भारत

आंधी-तूफान से उत्तर प्रदेश में 51, आंध्र प्रदेश में नौ, पश्चिम बंगाल में छह लोगों की मौत

राजधानी दिल्ली में तीन और बिहार में छह लोगों की मौत. उत्तर प्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना, उत्तराखंड और पंजाब में करीब दो हफ़्ते पहले आए आंधी-तूफान समें 134 लोगों की मौत हुई थी.

Kolkata: Two men use a plastic sheet to protect themselves, as it rains in Kolkata on Sunday. (PTI Photo / Ashok Bhaumik) (PTI5_13_2018_000096B)

बीते रविवार को कोलकाता में बारिश से बचने की कोशिश करते लोग. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली/लखनऊ/अमरावती/कोलकाता/पटना: 13 मई की रात चार राज्यों में बिजली गिरने और आंधी-तूफान के साथ आई बारिश के कारण हुए हादसों में उत्तर प्रदेश में 51, आंध्र प्रदेश में नौ, पश्चिम बंगाल और बिहार छह-छह और राजधानी दिल्ली में तीन लोगों की मौत की सूचना है.

दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में 13 मई को आंधी के साथ बारिश होने ने भारी तबाही मचाई थी.

दिल्ली समेत उत्तर भारत में आंधी के कारण रविवार शाम कई जगह पेड़ गिर गए. सड़क, रेल एवं वायु यातायात सेवाएं प्रभावित हुईं.

मौसम विभाग के अनुसार हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, मध्य प्रदेश, झारखंड, असम, मेघालय, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु में अलग अलग स्थानों पर रविवार रात आंधी के साथ बारिश हुई.

उत्तर प्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना, उत्तराखंड और पंजाब में करीब 12 दिन पहले भी तूफ़ान आया था जिसमें 134 लोगों की मौत हुई थी और 400 से ज़्यादा लोग ज़ख़्मी हुए थे. तब सबसे ज़्यादा प्रभावित आगरा ज़िला था.

इसके बाद नौ मई को उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में फिर से अंधड़ आया था जिसमें 18 लोगों की मौत हो गई और 27 अन्य ज़ख़्मी हो गए थे.

वहीं मौसम वैज्ञानिकों ने आज यानी 14 मई को भी मौसम के ख़राब रहने की चेतावनी दी है. मौसम कार्यालय ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के 26 ज़िलो में 70 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलने की आशंका जताई है.

उधर, केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार, देश के पांच राज्यों में 13 मई की रात बिजली गिरने और तेज़ आंधी के साथ बारिश होने के कारण 80 लोगों की मौत हुई है. सिर्फ़ उत्तर प्रदेश में ही 51 लोगों की जान गई है.

गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने सोमवार को बताया कि आंध्र प्रदेश में 12, पश्चिम बंगाल में 14, दिल्ली में दो लोगों की जबकि उत्तराखंड में भी एक व्यक्ति की मौत हुई है.

इन घटनाओं में 136 लोग घायल हुए हैं. इनमें से उत्तर प्रदेश में ही 123 लोग जख्मी हुए हैं. दिल्ली में 11 और उत्तराखंड में दो लोग घायल हुए हैं.

प्रवक्ता ने बताया कि आंधी-बारिश और बिजली गिरने के कारण उत्तर प्रदेश के 24 ज़िले, पश्चिम बंगाल के छह, आंध्र प्रदेश के तीन, दिल्ली के दो और उत्तराखंड का एक ज़िला प्रभावित हुआ है.

उत्तर प्रदेश में आंधी-तूफान के कारण 51 लोगों की मौत, 83 घायल

उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों में आंधी-तूफान के कारण कम से कम 51 लोगों की मौत हुई है जबकि 83 लोग घायल हुए हैं.

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि 13 मई की रात धूल भरी आंधी और बारिश के कारण हुई घटनाओं में 51 लोगों की मौत हुई है जबकि 83 लोग घायल हुए हैं. आंधी से प्रदेश के 25 ज़िले प्रभावित हुए हैं. 121 मकानों के क्षतिग्रस्त होने की सूचना है.

