भारत

जम्मू कश्मीर में अब जब भी सरकार बनेगी तो भाजपा उसका हिस्सा होगी: राम माधव

जम्मू कश्मीर के प्रभारी और भाजपा महासचिव राम माधव ने कहा कि सत्ता में न होने का अपशकुन अब खत्म हो गया है. पार्टी जब सत्ता में आएगी तो जम्मू-कश्मीर को नई दिशा में ले जाने के लिए काम करेगी.

New Delhi: Bharatiya Janata Party (BJP) in-charge for Jammu and Kashmir Ram Madhav, flanked by the state Dy Chief Minister Kavinder Gupta and BJP state chief Ravinder Raina, addresses a press conference in New Delhi on Tuesday, June 19, 2018.The BJP has decided to pull out of the alliance government with Mehbooba Mufti-led People's Democratic Party in Jammu & Kashmir. (PTI Photo/Shahbaz) (PTI6_19_2018_000084B)

भाजपा महासचिव राम माधव (बीच में) एक प्रेस कांफ्रेंस के दौरान (फाइल फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में भविष्य में भी भाजपा सरकार का हिस्सा होगी क्योंकि राज्य में कभी भी सत्ता में नहीं होने का अपशकुन खत्म हो गया है. यह बात शनिवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता राम माधव ने कही.

राज्य में पार्टी मामलों के प्रभारी माधव का बयान जम्मू-कश्मीर में पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के साथ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का गठबंधन टूटने के कुछ महीने बाद आया है.

भाजपा के महबूबा मुफ्ती सरकार से 19 जून को अलग होने के बाद राज्य में राज्यपाल शासन लगाया गया था.

माधव ने कहा, ‘मैं विश्वास के साथ कहता हूं कि जम्मू-कश्मीर में अब जब कभी सरकार बनेगी तो भाजपा उसका हिस्सा होगी.’ उन्होंने कहा, ‘अपशकुन खत्म हो गया है.’

माधव का बयान कश्मीर घाटी की उनकी यात्रा के बाद आया है. इसने जम्मू कश्मीर में सरकार गठन के बारे में अटकलों को हवा दी है.

माधव ने एक कार्यक्रम में कहा कि भाजपा जब सत्ता में आएगी तो वह जम्मू-कश्मीर को नई दिशा में ले जाने के लिए काम करेगी.

जून में गिर गई पीडीपी- भाजपा सरकार के बारे में माधव ने कहा कि कठिनाइयां थीं लेकिन कुछ उपलब्धियां हासिल हुईं.

उन्होंने कहा, ‘हम काफी काम करना चाहते थे. लेकिन, जब हमने सोचा कि हमारे मुताबिक चीजें नहीं हो रही हैं तो हम सरकार से बाहर आ गए.’

उन्होंने कहा कि पिछले 70 वर्षों से अलगाववाद की भावना और पिछले 30 वर्षों से आतंकवाद ने राज्य की प्रगति में बाधा डाली है. माधव ने कहा कि जम्मू कश्मीर में पार्टी के सत्ता में नहीं होने के बावजूद सुरक्षा स्थिति से निपटने के लिए अपनाई गई चौतरफा नीति जारी रहेगी.

उन्होंने कहा, ‘कश्मीर कहीं नहीं जाएगा. कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है.’

Comments