भारत

प्रधानमंत्री मोदी, ‘हत्या के आरोपी’ अमित शाह और संघ को किसी संस्था की परवाह नहीं है: राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे हैं और वह खुद भ्रष्टाचार हैं.

New Delhi: Congress President Rahul Gandhi gestures as he addresses the media at party office, in New Delhi, on Saturday. (PTI Photo/ Manvender Vashist)(PTI5_19_2018_000134B)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: कर्नाटक विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव पर मतदान से पहले ही बीएस येदियुरप्पा के इस्तीफे के ऐलान के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि ‘लोकतंत्र पर आक्रमण’ रोका गया है. राहुल ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे हैं और वह खुद भ्रष्टाचार हैं. कर्नाटक में विधायकों को खरीदने की कोशिश की गई. खरीद-फरोख्त के वीडियो सामने हैं.

उन्होंने कहा कि आज सभी ने देखा कि विधानसभा में भाजपा के विधायक राष्ट्रगान से पहले उठकर चले गए. यह इस बात का प्रमाण है कि वो किसी संस्था का सम्मान नहीं करते. इसी सोच के खिलाफ हम लड़ रहे हैं.कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी, ‘हत्या के आरोपी’ अमित शाह और आरएसएस को किसी संस्था की परवाह नहीं है.

राहुल ने कहा कि भाजपा ने हर जगह जनादेश का अपमान किया. उन्होंने कहा, ‘मैं कर्नाटक की जनता, नेताओं और देवगौड़ा को बधाई देता हूं. उम्मीद है कि भाजपा और आरएसएस को सबक मिलेगा और वे लोकतांत्रिक संस्थाओं का अपमान नहीं करेंगे.’

राहुल ने कहा कि बेहतर होगा कि राज्यपाल वजुभाई वाला इस्तीफा दे, लेकिन मुद्दा उनके इस्तीफे से बड़ा है. मुद्दा यह है कि आज भाजपा और आरएसएस हर संस्था पर आक्रमण कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि देश की संवैधानिक संस्थाओं को भाजपा और आरएसएस के हमले से बचाने और भाजपा को पराजित करने के लिए विपक्षी दलों के साथ मिलकर काम करेंगे.

इससे पहले पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि ‘ऑपरेशन कमल’ विफल रहा. सुरजेवाला ने ट्वीट किया, ‘ऑपरेशन कमल विफल रहा. येदियुरप्पा दो दिन के मुख्यमंत्री रहे जैसे कि देश ने पूर्वानुमान लगाया था. उन्होंने सात दिनों के मुख्यमंत्री रहने का अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया.’

उन्होंने कहा, ‘लोकतंत्र जीता, संविधान जीता.’ दरअसल, उच्चतम न्यायालय के आदेश के अनुसार येदियुरप्पा को शनिवार शाम चार बजे सदन में बहुमत साबित करना था, लेकिन उससे पहले ही उन्होंने इस्तीफे की घोषणा कर दी.

गौरतलब है कि राज्य में किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला है. प्रदेश की 224 सदस्यीय विधानसभा में 222 सीटों पर हुए चुनाव में भाजपा को 104, कांग्रेस को 78 और जद एस+ को 38 सीटें मिली हैं. बहुमत के लिए जादुई आंकड़ा 111 है क्योंकि कुमारस्वामी दो सीटों से चुनाव जीते हैं.

कर्नाटक में लोकतंत्र की जीत हुई: ममता

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा कि कर्नाटक में तीन दिन पुरानी भाजपा सरकार का गिरना ‘लोकतंत्र और क्षेत्रीय मोर्चे’ की जीत है. मुख्यमंत्री येदियुरप्पा द्वारा शनिवार को राज्य विधानसभा में विश्वास मत का सामना किए बिना इस्तीफा दिए जाने की घोषणा करने के बाद ममता ने यह बात कही.

साथ ही, तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने जेडीएस के नेताओं एचडी देवगौड़ा और एचडी कुमारस्वामी तथा कांग्रेस को बधाई दी. उन्होंने एक ट्वीट में कहा, ‘लोकतंत्र की जीत हुई. कर्नाटक को बधाई. देवगौड़ा जी, कुमारस्वामी जी, कांग्रेस और अन्य नेताओं को बधाई. ‘ क्षेत्रीय ’ मोर्चे की जीत हुई.’

Comments