भारत

गुजरात: बच्चों की लड़ाई सांप्रदायिक हिंसा में तब्दील, एक की मौत, कई घायल

गुजरात के पाटन ज़िले में दो स्कूली बच्चों के बीच हुई लड़ाई के बाद हज़ारों की संख्या में भीड़ ने बस्ती पर हमला कर दिया. प्रभावित लोग आसपास के गांवों में शरण लिए हुए हैं.

प्रतीकात्मक फोटो (पीटीआई)

प्रतीकात्मक फोटो (पीटीआई)

गुजरात के पाटन ज़िले में स्कूली बच्चों के बीच हुआ झगड़ा सांप्रदायिक हिंसा में तब्दील हो गया. इस हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हो गई है और क़रीब एक दर्जन लोग घायल हैं.

अंग्रेज़ी अख़बार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, ‘दो समुदायों के बीच हुई हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हो गई है और कम से कम एक दर्जन लोग घायल हैं. दसवीं की बोर्ड परीक्षा के दौरान दो बच्चों में झगड़ा हुआ था. जब वे सीढ़ियों से उतर रहे थे उसी दौरान एक बच्चा सीढ़ी से नीचे गिर गया. इसके बाद दोनों बच्चों में झड़प हुई, जिसने बाद में सांप्रदायिक हिंसा का रूप ले लिया.’

बीबीसी हिंदी की ख़बर के मुताबिक, ‘घटना शनिवार दोपहर पाटन ज़िले के वडावली गांव में हुई. गुजरात पुलिस का कहना है दोनों समुदायों के बीच हुए संघर्ष में कई लोग घायल हुए हैं. घायलों को इलाज के लिए अस्पताल दाखिल कराया गया है.

चानसमां पुलिस स्टेशन के प्रभारी सीपी सातिया के हवाले से बीबीसी ने लिखा है कि ‘दसवीं की परीक्षा देने आए दो समुदायों के दो छात्रों के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया. थोड़ी देर के बाद एक समुदाय के लोग हथियार के साथ गांव पहुंचे और दूसरे समुदाय के लोगों के करीब 90 घरों में आग लगा दी. कई वाहनों को भी निशाना बनाया गया. घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इसमें से एक व्यक्ति की इलाज के दौरान मौत हो गई.’

इंडियन एक्सप्रेस ने एडिशनल डीजीपी तीरथ राज के हवाले से लिखा है, ‘छात्रों ने झगड़े की ख़बर गांव वालों को दी, जिसके बाद क़रीब 5000 लोगों की भीड़ ने वडावली गांव की मुस्लिम बस्ती पर हमला बोल दिया. दर्जनों घरों में तोड़फोड़ की गई और 20 घरों, वाहनों और दूसरी संपत्तियों को आग के हवाले कर दिया. पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सात राउंड गोलियां चलाईं, आंसू गैस के गोले छोड़े.’

ख़बरों के मुताबिक, फ़िलहाल हालात नियंत्रण में है. गांव में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. एनडीटीवी के मुताबिक, ‘बच्चों की झगड़े की शिकायत के बाद गांव वालों ने लघुमति समुदाय के मोहल्ले पर हमला कर दिया और फिर हिंसा भड़क गई. डरे हुए लघुमति समुदाय के लोग फिलहाल घर छोड़कर आपपास के गांवों में बचने के लिए शरण लिए हुए हैं. पुलिस ने बताया कि शीर्ष पुलिस अधिकारी मौके पर तैनात हैं.’