भारत

उत्तर प्रदेश के औरैया में दो साधुओं की हत्या, मुख्यमंत्री ने दिए जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश के औरैया ज़िले में अज्ञात हमलावरों ने दो साधुओं की हत्या कर दी है जबकि एक अन्य घायल है. इस घटना के पीछे कथित गोकशी करने वाले लोगों का हाथ होने की आशंका ज़ाहिर की गई है.

auriya

उत्तर प्रदेश के औरैया में घटनास्थल पर मौजूद पुलिसकर्मी

औरैया/लखनऊ: उत्तर प्रदेश के औरैया जिले के बिधुना में अज्ञात हमलावरों ने दो साधुओं की चारपाई से बांधकर धारदार हथियारों से ताबड़तोड़ प्रहार करके हत्या कर दी तथा एक अन्य को घायल कर दिया.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 48 घंटों के अंदर मामले का खुलासा करने के निर्देश देने के साथ-साथ वारदात में मृतक साधुओं के परिजन को पांच-पांच लाख रुपये और घायल साधु को एक लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की है.

औरैया के पुलिस अधीक्षक नागेश्वर सिंह ने बताया कि बिधुना थाना क्षेत्र के कुदरकोट स्थित भयानकनाथ मंदिर में बुधवार तड़के अज्ञात हमलावरों ने तीन पुजारियों के हाथ-पैर चारपाई से बांधने के बाद उन पर धारदार हथियारों से ताबड़तोड़ प्रहार किये. इस वारदात में दो साधुओं लज्जाराम (55) और हल्केराम (58) की मौत हो गई जबकि रामशरण गम्भीर रूप से घायल हैं. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

उन्होंने बताया कि एक मृतक के भाई ने अपनी तहरीर में इस कांड के पीछे कथित गोकशी करने वाले लोगों का हाथ होने की आशंका जाहिर की है. तहरीर में किसी को नामजद नहीं किया गया है. अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच की जा रही है.

सिंह ने बताया कि फॉरेंसिक टीम एवं जांच अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं. इलाके में व्याप्त तनाव के मद्देनजर पूरे कुदरकोट को छावनी में तब्दील कर दिया गया है. वरिष्ठ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं.

इस बीच मुख्यमंत्री योगी ने साधुओं की हत्या पर दुःख व्यक्त करते हुए पांच-पांच लाख रुपये की सहायता की घोषणा की है. साथ ही घटना में घायल पुजारी को एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिए जाने के निर्देश दिए गए हैं.

मुख्यमंत्री ने घटना को गंभीरत से लेते हुए गृह विभाग के प्रमुख सचिव अरविंद कुमार और पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह को 48 घंटों के भीतर दोषियों का पता लगाकर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने के लिए निर्देश दिए है.

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ऐसे किसी कृत्य को बर्दाश्त नहीं करेगी और ऐसे आपराधिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.