भारत

गुजरात में घोड़ी पर सवार दलित दूल्हे की बारात को रोका

गांधीनगर के मनसा तालुका के परसा गांव में पुलिस की सुरक्षा में दलित युवक की शादी संपन्न हुई.

mansa

अहमदाबाद: उच्च जाति के कुछ लोगों ने दलित दूल्हे के घोड़ी पर सवार होने को लेकर आपत्ति जताते हुए बारात को कुछ घंटे तक रोक दिया. पुलिस ने बताया कि यह घटना गांधीनगर के मनसा तालुका के परसा गांव में हुई.

मनसा थाने के निरीक्षक पीजी पटेल ने बताया, ‘चार-पांच लोगों ने बारात के दौरान दलित दूल्हे को घोड़ी पर नहीं चढ़ने दिया. पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में स्थानीय पुलिस, स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप और अपराध शाखा के कर्मियों की टीम मौके पर पहुंची और हालात पर नियंत्रण पाया.’

उन्होंने कहा कि पुलिस टीम के पहुंचने पर बारात को रोक रहे चार-पांच लोगों का समूह वहां से भाग गया.
पटेल ने बताया, ‘आखिरकार, पुलिस सुरक्षा में बारात निकली. किसी तरह की झड़प या अप्रिय घटना नहीं हुई. शांति से शादी संपन्न हो गई.’ उन्होंने कहा कि इस मामले में प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है.

गौरतलब है कि हाल के दिनों में गुजरात में दलितों के साथ अत्याचार की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं. पिछले हफ्ते गुजरात के मेहसाणा ज़िले में भी मोजड़ी पहनने के चलते राजपूत समुदाय के लोगों ने एक दलित नाबालिग की पिटाई कर दी थी.

इससे पहले गुजरात के अहमदाबाद जिले के एक पंचायत के दफ्तर में कुर्सी पर बैठने को लेकर भीड़ ने एक दलित महिला पर कथित रूप से हमला किया.

वहीं, पिछले महीने गुजरात के राजकोट में एक फैक्ट्री के बाहर कचरा बीन रहे दलित दंपत्ति को बेरहमी से पीटा गया, जिसके बाद पति की मौत हो गई और पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गई थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)