भारत

बजाज आॅटो के महाराष्ट्र स्थित अकुर्दी और चाकन कारखानों के कर्मचारी भूख हड़ताल पर

कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल की मुख्य वजह 2013-14 में दुर्व्यवहार की विभिन्न घटनाओं को लेकर बर्खास्त किए गए आठ वर्कमैन का लंबित मुद्दे को बताया है.

(फोटो साभार: विकिपीडिया)

(फोटो साभार: विकिपीडिया)

नई दिल्ली: बजाज आॅटो के महाराष्ट्र स्थित अकुर्दी तथा चाकन विनिर्माण कारखानों के कर्मचारी अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर चले गए हैं. कंपनी ने मंगलवार को यह जानकारी दी है.

इससे पहले कंपनी को इसी महीने उसकी कर्मचारी यूनियन ‘विश्व कल्याण कामगार संगठन’ द्वारा दो संयंत्रों में 29 जनवरी से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल का नोटिस मिला था.

शेयर बाजारों को भेजी सूचना में बजाज आॅटो ने कहा है कि पत्र में अनिश्चिकालीन भूख हड़ताल की जो मुख्य वजह बताई गई है वह 2013-14 में दुर्व्यवहार की विभिन्न घटनाओं को लेकर बर्खास्त किए गए आठ वर्कमैन का लंबित मुद्दा है.

इसके अलावा उन छह बर्खास्त कर्मचारियों की बहाली की भी मांग की गई है. कंपनी के मुताबिक इन कर्मचारियों ने अदालत के आदेश के बावजूद स्थानांतरण प्रतिनियुक्ति वाली जगहों पर ड्यूटी पर नहीं पहुंचे. इसके अलावा कर्मचारियों ने वेतन समीक्षा प्रक्रिया को पूरा करने की मांग की है. यह प्रक्रिया एक अप्रैल, 2016 से लंबित है.

दोपहिया वाहन कंपनी ने कहा कि यह मामला औद्योगिक अदालत पुणे तथा बॉम्बे हाईकोर्ट में लंबित है.

मनी कंट्रोल के अनुसार बजाज ऑटो का कहना है, मजदूरी की समीक्षा में काफी प्रगति होने के बावजूद, मज़दूर यूनियन ने अनुचित और अवास्तविक मांग के लिए भूख हड़ताल को चुना.’

बजाज ऑटो ने यह भी दावा किया है कि दोनों कारखानों में काम सामान्य चल रहा है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)