दुनिया

भारत से ज़्यादा खुशहाल देश है पाकिस्तान: विश्व खुशहाली सूचकांक

संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी सूचकांक में भारत 133वें पायदान पर है, जबकि पाकिस्तान 75वें पायदान पर है. सार्क देशों में अफगानिस्तान को छोड़ दिया जाए तो सभी देश भारत से अधिक खुशहाल हैं.
India Map

लंदन: संयुक्त राष्ट्र की ओर से जारी नवीनतम वार्षिक विश्व खुशहाली सूचकांक रिपोर्ट में भारत को पाकिस्तान और बांग्लादेश सहित अपने अन्य पड़ोसी देशों से भी नीचे 133 वां स्थान मिला है.

रिपोर्ट में फिनलैंड सबसे खुशहाल देश रहा और इसके बाद नॉर्वे और डेनमार्क का नाम है. खुशहाली के मामले में सबसे अंतिम पायदान पर बुरूंडी का नाम है.

संयुक्त राष्ट्र के सतत् विकास समाधान नेटवर्क (एसडीएसएन) की ओर से तैयार रिपोर्ट के मुताबिक भारत 0.698 अंक की गिरावट के साथ पिछले साल के अपने 122 वें स्थान से नीचे लुढ़क गया.

विश्व खुशहाली दिवस 20 मार्च को मनाया जाता है, जिसके पहले अर्थशास्त्रियों द्वारा आर्थिक, स्वास्थ्य और मतदान से संबंधित आंकड़े जुटाकर यह रिपोर्ट जारी की गई है. इस छठी विश्व खुशहाली रिपोर्ट में पलायन को बड़ा मुद्दा माना गया है.

रिपोर्ट में कहा गया है, ‘वैश्वीकरण के बढ़ने के साथ दुनिया भर में लोग एक जगह से दूसरी जगह जा रहे हैं और इसमें से अधिकतर प्रवासी खुशहाल जिंदगी चाहते हैं.’

रिपोर्ट के मुताबिक, देशों के बीच खुशहाली में बड़ा अंतराल है और इससे प्रवासियों पर बड़ा दबाव बना रहेगा. देशों के बीच प्रवास करने वालों में कुछ को फायदा होगा जबकि अन्य को नुकसान झेलना पड़ेगा.

भारत की स्थिति की बात करें तो सार्क (दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन) देशों में अफगानिस्तान को छोड़ दिया जाए तो सभी भारत से आगे हैं.

रिपोर्ट में 156 देशों को शामिल किया गया है. पाकिस्तान, भारत से 58 पायदान ऊपर 75वें स्थान पर है. भूटान 97वें और चीन 86वें स्थान पर है.

नेपाल, बांग्लादेश और श्रीलंका को क्रमश: 101, 115 और 116वां स्थान मिला है. अमेरिका और ब्रिटेन क्रमश: 18वें और 19वें स्थान पर रहे.

हर साल के साथ भारत की रैंकिंग में गिरावट देखी जा रही है. बीते वर्ष भारत 4 पायदान नीचे लुढ़ककर 122वें स्थान पर पहुंचा था. उससे पहले वह 118वें पायदान पर था. इस बार 11 पायदान नीचे खिसका है.

फिनलैंड दुनिया का सबसे खुशहाल देश है. नॉर्वे, जो कि पिछले साल इस रिपोर्ट में खुशहाली के मामले में पहले पायदान पर रहा था, वह एक पायदान नीचे खिसककर दूसरे पायदान पर पहुंच गया है. इसके बाद क्रमश: डेनमार्क, आइसलैंड और स्विट्ज़रलैंड का नंबर आता है. वहीं, अमेरिका इस साल 4 स्थान नीचे गिरकर 18वें स्थान पर पहुंच गया है.

156 देशों में किए गए सर्वेक्षण में बुरुंडी देश के लोग अपने जीवन से सर्वाधिक नाखुश हैं. इसके बाद केंद्रीय अफ्रीकन गणराज्य(155), दक्षिणी सूडान(154), तंजानिया(153) और यमन(152) का नंबर आता है.

गौरतलब है कि भारत की यह स्थिति तब है जब कई राज्य सरकारें अपने यहां खुशहाली मंत्रालय स्थापित कर रही हैं. मध्य प्रदेश और आंध्र प्रदेश के बाद अब यही पहल महाराष्ट्र में भी की जा रही है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments