भारत

हरियाणा में दो हफ़्तों के दौरान ऑनर किलिंग के चार मामलों में चार की हत्या

हरियाणा के जींद, महेंद्रगढ़, सोनीपत और झज्जर ज़िलों में हुई वारदात. चार अलग-अलग घटनाओं में दो युवक और दो युवतियों की हत्या कर दी गई.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

जींद: हरियाणा में बीते दो हफ़्तों के दौरान आॅनर किलिंग के कुल चार मामले सामने आ चुके हैं. राज्य के विभिन्न ज़िलों में हुईं इन वारदातों में चार लोगों की हत्या की जा चुकी है. जींद के अलावा राज्य के महेंद्रगढ़, सोनीपत और झज्जर ज़िलों से भी ऑनर किलिंग की अलग-अलग घटनाएं सामने आ चुकी हैं.

आॅनर किलिंग का ताज़ा मामला जींद ज़िले के कंडेला गांव में सामने आया है. बीते रविवार की सुबह हरियाणा पुलिस ने श्मशान घाट से एक लड़की के जले हुए शव के अवशेष बरामद किए हैं.

सदर थाना प्रभारी दिनेश कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि लड़की की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई. बिना पोस्टमार्टम के उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया. मौत का कारण प्रेम-प्रसंग बताया जा रहा है.

फिलहाल मृतक लड़की के पिता को नामजद कर कुछ अन्य के खिलाफ हत्या सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. मामले की जांच की जा रही है.

दैनिक भास्कर की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस को किसी व्यक्ति द्वारा कंडेला गांव में हुई ऑनर किलिंग की सूचना रविवार सुबह फोन पर दी गई. करीब 10 बजे जब पुलिस पहुंची तो मृतक लड़की के परिजन अंतिम संस्कार कर चुके थे. पुलिस ने आस-पड़ोस के लोगों से पूछताछ शुरू की, लेकिन किसी ने भी पुलिस को घटना के बारे में जानकारी नहीं दी.

परिजनों ने पुलिस को बताया कि किशोरी पिछले तीन-चार दिन से बीमार थी, जिससे रविवार सुबह उसकी मौत हो गई. इसके बाद पुलिस ने गांव के सरपंच अजमेर से बातचीत की तो मामला ऑनर किलिंग का पाया.

इसके बाद फायर ब्रिगेड को भी बुलाया गया. जींद के सदर थाना प्रभारी दिनेश कुमार ने बताया कि इसके बाद पुलिस ने मृतका के पिता के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है. जांच के लिए लड़की की चिता से भी नमूने लिए गए.

पुलिस की प्रारंभिक पड़ताल में सामने आया है कि मृतका के पिता सुरेश कुमार की पड़ोस में रहने वाले युवक से पहले भी कहासुनी हो चुकी थी, लेकिन इसके बाद भी युवक का किशोरी के साथ प्रेम प्रसंग जारी रहा. यह सब आरोपी सुरेश कुमार को बर्दाश्त नहीं हुआ. दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार सुरेश ने अपनी 16 वर्षीय बेटी की ज़हर देकर हत्या कर दी और सबूत मिटाने के लिए उसका अंतिम संस्कार कर दिया.

गौरतलब है कि दो हफ्ते पहले बीते फरवरी माह में राज्य के महेंद्रगढ़, सोनीपत और झज्जर जिले से भी ऑनर किलिंग की अलग-अलग घटनाएं सामने आई थीं.

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार 21 फरवरी को महेंद्रगढ़ ज़िले के एक गांव में 11वीं कक्षा के छात्र की हत्या उसकी कथित प्रेमिका के भाई और उसके कुछ दोस्तों ने कर दी.

दैनिक भास्कर में प्रकाशित रिपोर्ट.

दैनिक भास्कर में प्रकाशित रिपोर्ट.

बुधवार 21 फरवरी को महेंद्रगढ़ ज़िले के इसराना गांव में 11वीं में पढ़ने वाले एक छात्र की पीट-पीट कर हत्या उसकी कथित प्रेमिका के भाई और उसके कुछ दोस्तों ने कर दी. घटना का पता किशोरी को चलने के बाद वह शव के पास आकर रोई थी.

