भारत

कमला मिल हादसा: आरोपियों के ख़िलाफ़ लुकआउट नोटिस जारी, बीएमसी ने अवैध निर्माण पर चलाया बुलडोज़र

गुरुवार रात कमला मिल परिसर में हुए हादसे के बाद बीएमसी ने अपने सभी वार्डों को नोटिस जारी कर नए साल के जश्न के मद्देनज़र रेस्त्रों के सुरक्षा मानकों की जांच करने को कहा है.

फोटो: पीटीआई

फोटो: पीटीआई

मुंबई: मुंबई के कमला मिल कंपाउंड अग्निकांड मामले में पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी है. पुलिस की चार टीमें फरार आरोपियों पब ‘मोजो’ के मालिक युग पाठक, जिगर सांघवी और मैनेजर अभिजीत को तलाश कर रही हैं.

हादसे के एक दिन बाद बृह्नमुंबई नगर पालिका (बीएमसी) हरकत में आ गई है. बीएमसी की 25 टीमों ने शनिवार को अलग-अलग इलाके में अतिक्रमण अभियान चलाया. बीएमसी के कर्मचारियों ने कमला मिल इलाके में अतिक्रमण करने वालों के घरों और अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाया.

बीएमसी ने कमला मिल्स परिसर में लगी आग की घटना के बाद कम से कम पांच भोजनालयों और रेस्त्रों के खिलाफ कार्रवाई की है.

बीएमसी के एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की कि उन्होंने कमला मिल्स में दो रेस्त्रों स्काईवियू कैफ और सोशल की अवैध छतों को ढहा दिया और इसी क्षेत्र में रघुवंशी मिल्स में प्रणय, फयूमेस और शीशा स्काई लांज के अतिक्रमण को हटा दिया है. अधिकारी ने बताया कि अंधेरी में भी कुछ रेस्तरां के खिलाफ कार्रवाई की गई है.

वहीं, पब में भयंकर आग के बाद दमकल अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि वह इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या आग एक बार टेंडर के आग का स्टंट दिखाने के दौरान लगी या हुक्का के लिए कोयला जलाने से या शॉर्ट सर्किट से लगी.

फोटो: पीटीआई

फोटो: पीटीआई

मालूम हो कि मध्य मुंबई के व्यावासायिक क्षेत्र लोवर परेल में कमला मिल्स परिसर में ट्रेड हाउस इमारत की परी मंजिल पर 1 एबव पब में शुक्रवार को आधीरात के बाद साढ़े 12 बजे आग लगी. इस घटना में दम घुटने से 14 लोगों की मौत हो गई थी.

दमकल विभाग के एक अधिकारी ने कहा, ‘हम इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या पब में बारटेंडर द्वारा आग का स्टंट करने के दौरान आग के प्लास्टिक शीट के संपर्क में आने से यह घटना घटी. यह पब बांस से बना हुआ है. हम यह भी पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या बगल वाले रेस्त्रां में हुक्का के लिए कोयला जलाने से आग लगी.’

उन्होंने कहा कि शॉर्ट सर्किट समेत आग लगने की सभी संभावनाओं की जांच की जा रही है.

पुलिस ने पब चलाने वाले हृतेश सांघवी, जिगर सांघवी और अभिजीत मनका पर विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है. आग लगने के बाद कुछ लोग सुरक्षित निकलने में कामयाब रहे जबकि अन्य लोग आग लगने और धुएं के कारण रास्ता बंद होने की वजह से बाहर नहीं निकल पाए. कई घबराए लोग शौचालय की ओर भागे जहां दम घुटने से उनकी मौत हो गई.

PTI12_29_2017_000024B

फोटो: पीटीआई

नये साल के जश्न के दौरान सभी रेस्त्रों में सुरक्षा मानकों का पालन सुनिश्चित करेगा बीएमसी

नए साल के जश्न को देखते हुए महाराष्ट्र की निकाय संस्था ने अपने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे टीमों का गठन कर यह सुनिश्चित करें कि सभी रेस्त्रों में आग लगने से बचने के मानकों का पालन किया जा रहा है.

निकाय प्रमुख अजय मेहता ने सभी सहायक नगरपालिका आयुक्तों एवं बृहन्मुंबई महानगरपालिका बीएमसी के उपायुक्तों को भेजे अपने संदेश में कहा कि सभी क्षेत्रीय उपायुक्त एवं वार्ड अधिकारियों से अनुरोध किया जाता है कि वे भवन एवं फैक्टरी विभागों के कर्मचारियों, चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी एवं दमकल विभाग के कर्मचारियों को मिलाकर एक टीम का गठन करें.

संदेश में कहा गया है कि यह दल सभी रेस्त्रों में अपने संबंधित वार्डों की जांच करेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि वहां आग लगने से बचने के पुख्ता इंतजाम हैं या नहीं.

इसमें कहा गया है कि परिसरों में आग लगने से बचने के लिये मार्ग, सीढ़ियां होनी चाहिए और यह भी सुनिश्चित होना चाहिए कि वहां खुली जगह अतिक्रमण से मुक्त हो.

फोटो: पीटीआई

फोटो: पीटीआई

मुंबई निकाय संस्था ने जी-साउथ वार्ड से संबद्ध कर्मचारियों सहित पांच अधिकारियों को ड्यूटी में लापरवाही बरतने के कारण शुक्रवार को निलंबित कर दिया था.

इस बीच बीएमसी में सत्ताधारी शिवसेना ने शनिवार को अपने मुखपत्र सामना में आग से सुरक्षा के मुद्दे पर दुनिया भर में प्रशासनों के ढुलमुल रवैये पर खेद जताया और संपादकीय में मक्का, लंदन में हुई आग लगने की घटनाओं का भी जिक्र किया.

पार्टी ने माना कि बीते दो वर्ष में मुंबई में आग लगने की घटनाएं बढ़ी हैं. इसमें कहा गया है, जिन जगहों पर आग लगने की घटना हुई उन परिसरों के मालिकों के साथ निकाय अधिकारियों एवं कर्मचारियों की साठगांठ के नतीजतन कई लोगों की जानें गयीं, जिन पर काफी चर्चा भी हुई.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)