कैंपस

कच्छ यूनि​वर्सिटी में एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने प्रोफेसर के मुंह पर कालिख पोतकर जुलूस निकाला

सीनेट चुनाव में धांधली का आरोप लगाकर एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने यूनिवर्सिटी में जमकर हंगामा काटा. आरोपियों के ख़िलाफ़ केस दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है.

kachchh

(फोटो साभार: एएनआई)

राजकोट: गुजरात के क्रांतिगुरु श्यामजी कृष्ण वर्मा कच्छ यूनिवर्सिटी में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के कार्यकर्ताओं द्वारा एक प्रोफेसर के साथ बदसलूकी का मामला सामने आया है.

बताया जा रहा है कि सीनेट चुनाव में धांधली का आरोप लगाते हुए एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने एक प्रोफेसर के मुंह पर कालिख पोत दी थी और इसके बाद उनका जुलूस भी निकाला. मामला सामने आने के बाद आरोपी कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज कर पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कच्छ यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर चंद्रसिंह जडेजा ने बताया कि एबीवीपी समर्थकों का एक समूह प्रोफेसर गीरीन बख्शी के पास उस समय पहुंचा जब वह एक क्लासरूम में लेक्चर दे रहे थे. छात्रों के समूह ने उन्हें क्लास से खींचकर उनके मुंह पर कालिख पोत दी और यूनिवर्सिटी रजिस्ट्रार के आॅफिस तक उनका जुलूस निकाला. इसके अलावा कुलपति आॅफिस का एक घंटे तक घेराव किया.

कुलपति ने आगे बताया कि उपद्रवी छात्रों ने आरोप लगाया कि एबीवीपी समर्थकों द्वारा जमा किए गए वोटर रजिस्ट्रेशन फॉर्म को प्रोफेसर बक्शी द्वारा जानबूझ कर रिजेक्ट किया जा रहा है. हालांकि प्रथमदृष्टया यह आरोप आधारहीन साबित हुआ. लेकिन एबीवीपी समर्थक उग्र हो गए और उन्होंने प्रोफेसर बक्शी पर हमला कर दिया.

घटना के बाद से यूनिवर्सिटी में तनाव का माहौल है. एबीवीपी के कार्यकर्ताओं की हरकत से विश्वविद्यालय के अध्यापक गुस्से में हैं और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं. अध्यापकों ने कहा है कि अगर आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं हुई तो वे लोग प्रदर्शन करेंगे. यूनिवर्सिटी में तनाव को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिसबल को तैनात कर दिया गया है.

Comments