दैनिक भास्कर से बातचीत में पुलिस ने बताया कि 21 फरवरी को 11वीं में पढ़ने वाला 18 वर्षीय छात्र प्रदीप स्कूल जाते समय अपनी कक्षा की एक किशोरी से बात कर रहा था. दोनों को बातचीत करते हुए देखकर एक अन्य युवक ने इसकी जानकारी किशोरी के भाई प्रीतम को दे दी.

पुलिस के अनुसार, इसके कुछ समय बाद एक युवक प्रदीप को क्लास से बुलाकर बाहर ले आया. प्रदीप को किशोरी का भाई प्रीतम अपने एक दोस्त गौरव के साथ बाइक पर बिठाकर स्कूल से कुछ दूर ले गया.

दोनों प्रदीप को एक खेत में ले गए और लाठी-डंडों से उसकी जमकर पिटाई की, जिससे उसकी मौत हो गई. दैनिक भास्कर से बातचीत में डीएसपी विनोद कुमार ने बताया कि मामला प्रेम प्रसंग का है. मृतक प्रदीप के भाई की शिकायत पर किशोरी के भाई समेत चार लोगों के ख़िलाफ़ केस दर्ज कर लिया गया है.

इससे पहले राज्य के सोनीपत ज़िले में भी आॅनर किलिंग का एक मामला सामने आया. दैनिक भास्कर की ही रिपोर्ट के अनुसार, बीती 20 फरवरी को ज़िले के खरखौदा थाना क्षेत्र के मटिंडू गांव में 21 साल के युवक दीपक की गोली मारकर हत्या कर दी गई है.

दीपक के पिता ने आरोप लगाया है कि गांव की एक लड़की उससे फोन पर बात करती थी. इसलिए लड़की के परिजनों ने रंजिश में उनके बेटे की हत्या कर दी.

दैनिक भास्कर से बातचीत में खरखौदा थाना प्रभारी ने बताया कि लड़की के पिता सुधीर, चाचा और पूर्व सरपंच रहे जागेंद्र, ताऊ के लड़के और मौजूदा सरपंच राकेश और बीएसएफ में कार्यरत विकास के ख़िलाफ़ केस दर्ज कर लिया है.

फरवरी में ही आॅनर किलिंग का एक और मामला राज्य के झज्जर ज़िले में बहादुरगढ़ के लुकवास गांव में सामने आया था.

21 और 22 फरवरी की दरम्यानी रात में बीए फाइनल में पढ़ने वाली एक युवती की हत्या कर उसके पिता और अन्य रिश्तेदारों ने चुपचाप उसका अंतिम संस्कार कर दिया. युवती के पिता की पहचान अजय सिंह के रूप में हुई.

टाइम्स आॅफ इंडिया से बातचीत में बहादुरगढ़ सदर पुलिस थाने के एसएचओ जसबीर सिंह ने बताया अंतिम संस्कार को रोक न पाने की वजह से 22 फरवरी की सुबह को पुलिस ने राख और लड़की के शव के अवशेष को एकत्र कर लिया गया है.

उन्होंने बताया कि अजय सिंह और उनके रिश्तेदारों के ख़िलाफ़ हत्या और सबूत मिटाने का केस दर्ज कर लिया है. हत्या की जानकारी गांव के ही एक व्यक्ति ने दी थी.

टाइम्स आॅफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, गांव के लोगों ने बताया कि लड़की के पिता ने बताया कि शाम का घर लौटने के बाद काजल परेशान नज़र आ रही थी. वह सीधे अपने कमरे में चली गई और फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. बाद में परिवारवालों ने बिना पोस्टमॉर्टम के शव का अंतिम संस्कार कर दिया.

बताया जा रहा है काजल कथित तौर पर किसी के साथ प्रेम संबंध में थी और परिवारवालों को इसका पता चल गया जिसके बाद यह घटना सामने आई.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments