फोटो: ट्विटर/हार्दिक)

हार्दिक पटेल. (फोटो: ट्विटर/हार्दिक)

नई दिल्ली/अहमदाबाद: पाटीदार अमानत आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने आज गुजरात में भारतीय जनता पार्टी पर ईवीएम में छेड़छाड़ कर बेईमानी और धनबल से चुनाव जीतने का आरोप लगाया है. पाटीदार अमानत आंदोलन के संयोजक ने चुनाव में कांग्रेस को समर्थन किया था.

गुजरात में दो चरणों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे सोमवार को जारी हुए हैं. नतीजों में भाजपा को स्पष्ट बहुत मिला है, जबकि प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस ने भी अपनी स्थिति में सुधार किया है. भाजपा को 99 जबकि कांग्रेस को 80 सीटें मिली हैं.

हार्दिक ने पटेल समुदाय को ओबीसी दर्जा दिलाने के लिए अपनी लड़ाई जारी रखने का भी ऐलान किया. उन्होंने अहमदाबाद में संवाददाताओं से कहा, मैं भाजपा को बधाई देता हूं जो ईवीएम में छेड़छाड़ कर जीती है. गुजरात के लोगों ने भाजपा को उखाड़ फेंकने का निर्णय किया था जबकि पार्टी ने धनबल और ईवीएम में छेड़छाड़ कर चुनाव में जीत दर्ज की है.

उन्होंने स्वीकार किया कि अहमदाबाद, राजकोट और सूरत की शहरी सीटों के नतीजे अपेक्षित नहीं रहे हैं. हार्दिक ने जोर देकर कहा कि इवीएम को भी एटीएम की तरह हैक किया जा सकता है.

उन्होंने दावा किया, ऐसे उदाहरण हैं जब मतदान के दौरान वाई-फाई नेटवर्क को पकड़ा गया था. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि आज कई स्थानों पर मतगणना से पहले ईवीएम की सील टूटी मिली.

हार्दिक ने कहा, मैं सभी राजनीतिक पार्टियों से आग्रह करता हूं कि ईवीएम के खिलाफ आंदोलन शुरू करें और मांग करता हूं कि अगला चुनाव सिर्फ मत पत्रों के जरिये हो.

उन्होंने कहा, ग्रामीण इलाकों के लोगों ने अपनी कोशिश की लेकिन मैं यह नहीं समझा हूं कि शहरी मतदाताओं ने क्या किया. अब मैं ग्रामीण इलाकों में और वक्त बिताऊंगा.

हार्दिक ने कहा कि सूरत की वाराछा रोड और कामरेज सीट जैसी कई सीटों पर भाजपा की जीत को पचा पाना मुश्किल है जहां पाटीदारों की अच्छी आबादी है. हार्दिक ने आरोप लगाया कि नतीजे बताते हैं कि भाजपा अनुचित तरीकों से जीती है.

उन्होंने कहा, कांग्रेस जीत सकती थी अगर वे (भाजपा) ऐसी बेईमानी नहीं करते. सुरक्षित खेल खेलते हुए भाजपा ने सिर्फ 100 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा ताकि कोई भी उनकी विजय सवाल नहीं करे.

उधर हार्दिक ने ट्विटर पर एक के बाद एक एक ट्वीट कर भाजपा पर बेईमानी से जीतने का आरोप लगाया. हार्दिक ने ट्वीट किया, मैं भाजपा को उसकी जीत के लिए अभिनंदन नहीं दूंगा, क्योंकि यह जीत बेईमानी से हुई है.

उन्होंने ट्वीट में कहा, गुजरात की जनता जागृत हुई है लेकिन और जागृत होना जरूरी है. हार्दिक ने कहा, ईवीएम के साथ छेड़छाड़ हुई है. यह हकीकत है.

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, जनता के अधिकारों की लड़ाई जारी रहेगी, आरक्षण, किसान और युवाओं की लड़ाई हम ईमानदारी से और सत्य के आधार पर लड़ेंगे, जो लड़ेगा वही जीतेगा. इंक़लाब जिंदाबाद.

हार्दिक ने कहा, यह कैसी जीत है जिसमें मुट्ठी भर लोगों को छोड़कर पूरा प्रदेश बेबस है. यह हैरान करने वाली बात है. मेरा गुजरात परेशान है.

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘हार्दिक नहीं हारा, बेरोज़गारी हारी है, शिक्षा की हार हुई है, स्वास्थ्य की हार हुई है, किसान की नम आंख हारी है. आम लोगों से जुड़ा हर मुद्दा हारा है एक उम्मीद हारी है. सच कहूं तो गुजरात की जनता हारी है. ईवीएम की गड़बड़ी जीत गई है.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)