भारत

क्या नरेंद्र मोदी ऐप यूज़र्स की बिना सहमति के अमेरिकी कंपनी से उनकी निजी जानकारी शेयर कर रहा है?

एक फ्रेंच सिक्योरिटी रिसर्चर इलियट एल्डरसन ने नरेंद्र मोदी एंड्रॉयड ऐप पर थर्ड पार्टी से यूज़र्स की निजी जानकारी साझा करने का आरोप लगाया है.

Namo App Collage

नरेंद्र मोदी ऐप (फोटो साभार: गूगल प्ले स्टोर)

विभिन्न सोशल मीडिया मंचों द्वारा उपयोगकर्ताओं की निजी जानकारी का गलत इस्तेमाल करने की खबरों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऐप पर भी यूजर्स के निजी डाटा को अवैध रूप से एक अमेरिकी कंपनी से साझा करने का आरोप लगा है.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार, फ्रेंच सिक्योरिटी रिसर्चर इलियट एल्डरसन ने आरोप लगाया है कि नरेंद्र मोदी एंड्रॉयड ऐप प्रोफाइल बनाने पर ली गई जानकारी एक अमेरिकी थर्ड पार्टी कंपनी से शेयर कर रहा है.

इलियट एल्डरसन ने शुक्रवार देर रात ट्विटर पर कई ट्वीट करते हुए लिखा कि जब कोई यूजर नरेंद्र मोदी ऐप पर प्रोफाइल बनाता है, तब उसकी डिवाइस की जानकारी के साथ उसकी निजी जानकारी एक थर्ड पार्टी डोमेन in.wzrkt.com के साथ शेयर की जाती है, जो कि एक अमेरिकी कंपनी क्लेवर टैप से संबद्ध है.

उनके अनुसार, साझा की जा रही डिवाइस की जानकारी में ऑपरेटिंग सॉफ्टवेयर, नेटवर्क टाइप, कैरियर जैसी जानकारियां आती हैं. वहीं क्लेवर टैप को दी जा रही निजी जानकारी में यूजर की ईमेल आईडी, फोटो, नाम, जेंडर आदि की जानकारी है, जो बिना यूजर्स की सहमति के इस कंपनी से साझा की जा रही है.

उन्होंने बताया कि नरेंद्र मोदी ऐप इस जानकारी को इकठ्ठा करके in.wzrkt.com. नाम के डोमेन से शेयर करता है. उन्होंने यह भी बताया कि इस डोमेन को जी-डेटा (G-Data) कंपनी ने फिशिंग लिंक के रूप में क्लासीफाई कर रखा है.

यहां यह जान लेना जरूरी है कि फिशिंग लिंक वो वेबसाइट होती हैं जो आपको असल होने का यकीन दिलाकर एकाउंट पासवर्ड और गोपनीय जानकारी चुरा लेती हैं.

एल्डरसन ने आगे बताया कि यह डोमेन क्लेवर टैप नाम की अमेरिकी कंपनी से जुड़ा है. इस कंपनी के द्वारा इसे ‘नेक्स्ट जनरेशन ऐप एंगेजमेंट प्लेटफॉर्म बताया गया है, जो मार्केटिंग करने वालों को यूजर्स को पहचानने, उनसे जुड़ने और उन्हें बनाए रखने में मदद करता है और डेवलपर्स भी देता है. उन्होंने यह भी पूछा कि wzrkt.com की जानकारी को क्लेवर टैप क्यों छिपा रहा है.

शनिवार को एल्डरसन ने एक और ट्वीट लिखा है जहां उन्होंने बताया है कि नरेंद्र मोदी ऐप की टीम ने उनसे संपर्क किया है. उन्होंने इस बातचीत का ट्वीट भी साझा किया है.