भारत

उन्नाव रेप केस: आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर गिरफ़्तार

आरोपी विधायक को सीबीआई ने उनके लखनऊ स्थित आवास से गिरफ़्तार किया. गिरफ़्तारी के बाद उन्हें सीबीआई कार्यालय ले जाकर पूछताछ की गई.

kuldeep sengar pti

लखनऊ/उन्नाव: उन्नाव गैंगरेप मामले में आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर को केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने हिरासत में ले लिया है.

लाइव हिंदुस्तान के मुताबिक, आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सीबीआई ने शुक्रवार को तड़के उनके लखनऊ के इंदिरा नगर स्थित आवास से गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तारी के बाद विधायक को हजरतगंज स्थित सीबीआई कार्यालय में ले जाया गया. जहां उनसे पूछताछ की गई. सीबीआई टीम ने एसआईटी को भी तलब किया है. जो उन्हें इस मामले में जुड़े अब तक के दस्तावेज सौंपेंगी.’

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक, सीबीआई की दिल्ली की टीम ने लखनऊ सेल को एक्टिव किया और लखनऊ सीबीआई की टीम सी ब्लाक इंदिरा नगर में 4 बजकर 11 मिनट पर कुलदीप सिंह सेंगर के घर पहुंची.

वहां से उन्हें हिरासत में लेकर 4 बजकर 28 मिनट पर टीम सीबीआई दफ्तर पहुंची. जिसके सात लोगों की टीम सुबह 4 बजकर 45 मिनट से लगातर कुलदीप सिंह सेंगर से पूछताछ करती रही, जो अगले चार घंटों तक चली. इस दौरान टीम ने सेंगर से मोबाइल रिकॉर्ड उपलब्ध कराने को भी कहा.

कुलदीप सिंह सेंगर उन्नाव के बांगरमऊ से भारतीय जनता पार्टी के विधायक हैं.

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने उत्तर प्रदेश सरकार की सिफारिश स्वीकर करते हुए गुरुवार को मामले की जांच सीबीआई से कराने का आदेश दिया था. उत्तर प्रदेश सरकार के अनुरोध पर केन्द्र की ओर से निर्दिष्ट तीन मामले की जांच का जिम्मा सीबीआई ने संभाल लिया है.

सीबीआई ने मामले में तीन प्राथमिकियां दर्ज की हैं. ये मामले किशोरी के कथित बलात्कार, उसके पिता की हत्या तथा किशोरी के पिता पर हथियार अधिनियम के तहत दर्ज मामला जिसके आधार पर स्थनीय पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया था, से जुड़े हुए हैं.

गौरतलब है कि अपने विधायक पर बलात्कार के आरोप लगने से शर्मिंदगी झेल रही योगी आदित्यनाथ सरकार ने गुरूवार को इन मामलों को केंद्र के पास भेज दिया था.

वहीं, इससे पहले हाई कोर्ट की फटकार के बाद पुलिस ने आरोपी विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था.

पूरा मामला उस समय प्रकाश में आया जब नाबालिग पीड़िता ने रविवार को सेंगर के खिलाफ पुलिस कार्रवाई नहीं होने का आरोप लगाते  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास के सामने आत्मदाह की कोशिश की थी. इसी बीच पीड़िता के पिता की पुलिस हिरासत में मौत हो गई थी. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में उनके शरीर पर चोट के निशान पाए जाने की बात सामने आई है.

लड़की के पिता की मौत के पहले का एक वीडियो वायरल हो गया था जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि पुलिस की मौजूदगी में विधायक के भाई तथा अन्य ने उनके साथ मारपीट की थी. उन्हें रायफल के बट तथा लाठी-डंडों से पीटा गया था.

जिसके बाद प्रकरण की जांच के लिए विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया था. उधर बलात्कार के आरोपी विधायक के भाई अतुल सिंह सेंगर को मंगलवार सुबह उन्नाव में गिरफ्तार कर लिया गया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments