राजनीति

मुस्लिम और मेव समाज के लोग गो-तस्करी का ‘गोरखधंधा’ बंद करें: राजस्थान के श्रममंत्री

अलवर में अकबर खान की पीट-पीटकर हत्या के मामले पर अलवर शहर विधायक बनवारी लाल सिंघल ने अलवर, भरतपुर तथा हरियाणा के कुछ हिस्से में फैले मेवात क्षेत्र में अपराध के लिए मेव समाज को ज़िम्मेदार ठहराया है.

राजस्थान के श्रम मंत्री जसवंत सिंह यादव और अलवर शहर विधायक बनवारी लाल सिंघल. (फोटो साभार: भाजपा राजस्थान/फेसबुक)

राजस्थान के श्रम मंत्री जसवंत सिंह यादव और अलवर शहर विधायक बनवारी लाल सिंघल. (फोटो साभार: भाजपा राजस्थान/फेसबुक)

जयपुर: राजस्थान के अलवर के रामगढ़ थाना क्षेत्र में बीते 21 जुलाई को को गो-तस्करी के संदेह में भीड़ द्वारा अकबर खान नाम के व्यक्ति की हत्या के बाद से भाजपा और राज्य सरकार के मंत्रियों की बयानबाज़ी लगातार जारी है.

राजस्थान के श्रम मंत्री जसवंत सिंह यादव ने कहा है कि मुस्लिम और मेव समाज के लोगों को हिंदुओं की भावना का आदर करते हुए गो-तस्करी बंद कर देनी चाहिए. वहीं अलवर (शहर) के भाजपा विधायक बनवारी लाल सिंघल ने प्रदेश के अलवर और भरतपुर तथा हरियाणा के कुछ हिस्से में फैले मेवात क्षेत्र में अपराध के लिए मेव समाज को जिम्मेदार ठहराया है.

राजस्थान के श्रम मंत्री जसवंत यादव ने बीते मंगलवार को एक विवादित बयान देते हुए मुस्लिम और मेव समाज के लोगों से हिंदुओं की भावनाओं का आदर करते हुए गो-तस्करी का ‘गोरखधंधा’ बंद करने को कहा है.

यादव ने हालांकि अपने बयान में कानून हाथ में लेने वालों की निंदा करते हुए कहा कि इससे बड़ा कोई अपराध नहीं हो सकता है.

उन्होंने जयपुर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘मुस्लिम और मेव समुदाय के लोगों को गायों का गोरखधंधा बंद कर हिंदुओं की भावनाओं को समझना चाहिए ताकि देश में सद्भावना बनी रहे.’

उन्होंने कहा कि हिंदुओं की भावनाएं गाय से जुड़ी हुई हैं इसलिए आए दिन गाय के नाम पर हमले हो रहे है.

यादव ने कहा कि 50 गायें एक ट्रक में ठूस दी जाती हैं और उनके मुंह में तेजाब डाला जाता है, जिससे हिंदुओं का खून खोलता है, इसलिए मुस्लिम समाज को हिंदुओं की भावनाएं और गाय के प्रति आस्था का सम्मान करना चाहिए.

मंत्री के इस बयान ने राजस्थान सरकार के लिये मुश्किलें खड़ी कर दी है जबकि सरकार की ओर से अनर्गल बयानबाजी से बचने को कहा गया है.

अलवर के दौरे पर गए गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने इस मामले पर बयानबाज़ी से पल्ला झाड़ते हुए कहा कि जसवंत यादव को ही इसका जवाब देना चाहिए.

उन्होंने कहा कि क़ानून किसी को मारने का अधिकार नहीं देता और जो भी इसके ज़िम्मेदार होंगे उन्हें दंडित किया जाएगा.

अलवर के मेवात क्षेत्र में अपराध मेव समाज के कारण: भाजपा विधायक

उधर, एक भाजपा विधायक ने प्रदेश के अलवर और भरतपुर तथा हरियाणा के कुछ हिस्से में फैले मेवात क्षेत्र में अपराध के लिये मेव समाज को जिम्मेदार बताया है.

अलवर (शहर) के भाजपा विधायक बनवारी लाल सिंघल ने बताया कि अकबर खान की हत्या से पूरा देश स्तब्ध है और इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए.

लेकिन यह भी सच है कि मेव समाज के लोग भी अपराधों में लिप्त हैं .

वहीं अलवर के मेव पंचायत के सरदार शेर मोहम्मद ने बुधवार जिला प्रशासन को ज्ञापन देकर घटना की जांच एसआईटी से कराने की मांग की है.

उन्होंने कहा कि मैं इस बात से इनकार नहीं करता हूं हमारे सदस्य पुलिस मामलों में लिप्त नहीं है लेकिन पूरे समाज को आपराधिक बताया जाना उचित नहीं है.

बता दें कि दिल्ली से लगभग 60-70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हरियाणा का मेवात शहर मुस्लिम बाहुल्य इलाका है. मेव समाज के लोग दिल्ली, जयपुर और आगरा में भी पाए जाते है.

मेव समाज का प्रमुख काम पशुपालन है और वे अपनी जरूरतों के हिसाब से दूसरे राज्यों से पशुपालन के लिए पशुओं की खरीद-बिक्री करते हैं. मेव समाज के लोग दरअसल राजपूत समुदाय से थे, जिन्होंने लगभग चार दशक पहले इस्लाम धर्म अपना लिया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)