भारत

पश्चिमी उत्तर प्रदेश से हिंदू परिवारों के पलायन की कोई रिपोर्ट नहीं: केंद्र सरकार

गृह राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने राज्यसभा में बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार की रिपोर्ट के मुताबिक देवबंद में हिंदू परिवारों के पलायन से संबंधित कोई मामला सूचित नहीं किया गया है.

Hindu Exodus PTI

(फाइल फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के दौरान पश्चिमी यूपी में हिंदुओं के पलायन की खबर काफी विवादों में थी. लेकिन अब केंद्र सरकार ने बताया है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश से हिंदू परिवारों के पलायन के बारे में किसी मामले की सूचना नहीं है.

गृह राज्य मंत्री हंसराज गंगाराम अहीर ने बुधवार को राज्यसभा में कहा, ‘उत्तर प्रदेश सरकार से इस संबंध में एक रिपोर्ट मिली है. रिपोर्ट के अनुसार, देवबंद, सहारनपुर के बनहेरा खास गांव में हिंदू परिवारों के पलायन से संबंधित कोई मामला सूचित नहीं किया गया है.’ अहीर ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को यह जानकारी दी.

बता दें कि 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान बजरंग दल ने आरोप लगाया था कि कानून व्यवस्था बिगड़ने के कारण देवबंद से 40 हिंदू परिवार पलायन कर गए हैं. इसे कश्मीर से पंडितों के पलायन की तरह की घटना बताया जा रहा था.

द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, 2016 में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, जो उस समय गोरखपुर से सांसद थे, ने मांग की थी कि इसकी केंद्रीय जांच होनी चाहिए क्योंकि कानून व्यवस्था बिगड़ने की वजह से पश्चिमी यूपी के हिंदू भारी संख्या में पलायन कर रहे हैं.

विधानसभा चुनाव के दौरान बीजेपी ने हिंदुओं के पलायन को एक बड़ा मुद्दा बनाया था. उस समय बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी इलाहाबाद में हुई पार्टी के राष्ट्रीय कार्यपरिषद की बैठक में इस मुद्दे को उठाया था.

बीजेपी नेताओं की एक टीम हिंदुओं के पलायन की जांच करने के लिए कैराना भी गई थी. दिवंगत बीजेपी नेता हुकुम सिंह ने इस मामले में अग्रणी भूमिका निभाई थी. हालांकि पहले ही कई मीडिया रिपोर्ट्स में ये बात सामने आई थी कि हिंदुओं के पलायन की खबर सही नहीं है और जो भी हिंदू उस जगह से बाहर गए हैं वो काम की तलाश में गए हैं.

गौैरतलब है कि तत्कालीन कैराना सांसद हुकुम सिंह ने हिंदुओं के पलायन का मुद्दा उठाया था. उन्होंने उस समय दो साल की अवधि में कैराना से पलायन करने वाले करीब 340 परिवारों की सूची को जारी किया था. सूची में सभी नाम हिंदू परिवारों के थे. उन्होंने इसकी शिकायत गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी की थी. उनका कहना था कि मुस्लिमों के दबाव के चलते हिंदुओं को पलायन के लिए मजबूर होना पड़ रहा है.

हालांकि वे बाद में अपने दावे से पलट गए थे और कहा था, ‘मैंने कभी हिंदुओं के पलायन का मुद्दा नहीं उठाया, मेरा मुद्दा सिर्फ पलायन रहा. मैंने कभी ऐसा नहीं कहा कि पलायन किसी वर्ग विशेष के कारण हो रहा है. बढ़ता अपराध कैराना से पलायन का कारण है और उसके लिए यूपी की समाजवादी सरकार जिम्मेदार है, क्योंकि सपा सरकार अपराधियों को रोक पाने में नाकाम रही.’

(समाचार एजेंसी भाषा की इनपुट के साथ)