राजनीति

पीएमओ ने ‘आप’ सरकार के खिलाफ उपराज्यपाल, नौकरशाहों और जांच एजेंसियों को लगा रखा है: केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पीएमओ और केंद्र ने हमारी सरकार के कामकाज में रोड़े अटकाने के लिए उपराज्यपाल, आईएएस अधिकारियों और सीबीआई, ईडी, आयकर विभाग एवं दिल्ली जैसी एजेंसियों को लगा रखा है.

New Delhi: Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal addresses a press conference at CM residence, in New Delhi on Monday, June 11, 2018. ( PTI Photo/Arun Sharma) (PTI6_11_2018_000052B)

नई दिल्ली स्थित अपने आवास से सोमवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) और केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के कामकाज में रोड़े अटकाने के लिए उसने उपराज्यपाल, आईएएस अधिकारियों और सीबीआई, ईडी, आयकर विभाग एवं दिल्ली पुलिस जैसी एजेंसियों को लगा रखा है.

उन्होंने यह आरोप लगाया कि मुख्य सचिव अंशु प्रकाश पर कथित हमले के बाद चार महीने से ‘आप’ सरकार के मंत्रियों की बैठकों का बहिष्कार कर रहे दिल्ली सरकार के अधिकारियों को अपनी यह हड़ताल जारी रखने के लिए धमकाया जा रहा है.

केजरीवाल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया, ‘यह हड़ताल पीएमओ की ओर से कराई जा रही है और इसमें समन्वय उपराज्यपाल (अनिल बैजल) द्वारा किया जा रहा है.’

मुख्यमंत्री ने कहा कि फरवरी 2015 में ‘आप’ सरकार के गठन के बाद से अब तक सीबीआई और भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) ने ‘आप’ के मंत्रियों और उनके रिश्तेदारों के ख़िलाफ़ 14 केस दर्ज किए हैं.

अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत में केजरीवाल ने कहा, ‘मेरे, मनीष सिसोदिया (उपमुख्यमंत्री), सत्येंद्र जैन (मंत्री) के ख़िलाफ़ केस दर्ज किए गए हैं. मैं जानना चाहता हूं कि उन केसों का क्या हुआ.’

केजरीवाल ने कहा, ‘इन मामलों में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. ऐसे मामलों में केंद्रीय एजेंसियां पहले हमें गिरफ्तार क्यों नहीं करतीं? इनकी एकमात्र मंशा ‘आप’ सरकार के कामकाज में रोड़े अटकाना है.’

उन्होंने आरोप लगाया कि ‘आप’ के नेताओं को बदनाम करने और फ़र्ज़ी मामलों में फंसाने की कोशिश की जा रही है.

केजरीवाल ने दावा किया, ‘हर रोज़ हमारे ख़िलाफ़ कोई नया केस दर्ज कर दिया जा रहा है.’

उन्होंने कहा, ‘पीएमओ और केंद्र ने हमारी सरकार के कामकाज में रोड़े अटकाने के लिए उपराज्यपाल, आईएएस अधिकारियों और सीबीआई, ईडी, आयकर विभाग एवं दिल्ली जैसी एजेंसियों को लगा रखा है.’

‘आप’ सरकार की उपलब्धियों गिनाते हुए उन्होंने कहा कि लोगों ने अन्य राज्यों में भाजपा शासित सरकारों से पूछना शुरू कर दिया है कि स्कूलों एवं अस्पतालों की दशा सुधारने के लिए वे कोई काम क्यों नहीं कर रहे. उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में अच्छा काम कर रही है.

मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि सीबीआई ने मोहल्ला क्लीनिकों की जांच और विभिन्न अधिकारियों को सम्मन करना शुरू कर दिया है.

उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि दिल्ली सरकार के अधिकारियों को ‘आप’ सरकार के लिए काम करने के कारण परेशान किया जा रहा है और खुलकर उन्हें सताया जा रहा है.

बीते नौ जून को केजरीवाल ने आरोप लगाया था कि सीबीआई और एसीबी ने दिल्ली जल बोर्ड से फाइलें उठानी शुरू कर दी थी ताकि किसी भी चीज़ में किसी तरह मुझे फंसाया जा सके.

केजरीवाल दिल्ली जल बोर्ड के प्रभारी मंत्री हैं.

Comments