भारत

पश्चिम बंगाल में बच्चा चोर होने के संदेह में व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या

मालदा ज़िले में आक्रोशित भीड़ ने 35 वर्षीय व्यक्ति की खंबे से बांधकर पिटाई की. पुलिस के अनुसार अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई. इस घटना के संबंध में तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

मालदा: पश्चिम बंगाल के मालदा जिले के बुलबुलचंदी में आक्रोशित भीड़ ने बच्चा चोर होने के संदेह में एक व्यक्ति की कथित तौर पर पीट-पीटकर हत्या कर दी. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि भीड़ ने 35 वर्षीय व्यक्ति को बच्चों को अगवा करने की घटनाओं में उसकी कथित संलिप्तता को लेकर खंभे से बांध दिया और उसकी पिटाई की.

अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने उसे छुड़ा लिया लेकिन अस्पताल ले जाते समय उसकी मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि घटना के संबंध में तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है और उनसे पूछताछ की जा रही है.

गौरतलब है कि पिछले साल पश्चिम बंगाल के उत्तर दिनाजपुर ज़िले में गाय चोर होने के संदेह में तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी. यह घटना उत्तर दिनाजपुर ज़िले के इस्लामपुर महकमे के अंतर्गत सोनापुर गांव में हुई थी.

हाल में भी देश के विभिन्न हिस्सों में ऐसी घटनाओं में इजाफा हुआ है. गत आठ जून को महाराष्ट्र के औरंगाबाद में भीड़ ने लुटेरा समझकर दो लोगों की पीट-पीटकर हत्या की थी.

वहीं, असम में नौ जून को बच्चा चुराने के शक में संगीतकार और उसके दोस्त की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी.

झारखंड पिटाई मामला: दो प्राथमिकियां दर्ज

गोड्डा: झारखंड के गोड्डा जिले में मवेशी चोरी के संदेह में पीट-पीट कर दो लोगों की हत्या के मामले में दो प्राथमिकियां दर्ज की गई हैं.

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस मामले में अभी तक चार ग्रामीणों को गिरफ्तार किया गया है जबकि अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है.

पुलिस अधीक्षक राजीव रंजन ने संवाददाताओं से कहा कि पहली प्राथमिकी इस मामले में गिरफ्तार किए गए लोगों में से एक मुंशी मूर्मू की शिकायत पर दर्ज की गई है.

उन्होंने बताया कि दूसरी प्राथमिकी ग्रामीणों द्वारा पीट-पीट कर मारे गए लोगों में से एक के पिता इमरान अंसारी की शिकायत पर भारतीय दंड संहिता की धाराओं 147 (दंगा भड़काने), 148 (जानलेवा हथियारों से लैस होकर देगा भड़काना), 149 (गैरकानूनी तरीके से एकत्र होकर अपराध करना) और 302 (हत्या) सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

अधिकारी ने बताया कि मारे गये दो लोगों में से एक के खिलाफ पड़ोसी दुमका जिले में मवेशी चोरी के दो मामले दर्ज हैं. मारे गए दोनों आरोपियों की पहचान सिराबुद्दीन अंसारी (35) और मुर्तजा अंसारी (30) के रूप में हुई है.

इस मामले में पुलिस ने अभी तक मुंशी मूर्मू , कामेश्वर सोरेन, किशन राय और भुकुल किश्कू को गिरफ्तार किया है.

संथाल परगना के पुलिस उपमहानिरीक्षक अखिलेश कुमार झा ने बताया था कि आदिवासी बहुल दुल्लु गांव के मुंशी मूर्मू के घर से पांच लोगों ने कथित रूप से भैंसें चुरा ली थीं. भैंसों को गायब देख मूर्मू और गांव के अन्य लोगों ने पांचों का पीछा किया और तड़के उन्हें पड़ोसी गांव बनकाटी में पकड़ लिया.

झा ने बताया कि गुस्से से भरे ग्रामीणों से को पीट-पीटकर मार डाला तथा तीन अन्य भागने में कामयाब रहे. झा ने बताया कि एक मजिस्ट्रेट सहित बड़ी संख्या में पुलिस बल गांव में तैनात किया गया है. उन्होंने बताया कि हालात काबू में हैं. मौके पर पहुंचे झा ने बताया कि गांववालों के अनुसार पांचों ने 13 भैंसें चुराई थीं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments