भारत

कर्नाटक में अपने ‘मोस्ट वांटेड’ उम्मीदवारों पर कब बोलेंगे प्रधानमंत्री: राहुल

कर्नाटक विधानसभा चुनाव राउंडअप: भाजपा का आरोप, भारतीय राजनीति में कांग्रेस ‘मोगैम्बो’ की भूमिका निभा रही है. कांग्रेस ने कर्नाटक में भाजपा के घोषणापत्र को बताया ‘जुमलाफेस्टो’.

rahul pti

कर्नाटक में एक चुनावी रैली के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और राज्य के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया. (फाइल फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक में ‘भ्रष्टाचार और आपराधिक मामलों का सामना कर रहे’ भाजपा उम्मीदवारों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए सवाल किया कि ‘कर्नाटक के इन मोस्ट वांटेड लोगों के एपिसोड’ के बारे वह कब बोलेंगे.

राहुल ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए कहा, ‘प्रिय मोदीजी, आप बहुत बातें करते हैं. समस्या यह है कि आपकी कथनी और करनी में मेल नहीं है.’

वीडियो का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा, ‘कर्नाटक में उम्मीदवारों के आपके चयन की एक बानगी प्रस्तुत है. यह ‘कर्नाटक के मोस्ट वांटेड’ लोगों के एपिसोड जैसा लगता है.’

राहुल की ओर से पोस्ट वीडियो में रेड्डी बंधुओं, भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा सहित कुल 11 नेताओं का जिक्र किया गया है ‘जिन पर भ्रष्टाचार और अपराध के मामले दर्ज हैं.’

इसमें सवाल किया गया है कि क्या प्रधानमंत्री मोदी इन लोगों को उम्मीदवार बनाये जाने पर बोलेंगे?

कर्नाटक चुनाव में भाजपा केजरीवाल सरकार के नक्शे कदम पर: आप

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए जारी भाजपा के घोषणापत्र में दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिक को शामिल करने का जिक्र करते हुए कहा कि एक बार फिर भाजपा का दोहरा चरित्र जनता के सामने आ गया है.

पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भरद्वाज ने कहा कि दिल्ली सरकार की उपलब्धियों को नकारने वाली भाजपा ने केजरीवाल सरकार द्वारा शुरु किए गए मोहल्ला क्लीनिक को कर्नाटक में अपने घोषणापत्र में शामिल किया है. यह भाजपा के दोहरे चरित्र को उजागर करता है.

भारद्वाज ने कहा कि ये वही मोहल्ला क्लीनिक हैं जिसका भाजपा दिल्ली में पहले दिन से विरोध करती आ रही है. उन्होंने कहा, ‘भाजपा दिल्ली में गरीबों को राशन का घर पर वितरण करने की योजना से लेकर, सम विषम नंबर नियम और मोहल्ला क्लीनिक तक सभी योजनाओं की आलोचना कर इन्हें लागू करने की राह में रोड़े अटकाती रही है. अब उन्ही कामों को करने का जनता से वादा कर रही है.’

उन्होंने कहा कि राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता के चलते जनहित के बेहतर कार्यों को बाधित करना अच्छी राजनीति नहीं है.

‘मोगैम्बो’ की भूमिका निभा रही है कांग्रेस: भाजपा

नई दिल्ली: कर्नाटक में चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ‘गब्बर सिंह’ वाले बयान पर पलटवार करते हुए केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आरोप लगाया कि भारतीय राजनीति में कांग्रेस ‘मोगैम्बो’ की भूमिका निभा रही है.

नकवी ने आज ट्वीट किया, ‘ग्रैंड ओल्ड पार्टी का ब्रांड न्यू रोल-मोगैम्बो. संसद सत्र वाशआउट- ‘मोगैम्बो खुश हुआ’, संवैधानिक संस्थाओं पर हमला-‘मोगैम्बो खुश हुआ’, वन्देमातरम का अपमान-‘मोगैम्बो खुश हुआ’,पाकिस्तानी आतंकवादियों पर सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल-‘मोगैम्बो खुश हुआ’..’

राहुल ने कहा था कि ‘पहले मोदी सरकार गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी) लेकर आई और अब कर्नाटक चुनाव में उसने गब्बर सिंह के पूरे गैंग को टिकट दे दी है.’

