राजनीति

इस देश में गाय सुरक्षित हैं, महिलाएं नहीं: उद्धव ठाकरे

पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’ को दिए साक्षात्कार में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने अपनी सहयोगी दल भाजपा पर हमला करते हुए कहा कि जिस प्रकार आज देश में हिंदुत्व का पालन किया जा रहा है, उसे शिवसेना स्वीकार नहीं करती.

Mumbai: Shivsena Chief Uddhav Thackeray with Yuva Sena Chief Aditya Thackeray address a press conference, in Mumbai on Thursday, May 31, 2018. (PTI Photo)(PTI5_31_2018_000185B)

(फोटो: पीटीआई)

मुंबई: भीड़ द्वारा पीट-पीट कर की जा रहीं हत्या की घटनाओं को लेकर भाजपा नीत सरकार को आड़े हाथ लेते हुए शिवसेना ने मंगलवार को कहा कि देश में महिलाओं से ज्यादा गाय सुरक्षित हैं.

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भाजपा को आड़े हाथ लेते हुए कहा, ‘हम सरकार का हिस्सा हैं, लेकिन यदि कुछ गलत है तो हम निश्चित रूप से उस बारे में बात करेंगे. हम भारतीय जनता के मित्र हैं, किसी पार्टी के नहीं.’

शिवसेना महाराष्ट्र और केंद्र में भाजपा की सहयोगी पार्टी है.

देश में भीड़ द्वारा पीट-पीट कर की जा रही हत्या की घटनाओं पर शिवसेना प्रमुख ने कहा कि भाजपा का हिंदुत्व का विचार फर्जी है.

शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ को दिए साक्षात्कार में ठाकरे ने कहा, ‘इस देश में, गायें सुरक्षित हैं लेकिन महिलाएं नहीं.’

ठाकरे ने कहा कि गायों को बचाने के नाम पर अगर आप अपना ध्यान इस बात पर दे रहे हैं कि कोई गोमांस खा रहा है या नहीं, तो यह शर्मनाक है. यह हिंदुत्व नहीं है.’

ठाकरे ने कहा, ‘देश में जिस हिंदुत्व के विचार का पालन किया जा रहा है, मैं उसे स्वीकार नहीं करता. हमारी महिलाएं असुरक्षित हैं और आप गायों को बचा रहे हैं.’

उन्होंने आगे कहा, ‘हम (शिवसेना) कभी नहीं कहते कि गोवध किया जाना चाहिए. लेकिन गायों को बचाने की कोशिश में भारत महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित देश बन गया है. यह शर्मनाक है.’

राष्ट्रवाद पर बहस के मुद्दे पर भाजपा पर निशाना साधते हुऐ ठाकरे ने कहा कि भाजपा के पास यह फैसला करने का अधिकार नहीं है कि कौन राष्ट्रवादी हैं और कौन नहीं.

अविश्वास प्रस्ताव के दौरान सदन में उपस्थति रहने के फैसले पर उद्धव कहते हैं, ‘अगर हम सरकार से सहमत होते, तो उनको ज़रूर वोट देते. अगर सरकार के पक्ष में वोट देना होता तो इतने दिनों से सरकार पर हमला नहीं कर रहे होते. आज ये जो लोग मिलकर सरकार के नीतियों के ख़िलाफ़ बोल रहे हैं, ये शिवसेना ने शुरुआत में बोलना शुरू कर दिया था.’

(समाचार एजेंसी भाषा के इनपुट के साथ)

Comments