राजधानी लखनऊ से करीब 28 किलोमीटर दूर बाराबंकी ज़िले में 13 लोगों के मरने की सूचना है. अधिकारियों के मुताबिक इनमें से आठ लोगों की मौत घाघरा नदी में डूबने से हुई. ये लोग घाघरा नदी में नाव पर सैर कर रहे थे. तेज़ हवा में नाव का संतुलन बिगड़ गया और वह पलट गई. स्थानीय अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं.

उन्होंने बताया कि बरेली ज़िले में आठ लोगों की मौत हुई है जबकि कासगंज में छह, बुलंदशहर में चार और लखीमपुर खीरी में तीन लोगों की मौत हुई है. जौनपुर, सहारनपुर और प्रतापगढ़ में दो-दो लोगों की मौत हुई है.

अधिकारियों ने बताया कि इटावा, कन्नौज, संभल, अलीगढ़, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर, बदायूं, मिर्ज़ापुर, मथुरा, मुज़फ़्फ़रनगर और शामली में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है.

अंधड़ में 83 लोग घायल हुये हैं. 121 मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं जबकि 17 मवेशी मारे गये हैं. वहीं संभल में आंधी के दौरान कूड़े के ढेर में सुलग रही आग ने विकराल रूप धारण कर लिया जिससे करीब 25 मकान जल गए.

प्रमुख सचिव (सूचना) अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी ज़िलाधिकारियों और आयुक्तों को निर्देश दिया है कि प्रभावित लोगों को तत्काल राहत मुहैया कराई जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि घायलों को तत्काल चिकित्सकीय उपचार मिले.

Allahabad: Commuters ride past a fallen tree that was uprooted after last night thunderstorm, in Allahabadi, on Monday. (PTI Photo) (PTI5_14_2018_000066B)

उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में आंधी तूफान से बिजली के पोल और पेड़ उखड़ गए. (फोटो: पीटीआई)

इससे पहले मौसम विभाग ने चेतावनी दी थी कि इस आंधी-तूफान से बहराइच, श्रावस्ती, बलरामपुर, गोंडा, सिद्धार्थनगर, महराजगंज, कुशीनगर, गोरखपुर, संतकबीरनगर, बस्ती, फ़ैज़ाबाद, सुल्तानपुर, आज़मगढ़, अंबेडकरनगर, मऊ, देवरिया, बलिया, गाज़ीपुर, जौनपुर, प्रतापगढ़, इलाहाबाद, संतरविदास नगर, वाराणसी, चंदौली, मिर्जापुर और सोनभद्र ज़िले प्रभावित हो सकते हैं.

मौसम विभाग ने प्रदेश के कुछ इलाकों में बारिश होने जबकि शेष स्थानों पर मौसम शुष्क रहने का पूर्वानुमान जताया. पिछले सप्ताह बुधवार को राज्य के कई इलाकों में जबरदस्त आंधी-तूफान के चलते 18 लोगों की मौत हो गई, जबकि 27 अन्य घायल हो गए थे.

आंध्र प्रदेश में वज्रपात से नौ लोगों की मौत, तीन घायल

अमरावती: आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम और कडपा ज़िले में वज्रपात से नौ लोगों की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि श्रीकाकुलम ज़िले में सात लोगों की मौत हो गई जबकि कडपा ज़िले में दो लोगों की मौत हुई और तीन घायल हो गए.

श्रीकाकुलम के विभिन्न हिस्से में दोपहर के बाद बारिश हुई और वज्रपात हुआ. श्रीकाकुलम के ज़िलाधिकरी धनंजय रेड्डी ने बताया कि ज़िले के विभिन्न मंडलों से सात लोगों की मौत की ख़बर मिली है.

विशाखापत्तनम और पूर्वी गोदावरी ज़िले में भी बारिश हुई.

राज्य सरकार ने संबंधित ज़िला प्रशासन से आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से जारी चेतावनी को देखते हुए आवश्यक क़दम उठाने को कहा है.

बिहार में आंधी-तूफान, वज्रपात से छह की मौत, दो अन्य जख्मी

बिहार में सोमवार सुबह आंधी-तूफान के साथ बारिश के बीच बिजली गिरने से प्रदेश के विभिन्न इलाकों में छह लोगों की मौत हो गई जबकि दो अन्य व्यक्ति जख्मी हो गए.

आपदा प्रबंधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक सोमवार प्रात: करीब तीन बजे आए आंधी-तूफान के साथ बारिश के बीच सारण ज़िले में दो तथा पटना, दरभंगा, खगड़िया और रोहतास में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई.