 कर्नाटक में भाजपा का घोषणापत्र ‘जुमलाफेस्टो’: कांग्रेस

नई दिल्ली: कांग्रेस ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा की ओर से जारी घोषणापत्र को ‘जुमलाफेस्टो’ करार दिया और कहा कि जनता ‘झूठ के इस पुलिंदे’ पर विश्वास नहीं करने वाली है. भाजपा का घोषणापत्र जारी होने के कुछ देर बाद कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि कर्नाटक में भाजपा का घोषणापत्र 2014 के मोदी के घोषणापत्र और ‘येदि-रेड्डी के 2018 के घोषणापत्र’ का मिश्रण है.

गौरतलब है कि कांग्रेस भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा और रेड्डी बंधुओं का हवाला देने के लिए ‘येदि-रेड्डी’ शब्दावली का इस्तेमाल करती है. सुरेजावाला ने आरोप लगाया, ‘यह ‘जुमलाफेस्टो’ है और झूठ का पुलिंदा है.’

New Delhi: AICC spokesperson Randeep Singh Surjewala addresses a press conference in New Delhi on Thursday. PTI Photo by Ravi Choudhary (PTI4_19_2018_000111B)

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला (फाइल फोटो: पीटीआई)

उन्होंने कहा, ‘न वचन की कीमत, न शब्दों पर यकीन, हारी हुई भाजपा की खिसकती जमीन.’ भाजपा ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए घोषणापत्र जारी किया. पार्टी ने प्रदेश में सरकार बनने के पर सिंचाई परियोजनाओं के मद में डेढ़ लाख करोड़ रुपये आवंटित करने और राष्ट्रीयकृत एवं सहकारी बैंकों से लिये गए एक लाख रुपये तक के कृषि ऋण माफ करने का वादा किया.

येदियुरप्पा के बेटे को टिकट देने से ‘वंशवाद के खिलाफ’ लड़ाई कमजोर पड़ जाती: राव

बेंगलुरु: भाजपा के वंशवादी राजनीति के विरोध के बीच पार्टी की राज्य इकाई के प्रमुख बीएस येदियुरप्पा के बेटे को विधानसभा चुनाव में टिकट देने की स्थिति में इसके खिलाफ पार्टी की लड़ाई ‘कमजोर’ पड़ जाती. यह बात भाजपा महासचिव मुरलीधर राव ने कही.

राव ने कहा कि उन्हें विश्वास है कि 12 मई को होने वाले विधानसभा चुनाव में कर्नाटक के लोग पार्टी के पक्ष में मतदान करेंगे. उन्होंने कहा कि 224 सदस्यीय विधानसभा में 150 सीटों का लक्ष्य हासिल करना ‘कठिन कार्य नहीं होगा.’

राव ने कहा कि पार्टी वंशवादी राजनीति के खिलाफ लड़ रही है. उन्होंने कहा , ‘… ऐसा नहीं है कि हमने किसी को ( पिता, पुत्र ) को टिकट नहीं दिया है लेकिन सबसे वरिष्ठ नेताओं में से एक और उनके बेटे या बेटी को टिकट देना अलग बात है और येदियुरप्पा ( बेटे ) को टिकट देना अलग बात है.’

पार्टी के एक सत्र के दौरान उन्होंने कहा कि येदियुरप्पा ने कहा कि ‘इससे वंशवादी राजनीति के खिलाफ भाजपा की लड़ाई कमजोर हो जाती.’

राव ने कहा कि मुख्यमंत्री सिद्धरमैया ने ‘दो जोड़ एक ’ की नीति अपनाई जो दो विधानसभा क्षेत्रों- बादामी और चामुंडेश्वरी से चुनाव लड़ रहे हैं और उनका बेटा यतिन्द्र वरुणा विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहा है. राव ने कहा, ‘इससे लड़ाई में येदियुरप्पा ने महसूस किया कि यह छोटा बलिदान है. येदियुरप्पा और भाजपा की सोच एक जैसी है.’

नामांकन पत्र दाखिल करने की समयसीमा के अंतिम क्षण में येदियुरप्पा ने 23 अप्रैल को घोषणा की थी कि उनके बेटे विजयेंद्र वरुणा सीट से चुनाव नहीं लड़ेंगे और इसके बजाए यतिन्द्र के खिलाफ पार्टी के किसी साधारण कार्यकर्ता को टिकट दिया जाएगा.

