भारत

स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़ा है गुजरात: नीति आयोग

नीति आयोग उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा, ‘शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में गुजरात की उपलब्धियां उसकी अन्य क्षेत्रों की उपलब्धियों की तरह नहीं हैं.’

Vijay Rupani Pti

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटो: पीटीआई)

गांधीनगर: नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने रविवार को कहा कि गुजरात ने औद्योगीकरण में काफी अच्छा काम किया है, लेकिन स्वास्थ्य एवं शिक्षा के क्षेत्रों में इसे अभी और काम करने की जरूरत है.

कुमार ने यहां मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की. मुख्यमंत्री एवं अधिकारियों से मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में गुजरात की उपलब्धियां औद्योगिकीकरण, बुनियादी ढांचे और ऊर्जा जैसे क्षेत्रों की उपलब्धियों की तरह नहीं है. यह स्वास्थ्य एवं शिक्षा क्षेत्रों में पीछे है. मैंने राज्य सरकार से इस बारे में बात की.’

कुमार ने कहा कि उन्हें सरकार से यह जानकर खुशी हुई कि 2018-19 के लिए शिक्षा एवं स्वास्थ्य पर बजटीय आवंटन बढ़ाया गया है.

उन्होंने कहा कि गुजरात इस साल स्वास्थ्य के क्षेत्र में बड़ी सफलता की योजना बना रहा है और जिला कलक्टरों से कहा गया है कि वे बाल कुपोषण एवं मातृ मृत्यु अनुपात की तरफ विशेष ध्यान दें.

कुमार ने कहा कि नीति आयोग प्रस्तावित तटीय आर्थिक क्षेत्रों की स्थापना में गुजरात की मदद करेगा. तटीय आर्थिक क्षेत्रों का मकसद राज्य के तट के पास आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देना है.