मीडिया

दो निर्दोष युवाओं को आतंकी बताने पर समाचार चैनल पर मामला दर्ज

9 जनवरी को सुरक्षा बल के साथ मुठभेड़ में आतंकी फरहान वई की मौत होने पर चैनल ने दो निर्दोष युवाओं को इस ख़बर में आतंकी बताया था.

प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स

प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के कुलगाम जिले के दो निर्दोष युवाओं के फोटो प्रसारित कर उन्हें आतंकी बताने के लिए एक निजी समाचार चैनल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘वी6 समाचार चैनल पर प्रसारण के संदर्भ में बता दें कि त्वरित चैनल ने वानीगुंड में मारे गए आतंकी फरहान वई की जगह 12वीं के छात्र फरहान शफी और डिप्लोमा धारक फरहत राशिद जैसे निर्दोष युवाओं की तस्वीर दिखाई गई.’

उन्होंने बताया कि सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच अनंतनाग जिले के कोकेरनाग के लार्नू गांव में नौ जनवरी को हुई मुठभेड़ में वानीगुंड के रहने वाले आतंकी फरहान वई को मार गिराया गया था. पुलिस प्रवक्ता के अनुसार इस न्यूज चैनल ने उसी दिन एक खबर में इन दोनों निर्दोष किशोरों को आतंकी के रूप में दिखाया था.

इसके बाद पुलिस ने इसका संज्ञान लेकर मामला दर्ज किया. पुलिस ने बताया कि इस मामले की जांच जारी है.

केंद्र का राज्यों को चैनलों की सामग्री की निगरानी का निर्देश

नई दिल्ली: केंद्र ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से निजी सैटेलाइट टेलीविजन चैनलों, एफएम और सामुदायिक रेडियो चैनलों द्वारा नियमों के उल्लंघन की निगरानी करने के लिए समितियां गठित करने को कहा है.

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में संयुक्त सचिव मनोज कुमार पिंगुआ ने एक पत्र में कहा कि यह देखा गया है कि कुछ राज्यों द्वारा राज्य एवं जिला स्तरीय निगरानी समितियां गठित करना अभी बाकी है. उन्होंने यह भी कहा कि कुछ गठित समितियां ‘सक्रिय रूप से काम नहीं कर रही हैं.’

उन्होंने मंत्रालय की वेबसाइट पर डाले गए पत्र में कहा, ‘यह दोहराया जाता है कि जहां भी ऐसी समितियों का गठन नहीं हुआ है, उनका जल्द गठन किया जाए और सुनिश्चित हो कि वे प्रभावी तरीके से काम करें.’

उन्होंने कहा कि निगरानी समितियों को गठन 19 राज्यों, पांच केंद्र शासित प्रदेशों और 327 जिलों में किया गया है.

Comments