दुनिया

पाकिस्तान की नई सरकार ने सरकारी मीडिया संस्थानों से राजनीतिक प्रतिबंध हटा दिया: सूचना मंत्री

पाकिस्तान के सूचना मंत्री ने कहा कि नए निर्देश पाकिस्तान टेलीविज़न और रेडियो पाकिस्तान जैसे सरकारी संस्थानों को पूरी संपादकीय स्वतंत्रता के लिए जारी किए गए हैं. इन्हें विदेशी मीडिया संस्थानों की तरह स्वतंत्रता दी जाएगी.

Islamabad : In this photo provided by the office of Pakistan Tehreek-e-Insaf party, Pakistani politician Imran Khan, chief of Pakistan Tehreek-e-Insaf party, delivers his address in Islamabad, Pakistan, Thursday, July 26, 2018. Khan declared victory Thursday for his party in the country's general elections, promising a "new" Pakistan following a vote that was marred by allegations of fraud and militant violence. AP/PTI(AP7_26_2018_000266B)

पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री इमरान ख़ान. (फोटो: पीटीआई)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के सूचना मंत्री चौधरी फ़वाद हुसैन ने दावा किया कि इमरान ख़ान के नेतृत्व वाली नई सरकार ने सरकारी मीडिया संस्थानों पर से सभी राजनीतिक प्रतिबंध हटा लिया है.

मंत्री ने अगले तीन महीनों में अहम बदलावों का वादा करते हुए कहा कि नए निर्देश पाकिस्तान टेलीविज़न और रेडियो पाकिस्तान जैसे सरकारी संस्थानों को पूरी संपादकीय स्वतंत्रता के लिए जारी किए गए हैं.

उन्होंने कहा कि नये निर्देश प्रधानमंत्री के दृष्टिपत्र की तर्ज पर हैं.

हुसैन ने कहा कि पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ (पीटीआई) सरकार ने सरकारी मीडिया संस्थानों पर से सभी राजनीतिक प्रतिबंध हटा लिया है.

मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान टीवी (पीटीवी) और रेडियो पाकिस्तान अपनी पूर्ण संपादकीय स्वतंत्रता का अब इस्तेमाल करेंगे.

जियो न्यूज़ की ख़बर के मुताबिक नए सूचना मंत्री ने इंटरनेट पर अंग्रेज़ी भाषा के रेडियो चैनल शुरू करने का भी प्रस्ताव किया. यह ख़ासतौर पर अंतरराष्ट्रीय श्रोताओं के लिए होगा.

पाकिस्तान की वेबसाइट द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, सूचना मंत्री ने यह भी कहा, ‘पीटीवी और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) का इस्तेमाल अब किसी भी सरकार द्वारा निजी सम्पत्ति के तौर पर नहीं किया जाएगा. इनका इस्तेमाल पाकिस्तान की सकारात्मक छवि पेश करने के लिए किया जाना चाहिए.’

रिपोर्ट के अनुसार, पद संभालने से पहले पीटीआई नेता चौधरी फ़वाद ने कहा था कि पाकिस्तान की सरकारी मीडिया जिसमें एसोसिएटेड प्रेस आॅफ पाकिस्तान (एपीपी), पीटीवी और रेडियो पाकिस्तान का और सुधार किया जाएगा.

उन्होंने कहा था कि सरकारी हस्तक्षेप ख़त्म कर विदेशी मीडिया संस्थानों की तरह इन्हें और स्वतंत्र बनाया जाएगा. उन्होंने इन ब्रिटिश ब्रॉडकास्टिंग कॉरपोरेशन (बीबीसी) तरह ही पाकिस्तान के मीडिया संस्थानों को स्वतंत्र किया जाएगा.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments