भारत

छत्तीसगढ़ में एड्स से पांच सालों में 3051 लोगों की मौत

विधानसभा में एक सवाल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर ने बताया कि राज्य में विशेषज्ञ डॉक्टरों के 1150, डॉक्टर के 610, पैरामेडिकल स्टाफ के 2,918 और नर्सिंग स्टाफ के 2,311 पद रिक्त हैं.

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह (फोटो: डॉ रमन सिंह के फेसबुक वाल से)

छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह (फोटो: डॉ रमन सिंह के फेसबुक वाल से)

रायपुर: छत्तीसगढ़ में 2013 से इस वर्ष जून तक एड्स की बीमारी से 3051 लोगों की मौत हो चुकी है.

विधानसभा में मंगलवार को विपक्ष के नेता टीएस सिंह देव के सवाल के लिखित जवाब में स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर ने बताया कि राज्य में एड्स, डायरिया, मलेरिया, पीलिया, स्वाइन फ्लू और डेंगू से 2013 से जून 2018 तक की अवधि में राज्य में 6,224 लोगों की मृत्यु हुई.

इनमें से एड्स से 3,051 लोगों की, डायरिया से 298 लोगों की, मलेरिया से 284 लोगों की, पीलिया से 94 लोगों की, स्वाइन फलू से 121 लोगों की और डेंगू से 14 लोगों की मौत हुई है.

स्वास्थ्य मंत्री के जवाब के अनुसार, राज्य में 792 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 5200 उप स्वास्थ्य केंद्र, 168 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और 26 जिला अस्पताल संचालित है. इन स्वास्थ्य केंद्रों में विशेषज्ञ चिकित्सकों के 1295, चिकित्सकों के 1738, पैरामेडिकल स्टाफ के 10,731 और नर्सिंग स्टॉफ के 10,536 पद स्वीकृत हैं.

इनमें विशेषज्ञ चिकित्सकों के 1,150, चिकित्सकों के 610, पैरामेडिकल स्टाफ के 2,918 और नर्सिंग स्टाफ के 2,311 पद रिक्त हैं.

Comments