महिलाओं के मुद्दे पर सिद्धारमैया ने मोदी से कहा: भाषण कम और काम ज्यादा कीजिए

बेंगलुरु: महिला सशक्तिकरण दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भाजपा महिला कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत को ‘सांकेतिक’ करार देते हुए मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने उनसे कहा कि इस विषय पर वह कर्नाटक से सीखें और ‘भाषण कम तथा काम ज्यादा करें.’

मुख्यमंत्री ने कई ट्वीट करते हुए महिलाओं के लिए अपनी सरकार द्वारा शुरू की गई कई पहल को गिनाया. अपनी कैबिनेट में महिलाओं को महत्पूर्ण विभाग देने के बारे में मोदी के बयान का ट्वीट पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा, ‘प्रतीकात्मक मोदी जी. सही सशक्तिकरण सही नीतियों से आता है. कठुआ में बच्ची के बलात्कार के खिलाफ कैंडल मार्च की कल आपने आलोचना की थी और आज आप महिला शक्ति के बारे में बोल रहे हैं.’

Pavagada: Karnataka Chief Minister Siddaramaiah speaks during the inauguration of the solar panels at "Shakti Sthala", the 2,000 Mega Watt Solar Power Park, in Pavagada Taluk situated about 150 kms from Bengaluru on Thursday. PTI Photo by Shailendra Bhojak (PTI3_1_2018_000178B)

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया. (फाइल फोटो: पीटीआई)

बारह मई को होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले महिलाओं को नमो एप के माध्यम से संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि सक्षम महिलाओं को उनकी कैबिनेट में महत्वपूर्ण विभाग दिए गए हैं. सिद्धारमैया ने मोदी से कहा कि वह कर्नाटक से सीखें कि महिला सशक्तिकरण कैसे किया जाता है. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने कक्षा एक से परास्नातक तक महिलाओं के लिए शिक्षा मुफ्त कर दी है.

उन्होंने कहा , ‘जिस बेंगलुरू शहर की कल आपने आलोचना की वहां कार्यबल में 25 फीसदी महिलाओं की भागीदारी से वह देश में सबसे आगे है. जिस शहर दिल्ली में आप रहते हैं वहां यह दर दस फीसदी है. हमें कुछ सही करना चाहिए.’

कांग्रेस की ‘जेहादी मानसिकता’: योगी आदित्यनाथ

सिरसी (कर्नाटक): उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा का प्रचार करते हुए लोगों से कांग्रेस की ‘विभाजनकारी’ राजनीति एवं ‘जेहादी मानसिकता’ को खारिज करने को कहा.

उन्होंने यहां एक रैली में कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया पर समाज को बांटने वाली ‘सबसे भ्रष्ट पारी’ खेलने का आरोप लगाया. आदित्यनाथ ने कहा, ‘मैं आपसे यहां यह आह्वान करने आया हूं कि कांग्रेस की विभाजनकारी राजनीति, जेहादी मानसिकता, आतंकवाद एवं भ्रष्टाचार में मदद देने की नीतियों को पूरी तरह खारिज कर दें.’

उन्होंने सिद्धारमैया पर निशाना साधते हुए दावा किया कि राज्य में पिछले पांच सालों में हुई 23 भाजपा कार्यकर्ताओं की ‘जेहादी’ हत्याएं कांग्रेस पार्टी की कथित विभाजनकारी राजनीति का ‘सबूत’ है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा, ‘इस समय कर्नाटक की कांग्रेस सरकार एवं सबसे भ्रष्ट पारी खेल रहे उसके मुख्यमंत्री समाज को बांटने की सबसे बुरी कोशिश कर रहे हैं.’

उन्होंने कहा कि वह राज्य में कांग्रेस की ‘विभाजनकारी’ नीतियों पर लगाम लगाने के लिए आए हैं. आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश और कर्नाटक में तुलना करते हुए कहा कि उनके राज्य में कोई जेहादी तत्व अपना सिर नहीं उठा सकता.

उन्होंने कहा, ‘यह सरकार किसानों, व्यवसायियों, नागरिकों एवं भाजपा कार्यकर्ताओं के पक्ष में खड़ी होती और उनके साथ न्याय करती नहीं दिखती. यह सरकार अराजकता को बढ़ावा दे रही है.’ आदित्यनाथ ने सिद्धारमैया पर किसानों की आत्महत्याओं को लेकर भी हमला किया और कहा कि उनकी सरकार के ‘उदासीन’ रवैये के कारण किसानों के हितों की अनदेखी की गई.