सारण ज़िले के सदर प्रखंड अंतर्गत अवधपुरा गांव में आंधी के दौरान गिरे पेड़ के नीचे दबकर क्रांति देवी (50) की तथा मसरख प्रखंड अंतर्गत लखनपुर गांव में आसमान से गिरी बिजली की चपेट में आने से राम पति देवी (55) की मौत हो गई.

पटना के सदर प्रखंड अंतर्गत यदुवंशी नगर में दीवार गिरने से अखिलेख राय (35) की, दरभंगा ज़िला के कुशेश्वर स्थान पूर्वी प्रखंड के रामपुर राउत गांव में बिजली की चपेट में आने से धर्मेंद्र चैपाल (30) की, खगड़िया ज़िला नगर परिषद के बलुआही टोला में आंधी के बीच बारिश के कारण मकान का छप्पर गिरने से पांच साल की बच्ची अराधना कुमारी की और रोहतास जिला मुख्यालय सासाराम के घलौर गांव में आंधी के कारण पेड़ गिरने से कृष्णा गौड़ (40) की मौत हो गई.

खगड़िया नगर परिषद अंतर्गत बलुआही टोला में आंधी के दौरान वर्षा के कारण मकान गिरने से सीमा कुमारी (32) और अदिति कुमारी (5) जख्मी हो गईं.

पश्चिम बंगाल में आकाशीय बिजली गिरने से छह लोगों की मौत

पश्चिम बंगाल के विभिन्न जिलों में आकाशीय बिजली गिरने की घटना में कम से कम छह लोगों की मौत हो गई जबकि 10 से ज़्यादा लोग घायल हो गए. राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि हावड़ा ज़िले से पांच लोगों के मरने की ख़बर है जबकि एक व्यक्ति की मौत मुर्शिदाबाद ज़िले में हुई है.

मुर्शिदाबाद ज़िला पुलिस के अनुसार शंकर मंडल (50) ज़िला के जालंगी क्षेत्र में खेत में काम कर रहे थे, तभी आकाशीय बिजली गिरने की घटना में उनकी मौत हो गई.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि हावड़ा ज़िले के बोर्दांगा क्षेत्र में चार बच्चे (आठ से 12 साल के बीच) तूफान के दौरान आम चुन रहे थे तभी आकाशीय बिजली गिरने की घटना हुई. इन बच्चों को अस्पताल ले जाया गया, जहां उन सभी को मृत घोषित कर दिया गया.

उन्होंने बताया कि इसके अलावा उलूबेरिया उपखंडीय क्षेत्र में आकाशीय बिजली गिरने की घटना में एक व्यक्ति की मौत हो गई.

दिल्ली-एनसीआर में आंधी तूफान और बारिश से तीन लोगों की मौत

दिल्ली एवं आसपास के इलाकों में 109 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ़्तार से चली धूल भरी आंधी और तेज़ हवाओं के कारण तीन लोगों की मौत हो गई और 18 लोग घायल हो गए.

राष्ट्रीय राजधानी में रविवार शाम क़रीब 4:30 बजे मौसम ने करवट ली और आसमान में अंधेरा छा गया. इसके बाद आंधी चलने लगी और बारिश होने लगी. इस वजह से पारा 25.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया.

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दिल्ली में अंधड़ तब आया जब तापमान 40.6 डिग्री सेल्सियस तक चला गया था और सुबह के वक़्त आर्द्रता का स्तर 60 प्रतिशत था.

RPT:New Delhi: A billboard fell on a car on Vikas marg during strom in New Delhi on Sunday. PTI Photo(PTI5_13_2018_000174B)

नई दिल्ली के विकास मार्ग पर रविवार को आए आंधी-तूफान में होर्डिंग गिरने से कार क्षतिग्रस्त हो गई. (फाइल फोटो: पीटीआई)

राष्ट्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र की प्रमुख केएस देवी ने कहा कि तूफान आने की वजह दो पश्चिमी विक्षोभ हैं.

