भारत

मध्य प्रदेश: भाजपा विधायक ने थाने में घुसकर आरक्षक को पीटा, मामला दर्ज

देवास ज़िले की बागली सीट से विधायक चंपालाल देवड़ा के बेटे का विवाद उदयनगर पुलिस थाने के एक आरक्षक के साथ हो गया था. विधायक को ख़बर लगी तो उन्होंने थाने आकर आरक्षक को पीटना शुरू कर दिया.

(फोटो साभार: फेसबुक)

(फोटो साभार: फेसबुक)

देवास: बागली विधानसभा सीट से भाजपा विधायक चंपालाल देवड़ा ने गुरुवार देर रात देवास जिले के उदयनगर थाने में ड्यूटी पर तैनात एक पुलिस कांस्टेबल की कथित रूप से पिटाई कर दी.

यह थाना देवास जिला मुख्यालय से करीब 110 किलोमीटर दूर है. देवड़ा अपने कुछ समर्थकों के साथ वहां गए थे. इस संबंध में शुक्रवार को देवड़ा और उनके सहयोगियों पर शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने और मारपीट का प्रकरण दर्ज किया गया है.

दरअसल, विधायक देवड़ा के पुत्र का विवाद उदयनगर पुलिस थाने में पदस्थ आरक्षक आरक्षक संतोष इवनाती के साथ हो गया था, जिसकी सूचना मिलने पर वे खुद थाने में गए और संतोष को एक के बाद एक तीन थप्पड़ जड़ दिए. अन्य लोगों ने भी उसकी पिटाई की. सारी मारपीट थाने में लगे सीसीटीवी में कैद हो गई.

उदयनगर पुलिस थाना प्रभारी शिव रघुवंशी ने बताया, ‘फरियादी संतोष इवनाती की रिपोर्ट पर विधायक चंपालाल देवड़ा और उनके साथियों के खिलाफ भादंवि की धारा 353, 332, 294, 506 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है.’

उन्होंने कहा, ‘मामले की विवेचना की जा रही हैं. जो भी दोषी पाया जाता है, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.’

देवास जिला भाजपा प्रवक्ता शंभू अग्रवाल ने बताया, ‘इस मामले में निष्पक्ष जांच के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। विधायक का इस तरह का कोई पुराना इतिहास नहीं रहा है. वे बहुत सहज व्यक्ति हैं.’

इस संबंध में एक वीडियो भी वायरल हुआ है जिसे थाने में लगे सीसीटीवी कैमरे से बना होना बताया जा रहा है.

दैनिक भास्कर से बात करते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा, ‘कानून अपना काम करेगा. जहां तक सवाल भाजपा का है तो पूरा विषय समझकर उचित निर्णय लिया जाएगा.’

कहा जा रहा है कि एक लड़की के अपहरण और दुष्कर्म के आरोपियों से मिलने विधायक का बेटा कान्हा और भतीजा थाने गए थे.

पुलिस के मुताबिक, लड़की के अपहरण से जुड़े मामले में पुलिस ने पोलाखाल गांव के दो आरोपियों को हिरासत में लिया था. दोनों बंदियों से मिलने के लिए विधायक पुत्र ने आरक्षक संतोष इवनाती से विवाद कर लिया.

विधायक चंपालाल देवड़ा ने अपनी सफाई में कहा, ‘उदयनगर में मेला चल रहा था, कुछ संदिग्ध लोग मेले में घूमते दिखाई दिए. मैंने पुत्र कान्हा को थाने में जानकारी देने भेजा था, जहां पुलिसकर्मी ने उससे मारपीट की.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments