भारत

कांग्रेस गठबंधन का नेतृत्व करेगी, राहुल गांधी प्रधानमंत्री पद का चेहरा होंगे: कांग्रेस

कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में पार्टी प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी हमारा चेहरा हैं. हम उनके नेतृत्व में जनता के बीच जाएंगे. जब हम सबसे बड़ा दल होंगे तो वही चेहरा होंगे. शक की कोई गुंजाइश नहीं है.

New Delhi: Congress President Rahul Gandhi addresses the extended Congress Working Committee meeting, at Parliament House Annexe in New Delhi on Sunday, 22 July 2018. (PTI Photo) (PTI7_22_2018_000062B)

रविवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक को संबोधित करते हुए. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: कांग्रेस की नवगठित कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) ने आगामी लोकसभा चुनाव में व्यापक गठबंधन पर फैसला करने के लिए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को अधिकृत करने के साथ स्पष्ट किया है कि चुनाव से पहले और बाद में राहुल गांधी ही ‘स्वाभाविक रूप’ से उसका चेहरा होंगे.

नवगठित एवं विस्तारित सीडब्ल्यूसी की करीब पांच घटों तक चली पहली बैठक के बाद कांग्रेस के संगठन महासचिव अशोक गहलोत ने  रविवार को संवाददाताओं से कहा, ‘आज की बैठक में 2019 के लोकसभा चुनाव और आगामी विधानसभा चुनावों के बारे में चर्चा हुई. इसमें चुनावों के लिए प्रचार समितियों के गठन, तैयारियों और चुनाव पूर्व एवं चुनाव बाद गठबंधन का फैसला करने के लिए राहुल गांधी को अधिकृत किया गया है.’

यह पूछे जाने पर कि क्या राहुल गांधी पार्टी या गठबंधन की तरफ से प्रधानमंत्री पद का चेहरा होंगे तो कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘कांग्रेस का निर्णय सटीक, सपाट और स्पष्ट है. राहुल गांधी हमारा चेहरा हैं. हम उनके नेतृत्व में जनता के बीच जाएंगे. जब हम सबसे बड़ा दल होंगे तो स्वाभाविक रूप से वही चेहरा होंगे. इसमें शक की कोई गुंजाइश नहीं है.’

उन्होंने कहा, ‘हम 2004 से बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद करते हैं. जब कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी होगी और इसके पास 200 या इससे अधिक सीटें होंगी तो स्वाभाविक है कि कांग्रेस गठबंधन का नेतृत्व करेगी और स्वाभाविक रूप से कांग्रेस अध्यक्ष ही एकमात्र चेहरा होंगे. इस पर हमें कोई संदेह नहीं है.’

सुरजेवाला ने कहा, ‘2004 से पहले भी सोनिया गांधी को लेकर सवाल पूछे जाते थे. हम कहते थे कि जनता फैसला करेगी और जनता ने फैसला किया.’

सीडब्ल्यूसी की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दलितों, आदिवासियों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों को निशाना बनाए जाने पर चिंता प्रकट की और कांग्रेस सदस्यों से आह्वान किया कि वे इन वर्गों के लिए खड़े हों.

उन्होंने यह भी कहा कि सभी विपक्षी दल मिलकर आगामी चुनाव में नरेंद्र मोदी और भाजपा को हराएंगे.

संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी ने समान विचारधारा वाली पार्टियों के बीच गठबंधन की पैरवी की और कहा कि इस प्रयास में हम सभी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ हैं.

उन्होंने यह भी कहा कि मोदी सरकार की उलटी गिनती शुरू हो गई है.

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपने संबोधन में कांग्रेस अध्यक्ष को भरोसा दिलाया कि वह और दूसरे सभी कांग्रेसजन भारत के सामाजिक सद्भाव और आर्थिक विकास को बहाल करने के मुश्किल भरे काम को पूरा करने में उनके साथ हैं.

सिंह ने कहा, ‘मैं राहुल जी को विश्वास दिलाता हूं कि हम सामाजिक सद्भाव और आर्थिक विकास को बहाल करने के मुश्किल भरे काम को पूरा करने में उनका पूरा सहयोग करेंगे.’

सुरजेवाला ने कहा कि बैठक में देश में घृणा और हिंसा के मौजूदा हालात के साथ ही कृषि संकट, बेरोजगारी, अर्थव्यवस्था की स्थिति, दलितों एवं आदिवासियों पर हमले, पिछड़ों और अति पिछड़ों के साथ भेदभाव, महिला सुरक्षा, विदेश नीति और आंतरिक एवं बाहरी सुरक्षा, संस्थाओं पर हमले, आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा देने की मांग और चुनाव के मुहाने पर खड़े राज्यों के लिए विशेष नीति बनाने को लेकर चर्चा हुई.