उन्होंने कहा, ‘इस समय सिद्धारमैया सरकार कर्नाटक को अपने एटीएम की तरह इस्तेमाल कर रही है. इसलिए मैं आपसे यह कहने यहां आया हूं कि कांग्रेस मुक्त कर्नाटक वक्त की जरूरत है.’ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा कि राम जब जंगलों में घूम रहे थे तब कर्नाटक में ही उन्हें अपना सबसे वफादार भक्त हनुमान मिला था.

Hubbali: Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath being garlanded at a public meeting during the Karnataka BJP chief BS Yeddyurappa’s Parivartan Yatra in Hubbali on Thursday. PTI Photo (PTI12_21_2017_000206B)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ. (फाइल फोटो: पीटीआई)

उन्होंने कहा, ‘वह हनुमान थे जिन्होंने रामराज्य की स्थापना में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी.’ आदित्यनाथ ने कहा, ‘हमारी परंपरा ऐसी रही है कि हम समाज को बांटने में विश्वास नहीं करते. यह उत्तर को दक्षिण से, पूर्व को पश्चिम से जोड़ती है. हम भारत को हमेशा एक एकजुट देश के रूप में देखते हैं क्योंकि हम ‘ एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ में विश्वास करते हैं.’

बेंगलुरु के ‘अपमान’ के लिए माफी मांगें प्रधानमंत्री: कांग्रेस

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कर्नाटक की सिद्धारमैया सरकार पर बेंगलूरु को ‘गार्बेज सिटी’ (कचरे का शहर) बना देने का आरोप लगाए जाने के बाद कांग्रेस ने कहा कि बेंगलुरु का ‘अपमान करने’ के लिए मोदी को माफी मांगनी चाहिए.

पार्टी ने यह भी कहा कि ‘हार तय देखकर’ भाजपा और मोदी ‘भय और बौखलाहट’ में कर्नाटक का ‘अपमान’ कर रहे हैं. कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने दावा किया कि कुछ दिनों में ही कर्नाटक की जनता इस ‘अपमान’ का मुंहतोड़ जवाब देगी.

सिंघवी ने संवाददाताओं से कहा, ‘कर्नाटक चुनाव के नजदीक आने के साथ ही भाजपा का भय और बौखलाहट बढ़ती जा रही है. प्रधानमंत्री की ओर से जनरल करियप्पा और थिमैया के बारे में की गई बात से यह फिर साबित हुआ कि प्रधानमंत्री का इतिहास का ज्ञान बहुत सीमित है.’

उन्होंने कहा, ‘बेंगलुरु को गार्बेज सिटी कहना इस शहर और कर्नाटक का अपमान है. प्रधानमंत्री ने इस शहर के लिए ‘वैली ऑफ सिन’ (पाप की घाटी) शब्द का भी इस्तेमाल किया है. यह निंदनीय है. इसके लिए प्रधानमंत्री को माफी मांगनी चाहिए.’

सिंघवी ने कहा, ‘कुछ दिनों में ही कर्नाटक की जनता इस अपमान का मुंहतोड़ जवाब देगी.’ कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, ‘प्रधानमंत्री को यह पता होना चाहिए कि इस शहर ने देश को सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की शक्ति बनाया है. मैं यह आग्रह करता हूं कि प्रधानमंत्री कांग्रेस के बारे में जो कहना चाहते हैं वो कहें, लेकिन कर्नाटक और बेंगलुरु के लोगों का अपमान नहीं करें.’

दरअसल, प्रधानमंत्री मोदी ने गुरुवार को कर्नाटक में एक चुनावी सभा के दौरान शहरों से जुड़े मुद्दों को लेकर सिद्धारमैया सरकार पर तीखा हमला बोला और आरोप लगाया कि उसने बेंगलुरु को ‘कचरे का शहर’ तथा सिलिकॉन वैली को ‘पाप की घाटी’ ( वैली ऑफ सिन) में बदल दिया है.

सिंघवी ने कहा कि भाजपा चुनाव प्रचार में सांप्रदायिक ध्रुवीकरण कर रही है. विज्ञापनों में राहुल पर निशाना बनाना यह साबित करता है कि भाजपा कांग्रेस अध्यक्ष से डरी हुई है. सिंघवी ने कहा कि शराब और रियल इस्टेट क्षेत्र को जीएसटी के दायरे में लाया जाना चाहिए.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments