भारत

आगरा जेल ट्रांसफर पर मुख़्तार अंसारी बोले, मंत्री मनोज सिन्हा करा सकते हैं मेरी हत्या

‘केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा और एमएलसी बृजेश सिंह दोनों मिलकर मेरी हत्या की साज़िश रच रहे हैं, जिनमें उनका साथ केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह दे रहे हैं.’

विधायक मुख़्तार अंसारी (फोटो उनकी फेसबुक वाल से)

विधायक मुख़्तार अंसारी (फोटो उनकी फेसबुक वाल से)

बहुजन समाज पार्टी के बाहुबली विधायक मुख़्तार अंसारी ने केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा पर आरोप लगाते हुए कहा है कि सिन्हा उनकी हत्या करवा सकते हैं. मुख़्तार फ़िलहाल कृष्णानंद राय हत्याकांड मामले में लखनऊ जेल में बंद हैं. हाल ही में बसपा के टिकट पर मऊ से विधानसभा चुनाव जीतने वाले मुख़्तार को लखनऊ जेल से आगरा जेल भेजा जा रहा है.

मुख़्तार पांचवीं बार विधानसभा का चुनाव जीते हैं. विधानसभा में शपथ लेने आए मुख़्तार ने मीडिया से बातचीत के दौरान केंद्रीय मंत्री सिन्हा पर यह आरोप लगाया है.

समाचार चैनल आज तक की ख़बर के अनुसार, मुख़्तार ने विधानसभा में कहा, ‘केंद्रीय मंत्री मनोज सिन्हा मेरी हत्या की साज़िश रच रहे हैं. पेशेवर हमलावरों के ज़रिये मेरी हत्या कराई जा सकती है. मुझे बदले की भावना से लखनऊ से आगरा जेल शि‍फ्ट किया जा रहा है. कोर्ट में पेशी के लिए जाते समय मेरे ऊपर हमला करके मेरी जान ली जा सकती है.’

उत्तर प्रदेश में सरकार के गठन के बाद सभी गंभीर आरोप झेल रहे क़ैदियों को सेंट्रल जेल आगरा भेजा जा रहा है. प्रमुख सचिव कारागार देवाशीष पांडा ने इस मामले में आदेश जारी किया है.

अमर उजाला की अख़बार के अनुसार, मुख़्तार ने राजनाथ सिंह पर भी आरोप लगते हुए कहा है कि मनोज सिन्हा और बृजेश सिंह दोनों मिलकर मेरी हत्या की साज़िश रच रहे हैं, जिनमें उनका साथ केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह दे रहे हैं. उन्होंने मुख्यमंत्री से सुरक्षा देने की मांग की है.

मुख़्तार ने मीडिया से मुख़ातिब होते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी अपील की है कि मामले को गंभीरता से लें और इसकी जांच करवाएं. अपनी सुरक्षा की अपील करते हुए उन्होंने यह भी कहा कि मुक़दमें की सुनवाई के दौरान सफ़र के बीच में पेशेवर हत्यारों से उनकी हत्या करवाई जा सकती है.

बता दें कि गाज़ीपुर में जन्मे मुख़्तार अंसारी को पूर्वांचल का सबसे बड़ा बाहुबली माना जाता है. उन पर हत्या, फिरौती और अपहरण जैसे कई गंभीर मामले दर्ज हैं. विधानसभा चुनाव से पूर्व उन्होंने अपनी पार्टी क़ौमी एकता दल का बहुजन समाज पार्टी में विलय कर लिया था.