राजनीति

अरविंदर सिंह लवली भाजपा से वापस कांग्रेस में शामिल

पिछले साल दिल्ली नगर निगम चुनाव के दौरान टिकट बंटवारे को लेकर नाराज अरविंदर सिंह लवली भाजपा में शामिल हो गए थे.

अरविंदर सिंह लवली. (फोटो साभार: एएनआई)

अरविंदर सिंह लवली. (फोटो साभार: एएनआई)

नई दिल्ली: दिल्ली कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली शनिवार को फिर कांग्रेस में शामिल हो गए. पिछले साल उन्होंने भाजपा में शामिल होने के लिए कांग्रेस पार्टी छोड़ दी थी.

कांग्रेस में दोबारा शामिल होने के दौरान लवली ने कहा कि वहां (भाजपा) वह ‘वैचारिक रूप से बेमेल’ थे. समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में उन्होंने ने कहा, ‘भाजपा में जाने का निर्णय लेना मेरे लिए कोई खुशी का निर्णय नहीं था. पीड़ा में लिया हुआ फैसला था वो. वैचारिक रूप से मैं वहां मिसफिट था.’

उन्होंने शनिवार को पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की. इस अवसर पर उनके साथ दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन भी थे. राहुल ने पार्टी में उनका स्वागत किया.

लवली के पार्टी में आने की घोषणा एआईसीसी में दिल्ली प्रभारी पीसी चाको और माकन ने संवाददाता सम्मेलन में की. लवली ने कहा कि उन्होंने जब पार्टी छोड़ी तो उन्हें कभी अच्छा नहीं लगा.

पीसी चाको ने लवली का पार्टी में एक बार फिर से स्वागत किया. संवाददाताओं से लवली ने कहा, ‘मैं भाजपा में वैचारिक रूप से बेमेल था. मैं जब पार्टी में शामिल हुआ तो उसके अगले दिन ही मैं इस बात को जान गया था.’

 

माना जा रहा है कि भाजपा में शामिल होने के कई महीनों बाद तक पार्टी में कोई बड़ी ज़िम्मेदारी नहीं मिलने से वह नाराज़ चल रहे थे.

लवली की पार्टी में वापसी दिल्ली में 20 आप विधायकों के अयोग्य ठहराए जाने के बाद होने वाले संभावित उपचुनाव से पहले पार्टी को एकजुट करने के प्रयासों के रूप में देखा जा रहा है.

कांग्रेस की ओर से चार बार विधायक रहे लवली दिल्ली की शीला दीक्षित सरकार में शिक्षा, शहरी विकास, पर्यटन और परिवहन मंत्री रह चुके हैं. 1998 में पहली बार दिल्ली के गांधी नगर से विधायक बने थे.

लवली को शीला दीक्षित का करीबी माना जाता है. शीला ने भी लवली के पार्टी में आने का स्वागत किया है.

दिल्ली नगर निगम के चुनाव के दौरान टिकट के बंटवारे को लेकर अरविंदर सिंह लवली ने पिछले साल चार अप्रैल को कांग्रेस छोड़ भाजपा में शामिल हो गए थे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments