भारत

यूपी में बूचड़खाने बंद करने की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने यूपी में पशु वधशालाएं बंद करने के चुनावी वादे पर बढ़ाया क़दम.

Yogi Adityanath PTI

योगी आदित्यनाथ. (फोटो: पीटीआई)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में पशु वधशालाएं बंद करने के भाजपा के चुनावी एजेंडे पर अमल शुरू कर दिया है. बुधवार को उन्होंने पुलिस अफ़सरों को निर्देश दिए कि पूरे राज्य में बूचड़खाने बंद करने के लिए कार्ययोजना तैयार की जाए.

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, आदित्यनाथ ने प्रदेश में गायों की तस्करी पर पूर्ण पाबंदी लगाने और इस मामले में कोई भी ढिलाई बरदाश्त ना करने के आदेश भी दिए हैं. बहरहाल, सूत्रों ने यह नहीं बताया कि मुख्यमंत्री ने किस तरह के बूचड़खानों को बंद करने के लिए कार्ययोजना तैयार करने को कहा है.
भाजपा के चुनावी घोषणा पत्र में कहा गया है कि प्रदेश में उसकी सरकार बनने पर सभी यांत्रिक पशु वधशालाएं बंद कर दी जाएंगी.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह अपनी हर चुनावी जनसभा में कहते थे कि प्रदेश में उनकी पार्टी की सरकार आते ही रात 12 बजे से पहले प्रदेश के सभी बूचड़खाने बंद कर दिए जाएंगे. मुख्यमंत्री ने बुधवार को जारी आदेशों में असामाजिक तत्वों के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई के भी निर्देश दिए हैं. उन्होंने कहा है कि जो लोग पुलिस सुरक्षा को स्टेटस सिम्बल की तरह इस्तेमाल कर रहे हैं, उन पर खतरे की जांच करके ज़रूरत पड़ने पर उनकी सुरक्षा में बदलाव भी किया जा सकता है.

गौहत्या को लेकर योगी की वेबसाइट पर हो रहा है जनमत संग्रह

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी द्वारा राज्य के अवैध बूचडखाने बंद करने की कार्ययोजना बनाने और गायों की तस्करी पर पूर्ण पाबंदी के निर्देश के बीच योगी की वेबसाइट पर गौहत्या को लेकर जनमत संग्रह हो रहा है.

योगी के गोरखपुर में गोरखनाथ मंदिर स्थित कार्यालय ने वेबसाइट पर कराये जा रहे इस जनमत संग्रह की पुष्टि करते हुए बताया कि डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डाट योगीआदित्यनाथ डाट इन वेबसाइट पर जनमत संग्रह में शामिल हुआ जा सकता है.

वेबसाइट पर आपका मत कालम के तहत सवाल किया गया है, गौ-हत्या रोकने के लिए कठोर क़ानून बनाए जाने चाहिए? जवाब हां या नहीं में देना है. हां कहने वालों की संख्या वेबसाइट पर लगभग 85 फ़ीसदी दर्शायी गई है जबकि नहीं कहने वाले 15 फ़ीसदी हैं.

मत प्रकट करने वाले को वेबसाइट पर अपना नाम और मोबाइल नंबर भी दर्ज करना है. उसके बाद सब्मिट बटन दबाकर अपनी राय दे देनी है. बताया जाता है कि जनमत संग्रह पिछले दो-तीन दिन से चल रहा है.

उल्लेखनीय है कि योगी ने राज्य में पशु वधशालाएं बंद करने के भाजपा के चुनावी एजेंडे पर अमल शुरू करते हुए आज ही पुलिस अफ़सरों को पूरे राज्य में बूचड़खाने बंद करने के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए.

भाजपा के विधानसभा चुनाव से पूर्व जारी लोक कल्याण संकल्प पत्र में कहा गया है कि विगत शासनकाल में उत्तर प्रदेश में पशुधन की संख्या में गिरावट हुई है. दुधारू पशुओं की अवैध तस्करी से प्रदेश में डेयरी जैसे उद्योग का विकास नहीं हो रहा है. संकल्प पत्र में कहा गया, सभी अवैध क़त्लख़ानों को पूरी कठोरता से बंद किया जाएगा और सभी यांत्रिक क़त्लख़ानों पर प्रतिबंध लगाया जाएगा.

मांस की तीन दुकानों में लगाई गई आग, मामला दर्ज

दूसरी तरफ, उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में मांस बेचने वाली तीन दुकानों में अज्ञात लोगों द्वारा आग लगाए जाने को लेकर सनसनी फैल गई है. पुलिस सूत्रों ने बताया कि कांशीराम कॉलोनी के पास स्थित मांस और मली बेचने वाली तीन दुकानों में मंगलवार देर रात कुछ अज्ञात लोगों ने आग लगा दी. जिन लोगों की दुकानों में आग लगाई गई उनमें शकील, रहीस और मोहम्मद सिंधी शामिल हैं. उनका कहना है कि इस घटना से उन्हें भारी नुकसान हुआ है. पुलिस अधीक्षक दिलीप कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि अज्ञात लोगों ने मांस की तीन दुकानों में आग लगा दी है. इस संबंध में मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी गई है. हाथरस सदर के उपजिलाधिकारी राकेश गुप्ता ने इस घटना से प्रभावित दुकानदारों से मुलाकात की और उन्हें मदद का आश्वासन दिया.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)