निजी मौसम पूर्वानुमान एजेंसी स्काईमेट के अध्यक्ष (मौसम विज्ञान) जीपी शर्मा ने बताया कि दिल्ली के ऊपर घने बादल छाए रहे. इसका असर न सिर्फ दिल्ली बल्कि पानीपत, झज्जर, रोहतक, हरियाणा एवं उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में रहा.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली पुलिस ने बताया कि पांडव नगर में पेड़ गिरने से एक महिला की मौत हो गई. वहीं ग्रेटर नोएडा में बाइक से जा रही महिला पर होर्डिंग गिरने से उसकी मौत हो गई. इसी तरह जैतपुर में मनोज जैन नाम के व्यक्ति पर सीमेंट शीट और ईंटें गिरने की वजह से उनकी मौत हो गई.

इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा पर एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) से जुड़े सूत्रों ने बताया कि विमानों का परिचालन करीब ढाई घंटे तक प्रभावित रहा. तकरीबन 70 उड़ानों का अन्य स्थानों के लिए मार्ग परिवर्तित किया गया.

उन्होंने बताया कि स्थिति रात क़रीब नौ बजे सामान्य हुई.

सूत्रों ने बताया कि काठमांडु, रियाद, कोलंबो, जेद्दा, काबुल के लिए उड़ानों में देरी हुई जबकि टोक्यो, नेवार्क और कोलंबो से आने वाले विमानों का मार्ग परिवर्तित किया गया.

दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) के अनुसार सेवाएं पांच बजे से पांच बजकर 40 मिनट तक प्रभावित रहीं.

निगम ने एक बयान में कहा कि ओखला और जसोला के बीच आंधी की वजह से एक पेड़ के ओवरहेड तार पर गिर जाने के कारण ऐसा हुआ. पांच बजकर 40 मिनट पर सेवाएं सामान्य हुई.

बयान के अनुसार, इसी तरह ब्लू लाइन पर नोएडा और नोएडा सिटी सेंटर के बीच सवा छह बजे से छह बजकर पचास मिनट तक मेट्रो सेवाएं प्रभावित रहीं. इंद्रप्रस्थ और करोल बाग के बीच भी मेट्रो सेवाएं बाधित रहीं.

मौसम विभाग के अधिकारियों के अनुसार सफ़दरजंग वेधशाला में 4.2 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई. पालम, आया नगर और लोधी रोड क्षेत्रों में क्रमश: 0.8, 6.4 और 2.1 मिलीमीटर वर्षा रिकॉर्ड की गई.

पाकिस्तान में तूफान और बाढ़ से 15 की मौत

लाहौर: पाकिस्तान के विभिन्न हिस्सों में आई आंधी और फिर भारी बारिश ने कम से कम 15 लोगों की जान ले ली है और 22 अन्य ज़ख़्मी हो गए हैं. पंजाब प्रांत, ख़ैबर पख्तूनख्वा प्रांत और संघ प्रशासित कबायली इलाके में भारी बारिश और तूफान आया है.

‘डॉन न्यूज’ ने रिपोर्ट दी है कि इलाके में तूफान आने के बाद दीवार और छत गिरने की घटनाओं में नौ लोगों की मौत हो गई 13 अन्य ज़ख़्मी हो गए.

अधिकारियों ने बताया कि मरने वाले ज्यादातर लोगों का ताल्लुक ममूंद और खार तहसील से है.

भारी बारिश की वजह से कई इलाकों में बाढ़ आ गई. आंधी की वजह से 13 मई को पेड़ उखड़ गए तथा पेशावर और आसपास के इलाकों में दृश्यता घट गई.

‘जियो न्यूज’ ने रिपोर्ट दी है कि पंजाब के भक्कर ज़िले में एक मकान की छत गिरने से दो लोगों की मौत हो गई जबकि तीन अन्य जख्मी हो गए.

रिपोर्टों के मुताबिक, ख़ैबर एजेंसी इलाके में बारिश से संबंधित घटनाओं में तीन लोगों की मौत हो गई और नौ अन्य ज़ख़्मी हो गए.

एजेंसी मुख्यालय अस्पताल में मेडिकल स्टाफ को बिजली आपूर्ति नहीं होने की वजह से घायलों को इलाज देने में दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है.

डॉन ने एजेंसी मुख्यालय अस्पताल के सहायक चिकित्सा अधीक्षक डॉ. नसीब गुल के हवाले से बताया कि पांच शवों और 13 घायलों को अस्पताल लाया गया है.

रेसक्यू 1122 के मुताबिक, नौशेरा ज़िले के पीर सबक इलाके में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments