कैंपस

‘पश्चिमी संस्कृति’ से बचने के लिए लखनऊ विश्वविद्यालय का वैलेंटाइन डे पर छुट्टी का ऐलान

विश्वविद्यालय के प्रॉक्टर ने नोटिस जारी कर कहा है कि पश्चिमी संस्कृति से प्रभावित छात्र-छात्राएं वैलेंटाइन डे मनाते हैं, इसलिए 14 फरवरी को यूनिवर्सिटी परिसर महाशिवरात्रि के अवसर पर पूरी तरह बंद रहेगा.

Lucknow University

फोटो: lkouniv.ac.in

लखनऊ: वैलेंटाइन डे के विरोध ने एक नया रूप ले लिया है. 14 फरवरी को लखनऊ विश्वविद्यालय बंद रहेगा. विश्वविद्यालय ने नोटिस कर कहा है कि वे उस दिन परिसर में न आएं. विश्वविद्यालय का कहना है कि महाशिवरात्रि के मौके पर परिसर बंद रहेगा.

विश्वविद्यालय के प्रॉक्टर विनोद सिंह ने दस फरवरी को जारी नोटिस में कहा, ‘मैं पूर्व के वर्षों से देखता आ रहा हूं कि पश्चिमी संस्कृति से प्रभावित कुछ छात्र छात्राएं 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे मनाते हैं. हम विश्वविद्यालय के सभी विद्यार्थियों को सूचित करना चाहते हैं कि विश्वविद्यालय परिसर 14 फरवरी को महाशिवरात्रि के मौके पर बंद रहेगा. कोई एक्स्ट्रा क्लास, प्रैक्टिकल या सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होगा. छात्र-छात्राएं 14 फरवरी को परिसर में न आएं.’

नोटिस में यह भी कहा गया है कि हम छात्र छात्राओं के माता पिता से अपील करते हैं कि वे अपने बच्चों को विश्वविद्यालय न भेजें. जो लोग परिसर में घूमते या बैठे नजर आयेंगे, उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई होगी.

एनडीटीवी  के अनुसार विश्वविद्यालय प्रशासन के फैसले की बड़े पैमाने पर छात्रों ने निंदा करते हुए छोटी सोच कहा है. एक छात्र ने कहा, ‘छुट्टी का ऐलान कर दिया, लेकिन विश्वविद्यालय में आने से रोकने का फैसला गलत है. अगर हम नहीं आएंगे, तो कौन आएगा.’

लखनऊ विश्वविद्यालय में पिछले साल भी वैलेंटाइन डे पर विवाद हुआ था. प्रशासन ने छात्रों को गिफ्ट और फूल लाने से रोका था और इसके पीछे तर्क दिया था कि महिलाओं के साथ हो रही छेड़छाड़ को रोकने के लिए फैसला लिया गया है.

लखनऊ विश्वविद्यालय के कुलपति एसपी सिंह सिंह ने कहा, ‘हमने कारण बहुत स्पष्ट बताया है. बाहरी लोग विश्वविद्यालय में नहीं आने चाहिए और हमारे छात्रों को परेशान नहीं करना चाहिए. ये कानून व्यवस्था का मामला है.’

वहीं दूसरी ओर टाइम्स ऑफ़ इंडिया की खबर के अनुसार मुज़फ़्फरनगर में शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने लाठी पूजा का आयोजन कर कहा है कि 14 फरवरी वैलेंटाइन डे के दिन सड़कों और पार्कों में प्रेमी जोड़ों की पिटाई करेंगे.

शिवसेना उत्तर प्रदेश के उप नेता ललित मोहन शर्मा ने कहा, ‘हमारे कार्यकर्ता होटल और रेस्टोरेंट की जांच करेंगे. हमने होटल मालिकों को भी चेतावनी दे दी है कि वैलेंटाइन डे का आयोजन नहीं होना चाहिए वरना तोड़-फोड़ में हुए नुकसान के जिम्मेदार खुद होटल मालिक होंगे.’

डेक्कन क्रॉनिकल की खबर के अनुसार हैदराबाद में बजरंग दल ने होटल मालिकों की चेतावनी दी है कि वैलेंटाइन डे के दिन कोई विशेष कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाना चाहिए.

उन्होंने उन दुकानों की भी चेतावनी दी है, जो वैलेंटाइन डे के लिए तोहफ़ा बेचते हैं.

बजरंग दल के नेता विशाल प्रसाद का कहना है कि वैलेंटाइन डे विदेशी सभ्यता है और युवा भारतीय सभ्यता को भूल इस तरह की सभ्यता को अपना कर अपना जीवन बर्बाद कर रहे हैं.

हालांकि हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार विश्व हिंदू परिषद के अंतराष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने इस बार वैलेंटाइन डे का समर्थन किया है.

तोगड़िया ने रविवार को चंडीगढ़ के एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘प्रेम नहीं करेंगे तो विवाह कैसे होगा? विवाह नहीं होगा तो सृष्टि कैसे चलेगी? युवा और युवतियों को प्रेम करने का अधिकार है और उन्हें ये अधिकार मिलना चाहिए.’

उन्होंने आगे कहा, ‘मैंने संदेश दे दिया है कि हमारी बेटी को भी प्यार करने का हक है और हमारी बहन को भी प्यार करने का अधिकार है.’

विहिप और बजरंग दल संगठन कई साल से वैलेंटाइन डे को भारत और हिंदू विरोधी कहते आए हैं और देश भर में इसके खिलाफ प्रदर्शन तथा प्रेमी जोड़ों की पिटाई के मामले भी सामने आए हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा इनपुट के साथ)

Comments