राजनीति

कैप्टन अमरिंदर बने पंजाब के मुख्यमंत्री

राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के अलावा नौ कैबिनेट मंत्रियों और दो राज्य मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई.

Amarinder_Singh-PTI_2

कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाते पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह बदनोर (फोटो: पीटीआई)

पंजाब विधानसभा चुनाव में 75 वर्षीय कैप्टन अमरिंदर के नेतृत्व में कांग्रेस में 117 सीटों में से 77 सीटों पर जीत दर्ज की है. कैप्टन दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री बने हैं. वे राज्य के 26वें मुख्यमंत्री हैं. इससे पहले 2002 से 2007 तक वह राज्य की कमान संभाल चुके हैं. पंजाब के उप-मुख्यमंत्री पद के लिए अभी तक स्तिथि साफ़ नहीं हुई है.

भाजपा से कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू को कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है. इस प्रकार की अटकलें लगाई जा रही थीं कि क्रिकेटर से नेता बने सिद्धू को उप मुख्यमंत्री का पदभार सौंपा जाएगा लेकिन शपथ ग्रहण करने वाले नौ मंत्रियों की सूची में वह तीसरे नंबर पर थे.

कांग्रेस ने 10 साल बाद प्रदेश की सत्ता हासिल की है. कैप्टन के मुख्यमंत्री बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर उन्हें बधाई दी.

सिद्धू के अलावा ब्रह्म महिंद्रा, पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के भतीजे मनप्रीत सिंह बादल, साधु सिंह धरमसोत, तृप्त राजेंद्र सिंह बाजवा, राणा गुरजीत सिंह सोढी और चरणजीत सिंह चन्नी को भी कैबिनेट मंत्री का दर्जा मिला हुआ है.

समारोह में दो राज्य मंत्रियों को शपथ ग्रहण कराई. दोनों राज्य मंत्री महिलाएं हैं. ये अरुणा चौधरी और रज़िया सुल्ताना हैं.

कैप्टन के शपथ ग्रहण में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा ने भी शिरकत की. कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह भी मौजूद थे.

कैप्टन के शपथ ग्रहण में आम आदमी पार्टी के विधायक और पंजाब विधानसभा में विरोधी पक्ष नेता एचएस फूलका ने भी मौजूद रहे. फूलका ने ट्वीट कर कैप्टन को बधाई दी साथ ही उन्हें बैठने के लिए कुर्सी न होने की शिकायत भी की है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)