भारत

अलवर में गायों की 220 खाल बरामद: पुलिस

अलवर ज़िले के गोविंदगढ़ थानाक्षेत्र में बीती 30 जुलाई को पुलिस ने तीन महिलाओं को 40 किग्रा कथित गोमांस के साथ गिरफ़्तार किया था. पुलिस ने इस संबंध में राजस्थान गोवंश पशु अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है.

Alwar

जयपुर: राजस्थान की अलवर पुलिस ने दावा किया है कि ज़िले के गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र में एक बूचड़खाने से गायों की 220 खाल बरामद की गई हैं.

थानाधिकारी दारासिंह ने बताया कि गोकसी के सिलसिले में बीते बुधवार को गिरफ्तार किए गए शकील क़ुरैशी की सूचना पर की गई कार्रवाई में ये खाल बरामद की गईं.

पुलिस के अनुसार, बूचड़खाने से गायों की 220 खाल, भैंसों की 82 खाल और बकरियों की 45 खाल बरामद की गई हैं.

पुलिस ने एक गाय के वध के मामले में क़ुरैशी, उनकी पत्नी, मां और भाभी को गिरफ़्तार किया है. पुलिस ने गत 30 जुलाई को इनके यहां से 40 किलोग्राम कथित गोमांस बरामद किया था.

सिंह के अनुसार, क़ुरैशी ने पूछताछ में बताया कि सलीम नाम के व्यक्ति द्वारा गोविंदगढ़ में चलाए जा रहे लाइसेंसप्राप्त बूचड़खाने में अवैध रूप से गायें भी काटी जाती हैं. कुरैशी की गिरफ़्तारी के बाद से सलीम फ़रार चल रहा है. उसने बताया कि सलीम और उसका साथी सत्तार उत्तर प्रदेश के हापुड़ में गायों की खाल बेचते हैं.

पुलिस ने बताया कि सलीम और सत्तार के ख़िलाफ़ मामला दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी के प्रयास तेज कर दिए हैं.

मालूम हो कि पुलिस ने बीते 30 जुलाई को अलवर ज़िले के गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र से तीन महिलाओं को लगभग 40 किलो कथित गोमांस के साथ गिरफ़्तार करने का दावा किया था.

थानाधिकारी ने बताया था कि पशु चिकित्सकों ने अपनी रिपोर्ट में इसके गोमांस होने की पुष्टि की थी, हालांकि इसके नमूने की फॉरेंसिक विशेषज्ञों की जांच रिपोर्ट अभी आनी बाकी है.

उन्होंने यह भी बताया था कि घटनास्थल से गाय की खाल बरामद की गई थी और गिरफ्तार महिलाओं ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया था.

उन्होंने बताया था कि इस मामले में राजस्थान गोवंश पशु अधिनियम के तहत पांच व्यक्तियों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है.

बीते बुधवार को गोविंदगढ़ थानाधिकारी दारा सिंह ने बताया कि इस मामले के मुख्य आरोपी 24 वर्षीय शकील क़ुरैशी को गिरफ़्तार किया गया था.

मालूम हो कि 20-21 जुलाई की रात को अलवर के ही रामगढ़ क्षेत्र में गो-तस्करी के संदेह में दो युवकों के साथ मारपीट की गई थी जिनमें से एक अकबर ख़ान की मौत हो गई.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)